भारत मे टीकाकरण शुरूः पीएम मोदी बोले, 'मानव जब जोर लगाता है, पत्थर पानी बन जाता है'

 भारत मे टीकाकरण शुरूः पीएम मोदी बोले, 'मानव जब जोर लगाता है, पत्थर पानी बन जाता है'
पीबी ब्यूरो ,   Jan 16, 2021

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान की शुरुआत की. पहले दिन तीन लाख फ्रंट लाइन वर्कर्स को टीका लगेगा. 

पीएम मोदी ने कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कहा, 'आज के दिन का पूरे देश को बेसब्री से इंतजार रहा है. कितने महीनों से देश के हर घर में बच्चे, बूढ़े, जवान सभी की जुबान पर ये सवाल था कि कोरोना वैक्सीन कब आएगी. अब वैक्सीन आ गई है. बहुत कम समय में आ गई है.' 

प्रधानमंत्री मोदी ने रामधारी सिंह दिनकर को उद्धृत करते हुए कहा, 'मानव जब जोर लगाता है, पत्थर पानी बन जाता है.'

उन्होंने कहा, ''कोरोना वैक्सीन की दो डोज बहुत जरूरी है. एक लगने के बाद दूसरे को भूलने की गलती मत कीजिएगा. वैक्सीन की दोनों खुराक लगने के 2-3 हफ्ते बाद ही आपके शरीर में कोरोना के विरुद्ध ज़रूरी शक्ति विकसित हो पाएगी. इस दौरान, मास्क लगाना न भूलें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें.'' 

मोदी ने इन बातों पर जोर दिया, हमारे वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों जब दोनों मेड इन इंडिया वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभाव को लेकर आश्वस्त हुए, तभी उन्होंने इसके इमरजेंसी उपयोग की अनुमति दी. इस देशवासियों को वैक्सीन को लेकर फैलाए जा रहे प्रोपेगेंडा और अफवाहों से बचकर रहना है.

इसे भी पढ़ें: ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन, हेमंत सोरेन 17 वें पायदान परः सर्वे


प्रधानमंत्री ने कहा, 'हर हिंदुस्तानी इस बात का गर्व करेगा की दुनिया भर के करीब 60 फीसदी बच्चों को जो जीवन रक्षक टीके लगते हैं, वो भारत में ही बनते हैं. भारत की सख्त वैज्ञानिक प्रक्रियाओं से होकर ही गुजरते हैं. कोरोना से हमारी लड़ाई आत्मविश्वास और आत्मनिर्भरता की रही है. इस मुश्किल लड़ाई से लड़ने के लिए हम अपने आत्मविश्वास को कमजोर नहीं पड़ने देंगे, ये प्रण हर भारतीय में दिखा. भारत के वैक्सीन वैज्ञानिक, हमारा मेडिकल सिस्टम, भारत की प्रक्रिया की पूरे विश्व में बहुत विश्वसनीयता है. हमने ये विश्वास अपने ट्रैक रिकॉर्ड से हासिल किया है.'

उन्होंने कहा, ''हमारे वैज्ञानिक और विशेषज्ञ जब दोनों मेड इन इंडिया वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभाव को लेकर आश्वस्त हुए, तभी उन्होंने इसके इमरजेंसी उपयोग की अनुमति दी. इसलिए देशवासियों को किसी भी तरह के प्रोपेगेंडा, अफवाहें और दुष्प्रचार से बचकर रहना है.'' 

उन्होंने कहा, ''हम दूसरों के काम आएं, ये निश्वार्थ भाव हमारे भीतर रहना चाहिए. राष्ट्र सिर्फ मिट्टी, पानी, कंकड़, पत्थर से नहीं बनता. बल्कि राष्ट्र का मतलब होता है हमारे लोग. संकट कितना भी बड़ा क्यों न हो, देश वासियों ने कभी आत्मविश्वास खोया नहीं.''


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल के साथ कांग्रेस विधायकों ने की हाथापाई, पांच विधायक निलंबित
हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल के साथ कांग्रेस विधायकों ने की हाथापाई, पांच विधायक निलंबित
पश्चिम बंगाल में 27 मार्च से आठ चरणों में होगा चुनाव, तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी में 6 अप्रैल को मतदान
पश्चिम बंगाल में 27 मार्च से आठ चरणों में होगा चुनाव, तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी में 6 अप्रैल को मतदान
पलामू में पुलिस के साथ मुठभेड़, जेजेएमपी का एरिया कमांडर मारा गया
पलामू में पुलिस के साथ मुठभेड़, जेजेएमपी का एरिया कमांडर मारा गया
पलामू में पुलिस के साथ मुठभेड़, जेजेएमपी का एरिया कमांडर मारा गया
पलामू में पुलिस के साथ मुठभेड़, जेजेएमपी का एरिया कमांडर मारा गया
केजरीवाल गुजरात में करेंगे रोड शो, निकाय चुनाव में आप की इंट्री से गदगद
केजरीवाल गुजरात में करेंगे रोड शो, निकाय चुनाव में आप की इंट्री से गदगद
टूलकिट केस: दिशा रवि को मिली जमानत, कोर्ट ने कहा- हानिरहित टूलकिट का संपादन गुनाह नहीं
टूलकिट केस: दिशा रवि को मिली जमानत, कोर्ट ने कहा- हानिरहित टूलकिट का संपादन गुनाह नहीं
 कोयला चोरी मामला: ममता बनर्जी की बहू रूजिरा से सीबीआई ने की लंबी पूछताछ
कोयला चोरी मामला: ममता बनर्जी की बहू रूजिरा से सीबीआई ने की लंबी पूछताछ
हजारीबाग में हाथियों का कहर, दो लोगों को पटक कर मार डाला
हजारीबाग में हाथियों का कहर, दो लोगों को पटक कर मार डाला
चीन ने पहली दफा माना, गलवान घाटी में हुए संघर्ष में उसके पांच सैनिक मारे गए थे
चीन ने पहली दफा माना, गलवान घाटी में हुए संघर्ष में उसके पांच सैनिक मारे गए थे
झारखंड: कोल कंपनी को बड़कागांव के रैयतों की 57 एकड़ जमीन वापस‌ करने का आदेश
झारखंड: कोल कंपनी को बड़कागांव के रैयतों की 57 एकड़ जमीन वापस‌ करने का आदेश

Stay Connected

Facebook Google twitter