UGC की गाइडलाइंस पर मुहर, फाइनल ईयर की परीक्षा के बिना पास नहीं किया जा सकता

UGC की गाइडलाइंस पर मुहर, फाइनल ईयर की परीक्षा के बिना पास नहीं किया जा सकता
पीबी ब्यूरो ,   Aug 28, 2020

देश भर के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में स्नातक की फाइनल ईयर परीक्षाओं को लेकर यूजीसी के दिशा-निर्देशों पर सुप्रीम कोर्ट ने भी मुहर लगा दी है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि यूजीसी की अनुमति के बिना राज्य परीक्षाएं रद्द नहीं कर सकती. 

फाइनल ईयर की परीक्षाएं आयोजित किए बिना छात्रों को पास नहीं किया जा सकता. राज्यों को 30 सितंबर तक एग्जाम कराने होंगे.

न्यायालय ने कहा कि जो राज्य 30 सितम्बर तक अंतिम वर्ष की परीक्षा कराने के इच्छुक नहीं हैं, उन्हें यूजीसी को इसकी जानकारी देनी होगी. 

शीर्ष अदालत ने अपने फैसले में यूजीसी के 6 जुलाई के सर्कुलर को सही ठहराते हुए कहा कि आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत राज्य महामारी को ध्यान में रखते हुए परीक्षा स्थगित कर सकते हैं लेकिन उन्हें यूजीसी के साथ सलाह मशविरा करके नई तिथियां तय करनी होंगी.

उच्चतम न्यायालय ने कहाकि जो राज्य 30 सितम्बर तक अंतिम वर्ष की परीक्षा कराने के इच्छुक नहीं हैं, उन्हें यूजीसी को इसकी जानकारी देनी होगी.

इसे भी पढ़ें: जमशेदपुर के बाद धनबाद की एक महिला डॉक्टर की कोरोना से मौत, रांची में चल रहा था इलाज

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि स्टूडेंट्स को प्रमोट करने के लिए राज्यों को एग्जाम अऩिवार्य रूप से कराने होंगे.

कोर्ट ने कहा कि आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत राज्य महामारी को ध्यान में रखते हुए परीक्षा स्थगित कर सकते हैं और यूजीसी के साथ सलाह मशविरा करके नई तिथियां तय कर सकते हैं.

गौरतलब है कि यूजीसी ने छह जुलाई को देशभर के विश्वविद्यालयों को 30 सितंबर तक अंतिम वर्ष की परीक्षाएं आयोजित करने का निर्देश दिया था.

उसने कहा था कि अगर परीक्षाएं नहीं हुईं तो छात्रों का भविष्य खतरे में पड़ जाएगा.

यूजीसी की इस गाइडलाइंस को देश भर के कई छात्रों और संगठनों ने याचिका दायर कर सुप्रीम कोर्ट में चुनौती थी.

याचिकाओं में कहा गया था कि कोविड-19 महामारी के बीच परीक्षाएं करवाना छात्रों की सुरक्षा के लिए ठीक नहीं है. यूजीसी को परीक्षाएं रद्द कर छात्रों के पिछले प्रदर्शन और आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर परिणाम घोषित करने चाहिए.

सुप्रीम कोर्ट ने 30 सितंबर तक फाइनल ईयर की परीक्षाएं कराने के यूजीसी के निर्देशों को चुनौती देनी वाली याचिकाओं पर 18 अगस्त को सुनवाई पूरी कर फैसला सुरक्षित रख लिया था.


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

गायक एस पी बालासुब्रमण्यम का निधन, मखमली आवाज से प्रशंसकों के दिलों पर दशकों तक राज किए
गायक एस पी बालासुब्रमण्यम का निधन, मखमली आवाज से प्रशंसकों के दिलों पर दशकों तक राज किए
बिहार विधानसभा चुनाव का बिगुल बजाः 28 अक्तूबर से तीन चरणों में मतदान, 10 नवंबर को नतीजे
बिहार विधानसभा चुनाव का बिगुल बजाः 28 अक्तूबर से तीन चरणों में मतदान, 10 नवंबर को नतीजे
कृषि बिल के विरोध में किसानों का हल्ला बोल, समर्थन में तेजस्वी यादव ट्रैक्टर लेकर उतरे सड़क पर
कृषि बिल के विरोध में किसानों का हल्ला बोल, समर्थन में तेजस्वी यादव ट्रैक्टर लेकर उतरे सड़क पर
पीएम मोदी ने फिटनेस को लेकर कोहली से यो यो टेस्ट के बारे में पूछा, विरोट बोले, बेहद अहम है यह
पीएम मोदी ने फिटनेस को लेकर कोहली से यो यो टेस्ट के बारे में पूछा, विरोट बोले, बेहद अहम है यह
रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोरोना वायरस से निधन, एम्स में ली अंतिम सांस
रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोरोना वायरस से निधन, एम्स में ली अंतिम सांस
पलामू: टीपीसी का जोनल‌ कमांडर गिरेंद्र गंझू गिरफ्तार
पलामू: टीपीसी का जोनल‌ कमांडर गिरेंद्र गंझू गिरफ्तार
टाइम की सूचीः नरेंद्र मोदी दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों में, पर तल्ख टिप्पणी भी
टाइम की सूचीः नरेंद्र मोदी दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों में, पर तल्ख टिप्पणी भी
देश में कोविड-19 से मरने वालों का आंकड़ा 90 हजार पार, अभी करीब 10 लाख लोगों का इलाज जारी
देश में कोविड-19 से मरने वालों का आंकड़ा 90 हजार पार, अभी करीब 10 लाख लोगों का इलाज जारी
वीआरएस के बाद गुप्तेश्वर पांडे ने कहा, लोगों से बात कर तय करूंगा कि आगे क्या करना है
वीआरएस के बाद गुप्तेश्वर पांडे ने कहा, लोगों से बात कर तय करूंगा कि आगे क्या करना है
कृषि सुधार 21 वीं सदी के भारत की जरूरत, किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास जारी रहेंगे: मोदी
कृषि सुधार 21 वीं सदी के भारत की जरूरत, किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास जारी रहेंगे: मोदी

Stay Connected

Facebook Google twitter