वीडियोः क्यों हेमंत सोरेन बोले, केंद्र सरकार के निर्देश का अनुपालन करने की हमें सजा मिल रही

वीडियोः क्यों हेमंत सोरेन बोले, केंद्र सरकार के निर्देश का अनुपालन करने की हमें सजा मिल रही
IPRD Jharkhand
पीबी ब्यूरो ,   Apr 27, 2020

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि लॉक डाउन को लेकर केंद्र सरकार के द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन करने की हमें सजा मिल रही है. 

विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वीडियो कांफ्रेसिंग के बाद हेमंत सोरेन ने पत्रकारों से बातचीत में दूसरे राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों और छात्र-छात्राओं के मामले में केंद्र सरकार की मंशा पर सवाल खड़े किए. 

हेमंत सोरेन ने कहा, ''पीएम नरेंद्र मोदी के साथ वीडियो कांफ्रेंस में लॉक डाउन (2) की स्थिति पर चर्चा हुई. कई राज्यों ने अपनी बातें रखी. इस वीडियो कांफ्रेंसिंग में हमें बात रखने का मौका नहीं मिल पाया. हो सकता है कि समयाभाव रहा हो. हालांकि रविवार, 26 अप्रैल को हमने प्रधानमंत्री को एक पत्र भी लिखा है. इसमें आग्रह किया था कि बोलने का अगर मौका नहीं मिल सके, तो मेरे इस पत्र को कांफ्रेस का हिस्सा बनाया जाए.'' 

हेमंत सोरेन ने यह भी कहा, ''सवाल पूछा जा सकता है कि केंद्र सरकार से कैसे सजा मिल रही है. इस देश के विभिन्न राज्यों में झारखंड के मजदूर और छात्र फंसे पड़े हैं. लेकिन भारत सरकार के गृह मंत्रालय से आदेश निर्गत हुआ है कि अंतर्राज्यीय आवागमन में तीन मई तक पूरी तरह से रोक है. इसका उल्लंघन करने पर केस होगा. इस रोक के कारण हम बड़े पैमाने पर फंसे छात्र-छात्राओं को वापस नहीं ला पा रहे हैं.'' 

मुख्यमंत्री ने कहा कि दूसरे कुछ राज्य केद्र के  दिशा निर्देश का उल्लंघन कर उन्हें वापस ला रहे हैं. इसके बाद भी केंद्र सरकार मौन है. केंद्र सरकार के मौन से हम परेशान हैं. ऐसा क्यों हो रहा है. इसलिए प्रवासी मजदूरों और छात्र- छात्रों को वापस लाने के लिए केंद्र सरकार को स्पष्ट दिशा निर्देश जारी करे. 

इसे भी पढ़ें: मरने वालों के आंकड़े बढ़ने के बीच देश में कोरोना के 22 फीसदी मरीज ठीक हो चुके हैं

हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य सरकार अपने बल इतने बड़े पैमाने पर विभिन्न राज्यों में फंसे छात्र-छात्राओं और मजदूरों को लाने में सक्षम नहीं है. इसलिए केंद्र सरकार अपने आदेश को बदले, ताकि हम लाने का काम कर सकें. कानून तोड़कर हम यह काम नहीं करना चाहते.

हेमंत ने कहा कि प्रधानमंत्री से दूसरी बात हमने कही है कि केंद्र सरकार यह भी तय करे जो बाहर फंसे मजदूर छात्र को किस प्रकार से लाया जा सकता है. कोई हैदराबाद में है. कोई ओड़िशा में है. कोई कोटा में है. कोई बेंगलुरू में है. 

मुख्यमंत्री ने कहा हमने यह निर्णय लिया है कि केंद्र सरकार के निर्देशों का पूर्ण पालन करेंगे. इंटर स्टेट संबंधी रोक पर आदेश का इंतजार करेंगे.

अगर कोई निर्देश नहीं आता है, तो अन्य विकल्पों को सहारा लेंगे, ताकि अपने राज्य में मजदूरों और छात्रों को ला सकें. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

मनोज तिवारी हटाए गए, आदेश गुप्ता को दिल्ली बीजेपी की कमान
मनोज तिवारी हटाए गए, आदेश गुप्ता को दिल्ली बीजेपी की कमान
भारत निश्चित ही अपनी आर्थिक वृद्धि फिर से हासिल करेगा, सुधारों से मिलेगी मदद: पीएम मोदी
भारत निश्चित ही अपनी आर्थिक वृद्धि फिर से हासिल करेगा, सुधारों से मिलेगी मदद: पीएम मोदी
सुर्ख़ियों में 12 साल की बच्ची निहारिका: बचाए पैसे से तीन मजदूरों को वापस झारखंड भेजा
सुर्ख़ियों में 12 साल की बच्ची निहारिका: बचाए पैसे से तीन मजदूरों को वापस झारखंड भेजा
झारखंड के लिए 2 समेत राज्य सभा की 18 सीटों पर 19 जून को होगा चुनाव, सरगर्मी तेज
झारखंड के लिए 2 समेत राज्य सभा की 18 सीटों पर 19 जून को होगा चुनाव, सरगर्मी तेज
जल संसाधन विभाग में पिछले तीन साल के सभी टेंडरों की जांच होगी, हेमंत ने दिए आदेश
जल संसाधन विभाग में पिछले तीन साल के सभी टेंडरों की जांच होगी, हेमंत ने दिए आदेश
मशहूर संगीतकार 42 साल के वाजिद खान नहीं रहे, साजिद-वाजिद की जोड़ी हुई अधूरी
मशहूर संगीतकार 42 साल के वाजिद खान नहीं रहे, साजिद-वाजिद की जोड़ी हुई अधूरी
मानसून ने केरल में दी दस्तक, अब मौसम बारिश वाला
मानसून ने केरल में दी दस्तक, अब मौसम बारिश वाला
क्या लॉकडाउन की परवाह नहीं करतीं कांग्रेस विधायक अंबा, केरेडारी की सभा में भीड़ से उठते सवाल
क्या लॉकडाउन की परवाह नहीं करतीं कांग्रेस विधायक अंबा, केरेडारी की सभा में भीड़ से उठते सवाल
चक्रधरपुरः सर्च ऑपरेशन के दौरान नक्सली हमले में एसडीपीओ का बॉडीगार्ड शहीद, एक एसपीओ की भी मौत
चक्रधरपुरः सर्च ऑपरेशन के दौरान नक्सली हमले में एसडीपीओ का बॉडीगार्ड शहीद, एक एसपीओ की भी मौत
राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद

Stay Connected

Facebook Google twitter