कानून व्यवस्था को लेकर पत्रकारों के पूछे सवाल पर जब नीतीश कुमार बमक गए

कानून व्यवस्था को लेकर पत्रकारों के पूछे सवाल पर जब नीतीश कुमार बमक गए
पीबी ब्यूरो ,   Jan 15, 2021

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना में पत्रकारों के सवाल पर जवाब देते हुए अपना आपा खो दिया. 

इंडिगो एयरलाइंस के मैनेजर रूपेश सिंह की हत्या को लेकर सवाल और राज्य में बिगड़ती क़ानून व्यवस्था के बारे में पूछे सवाल पर उन्होंने गु्स्सा जाहिर करते हुए मीडिया को ही ‘केस का समाधान’ निकाल लेने को कहा. 

इसके अलावा उन्होंने पत्रकारों से पूछा कि आप किसका ‘समर्थन’ कर रहे हैं.

नाराज दिख रहे नीतीश कुमार ने पत्रकार के सवाल पर भड़कते हुए कहा, “जरा दूसरे राज्यों में भी चले जाइए. आप इतने महान व्यक्ति हैं और आप किसके समर्थक है, मैं आपको डायरेक्ट पूछ रहा हूँ.

उन्होंने भड़कते हुए कहा कि ''पति-पत्नी की सरकार में 15 साल क्या होता रहा, उसे आप लोग हाईलाइट कीजिए''. हर वर्ष पूरे देश के राज्यों के अपराध के आंकड़े प्रकाशित होते हैं. बिहार अपराध के मामले में अब 23 वें स्थान पर है.

इसे भी पढ़ें: पौने दो किलो सोने के गहने लूटकर दिल्ली से हावड़ा भागते दो शातिर झारखंड के गिरिडीह में दबोचे गए

हालांकि मुख्यमंत्री  ने इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन प्रबंधक रूपेश कुमार सिंह की हत्या मामले में यह भी कहा, अपराधी कोई भी हो बख्शा नहीं जाएगा. हमने पुलिस को कह दिया है कि पूरे तौर पर सख्ती से और जल्दी से जल्दी अनुसंधान हो. किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा. इस घटना के दोषियों को स्पीडी ट्रायल के माध्यम से जल्द-से-जल्द सजा दिलाई जाएगी.

उन्होंने कहा कि इसका भी पता कीजिए कि अपराध कौन करता है? अपराध करने वाले कौन हैं? पुलिस को पता चलता है, तो अपराध करने वाले पर सख्त कार्रवाई होती है.

उन्होंने पत्रकारों से कहा कि अपराध-जांच के मामले में कोई सूचना हो तो पुलिस को बताएं. सीधे डीजीपी से बात करें.

पत्रकारों ने कहा पुलिस के अधिकारी फोन नहीं उठाते. इसके बाद मुख्यमंत्री ने खुद डीजीपी को फोन किया और उन्हें कहा कि ऐसी व्यवस्था बनाएं कि कोई पत्रकार चाहे तो फोन पर बात करें. फोन पर एक आदमी रखें, जो हर फोन को रिसीव करे. मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद पुलिस मुख्यालय से टेलीफोन और मोबाइल नंबर भी जारी किया गया.

नाराज दिख रहे नीतीश कुमार ने पत्रकार के सवाल पर भड़कते हुए कहा, “जरा दूसरे राज्यों में भी चले जाइए. आप इतने महान व्यक्ति हैं और आप किसके समर्थक है, मैं आपको डायरेक्ट पूछ रहा हूँ. जिनको 15 साल तक राज मिला, पति-पत्नी के राज में इतना अपराध होता रहा, आप उसको क्यों नहीं हाईलाइट करते?”

इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए राजद नेता तेजस्वी यादव ने ट्विटर पर कहा, ''मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हाथ उठा अपराधियों के सामने किया सरेंडर और कहा कोई नहीं रोक सकता अपराध. हड़प्पा काल में भी होते थे अपराध. जरा तुलना कर लीजिए.''

तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए आगे लिखा है कि ''उल्टा पत्रकार से पूछ रहे हैं क्या आपको पता है कौन है अपराधी और वो क्यों करते हैं अपराध?''


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल के साथ कांग्रेस विधायकों ने की हाथापाई, पांच विधायक निलंबित
हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल के साथ कांग्रेस विधायकों ने की हाथापाई, पांच विधायक निलंबित
पश्चिम बंगाल में 27 मार्च से आठ चरणों में होगा चुनाव, तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी में 6 अप्रैल को मतदान
पश्चिम बंगाल में 27 मार्च से आठ चरणों में होगा चुनाव, तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी में 6 अप्रैल को मतदान
पलामू में पुलिस के साथ मुठभेड़, जेजेएमपी का एरिया कमांडर मारा गया
पलामू में पुलिस के साथ मुठभेड़, जेजेएमपी का एरिया कमांडर मारा गया
पलामू में पुलिस के साथ मुठभेड़, जेजेएमपी का एरिया कमांडर मारा गया
पलामू में पुलिस के साथ मुठभेड़, जेजेएमपी का एरिया कमांडर मारा गया
केजरीवाल गुजरात में करेंगे रोड शो, निकाय चुनाव में आप की इंट्री से गदगद
केजरीवाल गुजरात में करेंगे रोड शो, निकाय चुनाव में आप की इंट्री से गदगद
टूलकिट केस: दिशा रवि को मिली जमानत, कोर्ट ने कहा- हानिरहित टूलकिट का संपादन गुनाह नहीं
टूलकिट केस: दिशा रवि को मिली जमानत, कोर्ट ने कहा- हानिरहित टूलकिट का संपादन गुनाह नहीं
 कोयला चोरी मामला: ममता बनर्जी की बहू रूजिरा से सीबीआई ने की लंबी पूछताछ
कोयला चोरी मामला: ममता बनर्जी की बहू रूजिरा से सीबीआई ने की लंबी पूछताछ
हजारीबाग में हाथियों का कहर, दो लोगों को पटक कर मार डाला
हजारीबाग में हाथियों का कहर, दो लोगों को पटक कर मार डाला
चीन ने पहली दफा माना, गलवान घाटी में हुए संघर्ष में उसके पांच सैनिक मारे गए थे
चीन ने पहली दफा माना, गलवान घाटी में हुए संघर्ष में उसके पांच सैनिक मारे गए थे
झारखंड: कोल कंपनी को बड़कागांव के रैयतों की 57 एकड़ जमीन वापस‌ करने का आदेश
झारखंड: कोल कंपनी को बड़कागांव के रैयतों की 57 एकड़ जमीन वापस‌ करने का आदेश

Stay Connected

Facebook Google twitter