वीडियोः विधानसभा में बोले बाबूलाल, सत्ता पक्ष से ही नेता प्रतिपक्ष चुन दीजिए, हम स्वीकार करेंगे

वीडियोः विधानसभा में बोले बाबूलाल, सत्ता पक्ष से ही नेता प्रतिपक्ष चुन दीजिए, हम स्वीकार करेंगे
Publicbol (File Photo)
पीबी ब्यूरो ,   Mar 12, 2020

विधानसभा में बीजेपी ने आज से अपनी रणनीति में परिवर्तन किया है. साथ ही तय किया है कि नेता प्रतिपक्ष के मामले में सदन की कार्यवाही बाधित नहीं की जाएगी. बीजेपी के विधायकों ने इसे अमल में लाया भी. अलबत्ता बाबूलाल मरांडी ने खुद सदन में कहा कि नेता प्रतिपक्ष को लेकर वे आश्वस्त कराना चाहते हैं कि बीजेपी के विधायक कम से कम इस मामले में वेल में नहीं आएंगे. और न ही कार्यवाही बाधित करेंगे. लेकिन इस फैसले को स्पीकर लटकाएं नहीं. अगर कोई दबाव है, तो सत्ता पक्ष से ही नेता प्रतिपक्ष चुन लिया जाए, हम उसे स्वीकार करेंगे. 

होली अवकाश के बाद आज से विधानसभा का बजट सत्र फिर शुरू हुआ है. आज विधानसभा में बिजली संकट का मामला गूंजा. दरअसल डीवीसी का सरकार पर लगभग पांच हजार करोड़ बकाया है और डीवीसी ने अपने कमांड वाले सात जिलों में बिजली आपूर्ति में भारी कटौती शुरू कर दी है. 

सदन की कार्यवाही शुरू होते बिजली के संकट को लेकर सत्ता-विपक्ष के कई विधायकों ने मामला उठाया. इस बीच बाबूलाल मरांडी ने राज्य के सवाल और नेता प्रतिपक्ष को लेकर बीजेपी विधायकों की मांग को लेकर अपनी बात रखी. 

उन्होंने कहा कि वे उम्मीद करते हैं कि स्पीकर इस मामले में बिना राग द्वेष के जल्दी फैसला लेंगे. 

इसे भी पढ़ें: विधायक ढुल्लू के बचाव में उतरी बीजेपी, दीपक प्रकाश बोले, सरकार के इशारे पर परेशान कर रही पुलिस

बाबूलाल मरांडी ने कहा, विधानसभा का बजट सत्र 28 फरवरी से शुरू हुआ है. बीजेपी के हमारे विधायक एक ही मांग कर रहे हैं कि नेता प्रतिपक्ष की घोषणा हो. लेकिन यह स्पीकर के अधिकार क्षेत्र का है. 

उन्होंने कहा, ''11 फरवरी को जेवीएम कार्यकारिणी की बैठक मे सर्वसम्मति से बीजेपी में विलय का प्रस्ताव पारित हुआ. इसके बाद 17 फरवरी को हम सब ने विधिवत रूप से विलय किया. चुनाव आयोग को इसकी सूचना दी गई. छह मार्च को चुनाव आयोग ने विलय को स्वीकार किया. 24 फरवरी को हमें विधायकों ने अपना नेता चुना. उन्हें और पार्टी को बधाई देता हूं कि बीजेपी में आए कुछ ही दिन हुए, पर ये जिम्मेदारी दी. हम ये नहीं कहते हैं कि आज या कल ही निर्णय ले लीजिए, पर जल्दी में तो लिया जा सकता है''. 

बाबूलाल ने आसन से कहा, ''मैं देख रहा हूं कि क्षेत्र की समस्या विधायक उठाना चाहते हैं. विधानसभा बार- बार बाधित होती है, तो सवाल नहीं उठते. सरकार की जिम्मेदारी है कि सदन चले. आपकी भी जिम्मेदारी है. इस प्रदेश की कई समस्याएं हैं. उस पर चर्चा होनी चाहिए. लोहरदगा और चाईबासा की घटना, लॉ एंड आ़र्डर का हालत पर चर्चा होनी चाहिए. नेता प्रतिपक्ष को लेकर अब विधायक अब मांग नहीं करेंगे. वे वेल में नहीं आएंगे. इतना ही निवेदन करने के लिए खड़ा हुआ हूं. हम जरूर चाहेंगे जल्दी निर्णय लेंगे. सत्ता पक्ष से ही चुन कर दीजिए हम स्वीकर करेंगे.''

इससे पहले स्पीकर ने बीच में ही बाबूलाल मरांडी को रोका. उन्होंने कहा कि वे विपक्ष को आश्वस्त करना चाहते हैं कि शंका मत रखिए. हम विधिक राय लेंगे. हमको भी अच्छा नहीं लग रहा है. आसन पर आक्षेप लग रहा है. हमें ठीक नहीं लग लग रहा. विधिक राय के बाद तुरंत बताएंगे. थोड़ा समय दीजिए, दूध का दूध पानी का पानी करेंगे. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
उत्तर प्रदेश में 25 साल के युवक की मौत, देश भर में मरने वालों का आंकड़ा 35 तक पहुंचा
उत्तर प्रदेश में 25 साल के युवक की मौत, देश भर में मरने वालों का आंकड़ा 35 तक पहुंचा
बीजेपी बोली, झारखंड के धार्मिक स्थलों में ठहरे विदेशियों ने संक्रमण लाया और सरकार देखती रही
बीजेपी बोली, झारखंड के धार्मिक स्थलों में ठहरे विदेशियों ने संक्रमण लाया और सरकार देखती रही
निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन के बाद मेरठ और मुज्जफरनगर अलर्ट पर
निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन के बाद मेरठ और मुज्जफरनगर अलर्ट पर
कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री
कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री
प्रशांत किशोर ने कहा, नीतीश कुमार गद्दी छोड़ दें, जदयू का पलटवार, ट्वीट पर घटिया राजनीति मत करें
प्रशांत किशोर ने कहा, नीतीश कुमार गद्दी छोड़ दें, जदयू का पलटवार, ट्वीट पर घटिया राजनीति मत करें
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
 नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 32 हुई
नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 32 हुई
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था

Stay Connected

Facebook Google twitter