वेब अंडर वूमेनः सोशल मीडिया के जरिए सामाजिक सुधार की क्रांति लाने वाली हस्तियां

वेब अंडर वूमेनः सोशल मीडिया के जरिए सामाजिक सुधार की क्रांति लाने वाली हस्तियां
Twitter (Ministry of WCD)
पीबी ब्यूरो ,   Mar 07, 2019

सोशल मीडिया के जरिए सामाजिक सुधार की क्रांति लाने वाली तीस महिलाओं को आठ मार्च को नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा. यह पुरस्कार राष्ट्रपति द्वारा राष्ट्रपति भवन में दिया जाएगा.

महिला एवं बाल कल्याण मंत्रालय ने वेब अंडर वूमेन के तौर पर इनका चयन किया है. बुधवार को महिला बाल कल्याण मंत्री मेनका गांधी ने इन महिलाओं का अभिनंदन किया. 'वेब वंडर वुमेन' मंत्रालय का महिला अचीवरों का तीसरा अभियान है.

मेनका गांधी ने कहा कि वूमेन ऑनलाईन बहुत शक्तिशाली आवाज हैं 'वेब वंडर वुमेन' ऐसी आवाजों को मान्यता देने, सम्मानित करने और प्रोत्साहित करने के लिए है, जिन्होंने अपनी क्षमता में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों पर सार्थक प्रभाव डाले हैं.

ट्विटर इंडिया तथा ब्रेकथ्रू इंडिया के सहयोग से आयोजित इस समारोह का उद्देश्य उन भारतीय महिला हस्तियों की दृढ़ता और साहस को मान्यता देना है जिन्होंने समाज में परिवर्तन के लिए सार्थक अभियान चलाने में सोशल मीडिया की शक्ति का उपयोग किया है. 

गौरतलब है कि लंबी प्रकिया के बाद देश के अलग- अलग हिस्सों से तीन महिलाओं का चयन किया गया है. महिला और बाल विकास मंत्री ने दस निर्णायकों के पैनल के साथ 30 महिलाओं के नामों को अंतिम रूप दिया है, जिन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से समाज को प्रभावित किया है. इन महिलाओं का चयन मीडिया, जागरुकता, कानूनी, स्वास्थ्य, सरकारी, खाद्य, पर्यावरण, विकास, व्यवसाय तथा कला के क्षेत्र में काम करने के लिए किया गया है. इन क्षेत्रों में उन्होंने सामाजिक परिवर्तन की नई कहानी लिखी हैं.  

इसे भी पढ़ें: रांची में लालू से मुलाकात के बाद पटना में राबड़ी से मिले शत्रुघ्न, पर पत्ते नहीं खोल रहे

जाहिर है इन महिलाओं का समाज के प्रति अहम योगदान रहा है, लेकिन ये गुमनाम रही हैं. महिला बाल कल्याण मंत्रालय ने इन पुरस्कारों के साथ उन महिलाओं को नई पहचान देने की मुहिम शुरू की है, जिन्होंने सीमा रेखा पार करके असामान्य क्षेत्रों में काम किया है.

इससे पहले साल  2018 में मंत्रालय ने अपनी तरह की पहली पहल 'फस्ट लेडीज' प्रारंभ किया ताकि उन असाधारण महिलाओं को सम्मानित किया जा सके, जो अपने क्षेत्रों में मील का पत्थर स्थापित करने में प्रथम रही हैं. जबकि साल  2015 में ‘'100 महिला अचीवर' को मान्यता देने के लिए फेसबुक के साथ सहयोग किया था, जिन्होंने विभिन्न सार्वजनिक कार्यों में उत्कृष्टता प्राप्त की. 

कौन हैं

जिन तीस महिलाओं का चयन किया गया है उनमें आधुनिका प्रकाश, आफरीन शेरवानी, अंकिता आनंद, अर्चना केआर, छिव बोहरा, डॉ एजेंला चौधरी, डॉ सौंदर्य राजेश, डॉ अनुभूति राजेश, डॉ देबब्रती, डॉ लक्ष्मी गौतम, जैपलीन पी, मधुलिका चौधरी, नमामि अग्रवल, पारोमिता बारदोलोई, पारूल माथुर, सगीना वालयत, डॉ श्रूति कपूर, श्वेता पाठक, सोन गोयल, सोनल कपूर, श्रीलेखा कपूर, सुप्रीत कुमार सिंह, विनिता देशमुख, ऋतु महेशश्वरी, कृथि जयाकुमार, उर्वशी सरकार, सोहिनी चट्टोपाध्याय, मनु खाजुरिया, रिशिका शर्मा और रक्षिता शामिल हैं. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

योगी सरकार की उल्टी गिनती शुरूः अखिलेश यादव
योगी सरकार की उल्टी गिनती शुरूः अखिलेश यादव
नरेंद्र मोदी ने खुद को बनाया है और उनके आगे राहुल गांधी कहीं नहीं ठहरते : रामचंद्र गुहा
नरेंद्र मोदी ने खुद को बनाया है और उनके आगे राहुल गांधी कहीं नहीं ठहरते : रामचंद्र गुहा
डीएसपी देविंदर सिंह को चुप कराने के लिए एनआईए के हवाले किए गया केसः राहुल गांधी
डीएसपी देविंदर सिंह को चुप कराने के लिए एनआईए के हवाले किए गया केसः राहुल गांधी
इसरो की एक और उपलब्धि, जीसैट 30 उपग्रह का सफल प्रक्षेपण
इसरो की एक और उपलब्धि, जीसैट 30 उपग्रह का सफल प्रक्षेपण
13 साल का सिलसिला, सिमडेगा के एक गांव में श्रमदान कर सड़क बना रहे ग्रामीण
13 साल का सिलसिला, सिमडेगा के एक गांव में श्रमदान कर सड़क बना रहे ग्रामीण
बीसीसीआई की केंद्रीय अनुबंध सूची से बाहर हुए धोनी, भविष्य को लेकर अटकलें तेज
बीसीसीआई की केंद्रीय अनुबंध सूची से बाहर हुए धोनी, भविष्य को लेकर अटकलें तेज
विवाद के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने इंदिरा गांधी की गैंगस्टर से मुलाकात वाली टिप्पणी वापस ली
विवाद के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने इंदिरा गांधी की गैंगस्टर से मुलाकात वाली टिप्पणी वापस ली
चंदे में चुनावी बॉन्ड से सबसे अधिक बीजेपी को मिले 1450 करोड़ रुपएः एडीआर रिपोर्ट
चंदे में चुनावी बॉन्ड से सबसे अधिक बीजेपी को मिले 1450 करोड़ रुपएः एडीआर रिपोर्ट
यादेंः खेत-खलिहान, संघर्ष के मैदान, जनता के अरमान में जिंदा हैं कॉमरेड महेंद्र
यादेंः खेत-खलिहान, संघर्ष के मैदान, जनता के अरमान में जिंदा हैं कॉमरेड महेंद्र
उत्कृष्ट प्रेम दर्शन, विनयशीलता, निश्छलता का प्रतीक 'टुसू' के रंगों में रचा-बसा मन
उत्कृष्ट प्रेम दर्शन, विनयशीलता, निश्छलता का प्रतीक 'टुसू' के रंगों में रचा-बसा मन

Stay Connected

Facebook Google twitter