जब स्मृति इरानी ने कहा, 'निर्भया' मामले में हत्यारों की मौत का बेसब्री से इंतजार

जब स्मृति इरानी ने कहा, 'निर्भया' मामले में हत्यारों की मौत का बेसब्री से इंतजार
Courtesty-ABP Live
पीबी ब्यूरो ,   Mar 07, 2020

भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता और केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति इरानी ने निर्भया मामले में कहा है कि पहली दफा किसी की मौत का बेसब्री से इंतजार कर रही हूं.

महिला दिवस के मौके पर आयोजित एबीपी न्यूज के खास कार्यक्रम शक्ति सम्मान में हिस्सा लेते हुए स्मृति ईरानी ने महिलाओं से जुड़े विषयों और मुद्दे तथा राजनीति पर अपनी बातें रखी.

उन्होंने कहा, ''मैंने अपने जीवन में किसी की मौत का इतनी बेसब्री से इंतजार किया. हम महिला और बालिकाओं के क्राइम पर जिला-जिला जाकर बेटर पुलिसिंग और बेटर जस्टिस दिलाने के लिए काम करेंगे. लेकिन हमें महिला सुरक्षा की शुरूआत घर से ही करने की जरूरत है''. 

शाहीन बाग की महिलाएं मोहरा बनीं

स्मृति इरानी ने कहा, महिला अगर आंदोलन में भागीदार बनकर खड़ी हों तो उसका पूरा समर्थन होना चाहिए. लेकिन अगर मोहरा बनकर खड़ी हो तो हमें चिंता करने की जरूरत है.

इसे भी पढ़ें: झारखंड की स्थानीय नीति पर मंत्री आलमगीर ने कहा, अभी कोई निर्णय नहीं, सरकार में बात होगी

महिलाओं को एक तिहाई हिस्सेदारी की बात पर उन्होंने कहा कि पूरा आसमान हमारा है. महिला लोकल बॉडी से लेकर संसद तक महिलाओं की हिस्सेदारी लगातार बढ़ी है. प्रधानमंत्री ने कहा भी है कि महिला के नेतृत्व में विकास देश की नहीं हकीकत है.

किसी का प्रोटोटाइप नहीं बनें 

उन्होंने कहा है, ''किसी का प्रोटोटाइप न बनें. आपको अपनी ताकत के दम पर अपना एक अलग इतिहास लिखना है. मैं नहीं चाहूंगी कि मैं किसी की प्रेरणास्रोत बनूं. हर महिला अपने आप में प्रेरण का एक स्त्रोत है. हमें उसे आगे बढ़ाना है. महिला को उसके परिवार के विश्ववास की जरूरत है. अगर उन पर कोई विश्वास कर ले तो वो आसमान छू लेंगी. ऐसी महिलाएं भी है जो कि बिना किसी सहारे इतिहास रचती हैं. प्रधानमंत्री पद की आकांक्षा पर बोला कि जो जन्म देने की ताकत रखती हैं उनसे आप शिखर की परिभाषा पूछ रही हैं''.

अमेठी में परिवारवाद को हराया 

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मैंने किसी व्यक्ति को नहीं विषय को हराया है. मैंने परिवारवाद को हराया है. मैंने उस सोच को हराया जो सोने का चम्मच लेकर लोगों को अपने चरणों में रखती थी. स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी का नाम लिए बिना कहा कि वो व्यक्ति उस सोच का प्रतीक बन गया है.

अगर एक जीत या हार में उसे समेट लें तो हम जीवन को बहुत कम आंकते हैं. अमेठी जीवन का एक पन्ना हो सकता है लेकिन जीवन का सार नहीं हो सकता है. क्योंकि जीवन अभी बाकी है. अमेठी संकेत देता है कि लोग आज भी सच्चाई को परखते हैं और सच का साथ देते हैं. वो निष्ठा को समझते हैं और उसका साथ देते हैं. अमेठी ने एक सांसद को नहीं चुना है. अमेठी ने एक बहन को चुना है.

तब जीत महिला की ही होती है

उन्होने कहा, ''इस भावना को प्रेरित न करें कि महिला तभी सशक्त होगी जब पुरुष को उनकी जगह दिखाई जाएगी. हमारे देश में प्रॉब्लम पुरुष नहीं है प्रॉब्लम सोच है. महिला सशक्त होना चाहती हैं तो प्रेरणा लें. अगर कोई महिला साथ न दे और प्रेरित न करें तो उसे राह का रोड़ा न बनाएं. अपने पर विश्वास रखें तो कोई भी बुलंदी असंभव नहीं है. अगर मुकाबला बराबरी का हो तो जीत महिला की ही होता है''.


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

चाईबासाः नैहर में थी आदिवासी महिला, पति बीमार पड़े, तो साइकिल से नाप ली 50 किमी दूरी
चाईबासाः नैहर में थी आदिवासी महिला, पति बीमार पड़े, तो साइकिल से नाप ली 50 किमी दूरी
अच्छी पहलः ओडिशा ने 500 एमबीबीएस छात्रों को कोरोना मरीजों के इलाज के लिए प्रशिक्षित किया
अच्छी पहलः ओडिशा ने 500 एमबीबीएस छात्रों को कोरोना मरीजों के इलाज के लिए प्रशिक्षित किया
कोरोना रोका जा सके, इसके लिए छत्तीसगढ़ के जेलों से छोड़े गए 584 कैदी
कोरोना रोका जा सके, इसके लिए छत्तीसगढ़ के जेलों से छोड़े गए 584 कैदी
कोरोना का कहर, देश में संक्रमण के 2,902 मामले, मरने वालों की संख्या 68 हुई
कोरोना का कहर, देश में संक्रमण के 2,902 मामले, मरने वालों की संख्या 68 हुई
2 दिन में तबलीगी जमात के 647 लोग कोरोना पॉजिटिव निकले जबकि 24 घंटों में 12 मरीजों की मौत
2 दिन में तबलीगी जमात के 647 लोग कोरोना पॉजिटिव निकले जबकि 24 घंटों में 12 मरीजों की मौत
नर्सों से अभद्रता करने वाले तबलीगी जमात के लोगों पर लगेगा रासुका, छोड़ेंगे नहींः योगी आदित्यनाथ
नर्सों से अभद्रता करने वाले तबलीगी जमात के लोगों पर लगेगा रासुका, छोड़ेंगे नहींः योगी आदित्यनाथ
पीएम मोदी ने राज्यों से कहा, अगले कुछ हफ्तों में टेस्टिंग, ट्रेसिंग और क्वारंटाइन पर रहे जोर
पीएम मोदी ने राज्यों से कहा, अगले कुछ हफ्तों में टेस्टिंग, ट्रेसिंग और क्वारंटाइन पर रहे जोर
 धार्मिक स्थानों पर जमा होकर अव्यवस्था पैदा करने का यह वक्त नहीं है : ए आर रहमान
धार्मिक स्थानों पर जमा होकर अव्यवस्था पैदा करने का यह वक्त नहीं है : ए आर रहमान
देश में पांव पसारता कोरोना, संक्रमण के 1965 मामले, मरने वालों की संख्या 50
देश में पांव पसारता कोरोना, संक्रमण के 1965 मामले, मरने वालों की संख्या 50
कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया

Stay Connected

Facebook Google twitter