यशवंत सिन्हा ने नए राजनीतिक विकल्प के साथ बिहार में खोला चुनावी मोर्चा

यशवंत सिन्हा ने नए राजनीतिक विकल्प के साथ बिहार में खोला चुनावी मोर्चा
पीबी ब्यूरो ,   Jun 27, 2020

बीजीपे से बगावत के बाद दलीय राजनीति से संन्यास ले चुके पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने शनिवार को बिहार में एक नए राजनीतिक विकल्प की घोषणा की. उन्होंने कहा कि उनका फ्रंट बिहार विधानसभा का चुनाव मजबूती से लड़ेगा. 

पटना के एक होटल में आयोजित प्रेस कांफ्रेस में यशवंत सिन्हा ने कहा कि उनका फ्रंट मजबूती से चुनाव लड़ेगा. क्या यह थर्ड फ्रंट होगा, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि यह भविष्य बताएगा कि वे तीसरे फ्रंट हैं कि पहले फ्रंट हैं.

उन्होंने कहा कि यह मोर्चा प्रदेश में एनडीए और महागठबंधन का विकल्प बनेगा. हालांकि उन्होंने अभी इस बात का खुलासा नहीं किया कि इस मोर्चे में कौन-कौन शामिल हो रहे हैं और क्या वे खुद चुनावी मैदान में उतरेंगे या नहीं. 

इस बार बदलें बिहार 

यशवंत सिन्हा ने कहा कि अभी केवल हम यह बताने आए हैं कि हम बेहतर बिहार, बदलो बिहार के लिए चुनाव लड़ेंगे. उनके गठबंधन का नारा- 'इस बार बदलें बिहार' है.

इसे भी पढ़ें: मन की बात में बोले पीएम मोदी, हम आंख में आंख डालकर जवाब देना जानते हैं

उन्होंने कहा, ''व्यक्तिगत तौर पर कई नेता हमारे साथ हैं लेकिन आज केवल चुनाव लडने की बात करूंगा. बहुत लोग हमारे संपर्क में हैं औऱ दूसरे दलों के नेता भी हमसे जुड़ सकते हैं. लेकिन यदि कोई शर्त लेकर आएगा तो उस पर विचार किया जाएगा''. 

दलीय राजनीति से संन्यास ले चुके यशवंत सिन्हा ने कहा कि गैर राजद और गैर राजग के खिलाफ उनका गठबंधन एक मजबूत विकल्प देगा. 

हजारीबाग के पूर्व सांसद और बीजेपी की सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे यशवंत सिन्हा ने कहा कि राजद और राजग को बिहार के लोगों ने 15-15 साल तक काम करने का मौका दिया लेकिन दोनों ही अपने चुनावी घोषणा पत्र में किए गए किसी वादे पर खरा नहीं उतर पाए.

उन्होंने कहा कि प्रदेश की तस्वीर बदलने के लिए 15 वर्ष का कार्यकाल किसी भी सरकार के लिए काफी होता है. 

वर्चुअल रैली का मायने नहीं 

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बिहार में वर्चुअल रैली या वर्चुअल चुनाव अभियान संभव नहीं है. परंपरागत ढंग से ही चुनाव अभियान चलाया जाना चाहिए. चुनाव आयोग को सारे मामले पर विचार करना चाहिए.

यशवंत सिन्हा ने कहा कि हम बिहार का गौरव फिर से स्थापित करने के लिए आ रहे हैं. उन्होंने बताया कि कई दिनों से अपने कुछ साथी नेताओं व बुद्धिजीवियों के साथ मिलकर उन्होंने यह तय किया है कि हम बिहार के विकास व उसके गौरव के लिए आगे आएंगे.

उन्होंने कहा कि हम आने वाले चुनाव में मिलकर लड़ेंगे. प्रदेश की हालत को बदलने और बेहतर बनाने में सरकार की भूमिका होती है. वर्तमान बदहाली के लिए राजग सरकार जिम्मेदार है और हम मिलकर इसे हटाएंगे.


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
 जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?

Stay Connected

Facebook Google twitter