बंधु तिर्की को पार्टी से निकालने की इतनी जल्दीबाजी क्यों थीः प्रदीप यादव

बंधु तिर्की को पार्टी से निकालने की इतनी जल्दीबाजी क्यों थीः प्रदीप यादव
Publicbol (File Photo)
पीबी ब्यूरो ,   Jan 21, 2020

झारखंड विकास मोर्चा में बनते- बिगड़ते समीकरणों के बीच विधायक दल के नेता प्रदीप यादव ने कहा है कि इतनी जल्दी क्या थी कि बंधु तिर्की को पार्टी से निष्काषित कर दिया गया. यह कार्रवाई पार्टी की आंतरिक लोकतंत्र पर भी सवाल खड़ा करती है. 

प्रदीप यादव ने कहा है कि बंधु तिर्की पर जो आरोप लगाए हैं, उसका जवाब का इंतजार करना चाहिए था. साथ ही आरोप पर जांच के लिए पार्टी की कमेटी गठित की जानी चाहिए थी. कमेटी की रिपोर्ट पर कार्रवाई की जाती, तो कोई बात थी. प्रतीत होता है कि यह कार्रवाई पार्टी के एक वरिष्ठ नेता को कमतर आंकने और हतोत्साहित करने के लिए की गई है. 

उन्होंने कहा कि बंधु तिर्की राज्य के बड़े और जमीनी नेताओं में गिने जाते हैं. आदिवासियों, छात्रों, मजदूरों, किसानों के लिए संघर्ष करते रहे हैं. सदन के बाहर और अंदर वे आम जन की आवाज है. पार्टी के अकेले चुनाव लड़ने पर और तमाम घेराबंदी के बाद भी वे मांडर से चुनाव जीते. 

प्रदीप यादव ने यह भी कहा, ''हम और बंधु तिर्की बाबूलाल मरांडी से मिलकर अपनी बातें स्पष्ट कर दी थी. हम दोनों बीजेपी में शामिल होने नहीं चाहते. और न ही दल के विलय के पक्षधर हैं. लेकिन पार्टी के अंदर- बाहर जिन किस्म की गतिविधियां चल रही है, उसके संकेत यही हैं कि जेवीएम विलय की ओर बढ़ रहा है. आगे क्या होगा, देखा जा सकता है.''

विधायक दल के नेता ने कहा कि 17 जनवरी को रांची में बंधु तिर्की हमसे मिले थे. मौजूदा परिस्थितियों पर चर्चा हुई थी. पार्टी की नई कार्यकारिणी में अहम जिम्मेदारी नहीं दिए जाने से हम दोनों को कोई एतराज नहीं है. पर एक विधायक को इस तरह से दल से निकाला जाना ठीक नहीं है. अभी चुनाव के नतीजे आए, एक महीने भी नहीं बीते हैं. आपसी सहमति से ही जेवीएम ने हेमंत सोरेन की सरकार को समर्थन दिया है. 

इसे भी पढ़ें: चाईबासा पत्थलगड़ी मामलाः अगवा किए गए सात लोगों की लाश जंगल से बरामद, तलाशी जारी

इस बीच बंधु तिर्की ने कहा है कि हटिया से पार्टी की उम्मीदवार शोभा यादव ने उनके खिलाफ कांग्रेस प्रत्याशी अजय शाहदेव के पक्ष में प्रचार करने का जो आरोप लगाया है, वह निराधार है. जिस तस्वीर के आधार पर आरोप लगाया है वह लोकसभा चुनाव के दौरान का है. और उस वक्त हम रांची से गठबंधन के उम्मीदवार सुबोधकांत सहाय का प्रचार कर रहे थे. उन्हीं के समर्थन में बजरा गांव में सभा की तस्वीर को आरोप का आधार बनाया गया है. 

 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

जेडीयू के दफ्तर में सीएम नीतीश से मिले गुप्तेश्वर पांडेय, 'सुशासन' की तारीफ की
जेडीयू के दफ्तर में सीएम नीतीश से मिले गुप्तेश्वर पांडेय, 'सुशासन' की तारीफ की
 मनमोहन सिंह की तरह गहराई वाले प्रधानमंत्री की कमी महसूस कर रहा है भारत: राहुल
मनमोहन सिंह की तरह गहराई वाले प्रधानमंत्री की कमी महसूस कर रहा है भारत: राहुल
गायक एस पी बालासुब्रमण्यम का निधन, मखमली आवाज से प्रशंसकों के दिलों पर दशकों तक राज किए
गायक एस पी बालासुब्रमण्यम का निधन, मखमली आवाज से प्रशंसकों के दिलों पर दशकों तक राज किए
बिहार विधानसभा चुनाव का बिगुल बजाः 28 अक्तूबर से तीन चरणों में मतदान, 10 नवंबर को नतीजे
बिहार विधानसभा चुनाव का बिगुल बजाः 28 अक्तूबर से तीन चरणों में मतदान, 10 नवंबर को नतीजे
कृषि बिल के विरोध में किसानों का हल्ला बोल, समर्थन में तेजस्वी यादव ट्रैक्टर लेकर उतरे सड़क पर
कृषि बिल के विरोध में किसानों का हल्ला बोल, समर्थन में तेजस्वी यादव ट्रैक्टर लेकर उतरे सड़क पर
पीएम मोदी ने फिटनेस को लेकर कोहली से यो यो टेस्ट के बारे में पूछा, विरोट बोले, बेहद अहम है यह
पीएम मोदी ने फिटनेस को लेकर कोहली से यो यो टेस्ट के बारे में पूछा, विरोट बोले, बेहद अहम है यह
रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोरोना वायरस से निधन, एम्स में ली अंतिम सांस
रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोरोना वायरस से निधन, एम्स में ली अंतिम सांस
पलामू: टीपीसी का जोनल‌ कमांडर गिरेंद्र गंझू गिरफ्तार
पलामू: टीपीसी का जोनल‌ कमांडर गिरेंद्र गंझू गिरफ्तार
टाइम की सूचीः नरेंद्र मोदी दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों में, पर तल्ख टिप्पणी भी
टाइम की सूचीः नरेंद्र मोदी दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों में, पर तल्ख टिप्पणी भी
देश में कोविड-19 से मरने वालों का आंकड़ा 90 हजार पार, अभी करीब 10 लाख लोगों का इलाज जारी
देश में कोविड-19 से मरने वालों का आंकड़ा 90 हजार पार, अभी करीब 10 लाख लोगों का इलाज जारी

Stay Connected

Facebook Google twitter