मोदी सरकार के आत्मनिर्भर भारत का मतलब क्या है: रघुराम राजन

मोदी सरकार के आत्मनिर्भर भारत का मतलब क्या है: रघुराम राजन
Facebook-File Photo
पीबी ब्यूरो ,   Oct 08, 2020

रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने कहा है कि भारत को एक टैरिफ वॉल बनाने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि भारत अगर ग्लोबल सप्लाई चेन का हिस्सा बनना चाहता है तो उसे इस तरह के टैरिफ वॉल से बचना चाहिए. इसके साथ ही रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व गवर्नर ने कहा है कि उनकी समझ में यह नहीं आ रहा है कि सरकार का आत्मनिर्भर भारत अभियान से मतलब क्या है?

राजन ने कहा कि उन्हें अब तक यह साफ नहीं हो पाया है कि आखिर मोदी सरकार का आत्मनिर्भर भारत से मतलब क्या है

राजन ने कहाकि मोदी सरकार के आत्मनिर्भर भारत अभियान का नतीजा संरक्षणवाद के रूप में सामने नहीं आना चाहिए. उन्होंने कहा कि पहले भी कई सरकारों ने इस तरह की नीतियां अपनाने की कोशिश की लेकिन उसका कोई लाभ नहीं दिखा है. 

राजन ने कहा, "अगर आत्मनिर्भर भारत अभियान सामान के उत्पादन के लिए एक परिवेश बनाने को लेकर है, तब यह मेक इन इंडिया पहल को ही नए रूप में पेश करने जैसा है."

इकनॉमिक रिसर्च इंस्टीट्यूट इक्रियर के ऑनलाइन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राजन ने यह बात कही. राजन इस वक्त शिकागो विश्वविद्यालय में प्रोफेसर हैं. उन्होंने कहा कि भारत को वैश्विक स्तर के निर्माण व्यवस्था की जरूरत है और इसका मतलब है कि देश के निर्माताओं की सस्ती आयात तक पहुंच हो. यह वास्तव में मजबूत निर्यात के लिए आधार बनाने का काम करता है.

इसे भी पढ़ें: हाल के दिनों में बोलने और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार का ‘सबसे अधिक दुरुपयोग’ हुआ है: सुप्रीम कोर्ट

उन्होंने कहा, "हमें वैश्विक सप्लाई चेन का हिस्सा बनने के लिये बुनियादी ढांचा, लॉजिस्टिक सपोर्ट आदि की व्यवस्था करने करने की जरूरत है. हमें टैरिफ वार शुरू नहीं करना चाहिए क्योंकि हम जानते हैं कि इसका कोई फायदा नहीं है, कई देशों ने इस दिशा में कोशिश की है."

उन्होंने कहा, "अगर आत्मनिर्भर भारत का मतलब संरक्षणवाद से संबंधित है, तो दुर्भाग्य से भारत ने हाल में कई शुल्क बढ़ाई है. मेरी समझ में वह रास्ता अपनाने का कोई मतलब नहीं है क्योंकि हमने पहले भी इसे लेकर कई कोशिश कर ली है."

आरबीआई के पूर्व गवर्नर ने कहा, "पहले हमारे पास लाइसेंस परमिट राज व्यवस्था थी. संरक्षणवाद का वह तरीका समस्या पैदा करने वाला था, उससे कुछ कंपनियां समृद्ध हुई, जबकि हममें से कइयों के लिए वह गरीबी का भी कारण बना."


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

 राबड़ी देवी का नीतीश पर पलटवार, 'लालू जी ने राजनीतिक जीवनदान दिया, उनका शुक्रगुजार रहें'
राबड़ी देवी का नीतीश पर पलटवार, 'लालू जी ने राजनीतिक जीवनदान दिया, उनका शुक्रगुजार रहें'
बिहार विधानसभा में तेजस्वी के आरोपों पर बिफर पड़े सीएम नीतीश कुमार
बिहार विधानसभा में तेजस्वी के आरोपों पर बिफर पड़े सीएम नीतीश कुमार
गढ़वाः रिश्वतखोरी में मुखिया गिरफ्तार, बिना पैसा लिए योजना देने को तैयार नहीं थे
गढ़वाः रिश्वतखोरी में मुखिया गिरफ्तार, बिना पैसा लिए योजना देने को तैयार नहीं थे
 कंगना की जीत, बंगला ढहाने के मामले में हाई कोर्ट ने रद्द किया बीएमसी का आदेश
कंगना की जीत, बंगला ढहाने के मामले में हाई कोर्ट ने रद्द किया बीएमसी का आदेश
महबूबा मुफ्ती और उनकी बेटी कथित तौर पर नजरबंद
महबूबा मुफ्ती और उनकी बेटी कथित तौर पर नजरबंद
लालू के खिलाफ झारखंड हाईकोर्ट में याचिका दायर, जेल में रहकर फोन इस्तेमाल का आरोप
लालू के खिलाफ झारखंड हाईकोर्ट में याचिका दायर, जेल में रहकर फोन इस्तेमाल का आरोप
सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव पर हेमंत सरकार इतनी मेहरबान क्यों, कोर्ट संज्ञान लेः बाबूलाल मरांडी
सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव पर हेमंत सरकार इतनी मेहरबान क्यों, कोर्ट संज्ञान लेः बाबूलाल मरांडी
बीजेपी विधायक विजय सिन्हा बिहार विधानसभा के स्पीकर चुने गए, गठबंधन का जोर काम नहीं आया
बीजेपी विधायक विजय सिन्हा बिहार विधानसभा के स्पीकर चुने गए, गठबंधन का जोर काम नहीं आया
कांग्रेस के कद्दावर नेता अहमद पटेल का निधन
कांग्रेस के कद्दावर नेता अहमद पटेल का निधन
 ट्वीट कर सुशील मोदी ने बताया, किस नंबर से लालू जेल से फोन पर एनडीए विधायकों को प्रलोभन दे रहे
ट्वीट कर सुशील मोदी ने बताया, किस नंबर से लालू जेल से फोन पर एनडीए विधायकों को प्रलोभन दे रहे

Stay Connected

Facebook Google twitter