गुजरात से लौट रहे आदिवासी प्रवासी की रास्ते में मौत, लाश के साथ दुमका पहुंचे साथी मजदूर

गुजरात से लौट रहे आदिवासी प्रवासी की रास्ते में मौत, लाश के साथ दुमका पहुंचे साथी मजदूर
Photo- Niraj Kumar Singh
पीबी ब्यूरो ,   May 24, 2020

झारखंड में प्रवासी मजदूरों की अलग- अलग हादसे और वजहों से मौत का सिलसिला जारी है. ताजा घटना दुमका जिले की है. गुजरात से बस पर लौट रहे एक मजदूर शिवलाल किस्कू ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया. 

सुबह अन्य मजदूर साथी शिवलाल की लाश के साथ बस से उतरे. जबकि कुछ मजदूर घबराकर दुमका पहुंचने से पहले ही बस से उतर कर फरार हो गए. 

जबकि नौ लोग प्रवासी मजदूर की लाश के साथ दुमका पहुंचे, जिन्हें आवश्यक जांच के बाद आइसोलेशन वार्ड में भेजा गया है. 

30 साल के शिवलाल किस्कू रामगढ़ प्रखंड के गुड्ढाचापड़ गाव के रहने वाले थे. 

इधर घर वालों को मौत की खबर मिली, तो मातम पसर गया.  शिवलाल की पत्नी बिटी मरांडी, भाई लखीराम किस्कू, भाभी महारानी टुडू एवं दो छोटे बच्चे अस्पताल पहुंचे. सभी का रो-रोकर बुरा हाल है.

इसे भी पढ़ें: ओरैया में हुए सड़क हादसे में बोकारो के एक और घायल मजदूर की मौत

घटना के बारे में प्रवासी मजदूर के साथी दिनू मुर्मू ने बताया कि सभी लोग अपने बूते भाड़ा देकर शुक्रवार को गुजरात से चले थे. प्रति व्यक्ति  6 हजार रूपये किराया देना पड़ा. कई लोगों ने घर से पैसे मंगाए थे. 

35 मजदूरों का कुल 2 लाख 10 हजार चुकता किया गया था. सभी लोग दुमका के अलग- अलग गांवों के रहने वाले थे. 

शिवलाल तीन वर्षो से गुजरात में पाईप फैक्ट्री में काम करते थे. बीते सोहराय पर्व मनाकर गांव से वापस गुजरात काम पर लौटे था.

इस बीच लॉकडाउन के चलते काम बंद हो गया. जैसे- तैसे सभी मजदूर दिन गुजारते रहे. वापसी की कहीं से कोई मदद नहीं मिलने के बाद अपने पैसे से लौटने की सबने सहमति बनाई. 

दिनू बताते हैं कि करीब दो माह से शिवलाल की तबीयत खराब रह रही थी. उसे पीलिया था. लॉकडाउन में उसकी तबीयत बिगड़ती रहती थी.

हालांकि लौटने के क्रम में तबीयत ठीक थी और उसे तसल्ली थी कि सब लोग वापस गांव लौट रहे हैं.

रात में सभी मजदूर सफर में सोए हुए थे. शिवलाल भी नींद में थे. अहले सुबह दुमका पहंचने से पहले पारसनाथ के करीब जगाने पर शिवलाल की आंखें नहीं खुली तो साथियों ने हिलाकर उठाया. लेकिन शिवलाल फिर नहीं उठ सके. 

इस बीच 25 मजदूर बस से उतरकर फरार हो गए. 

दुमका के सिविल सर्जन अनंत झा ने बताया कि सभी शेष 9 मजदूरों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है. 

इसे भी पढ़ें: 70 हजार भाड़ा देकर मुंबई से लौटे 7 मजदूर, बाबूलाल बोले, 'हेमंत जी, अफसर आपको सच बताते नहीं'

मृतक मजदूर सहित सभी मजदूरों का सेंपल जांच के लिए लिया गया है. जांच रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल सकेगा.  


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

बीजेपी विधायक विजय सिन्हा बिहार विधानसभा के स्पीकर चुने गए, गठबंधन का जोर काम नहीं आया
बीजेपी विधायक विजय सिन्हा बिहार विधानसभा के स्पीकर चुने गए, गठबंधन का जोर काम नहीं आया
कांग्रेस के कद्दावर नेता अहमद पटेल का निधन
कांग्रेस के कद्दावर नेता अहमद पटेल का निधन
 ट्वीट कर सुशील मोदी ने बताया, किस नंबर से लालू जेल से फोन पर एनडीए विधायकों को प्रलोभन दे रहे
ट्वीट कर सुशील मोदी ने बताया, किस नंबर से लालू जेल से फोन पर एनडीए विधायकों को प्रलोभन दे रहे
बिहार में स्पीकर का चुनाव: भाजपा के विजय सिन्हा के मुकाबले राजद ने अवध बिहारी चौधरी को उतारा
बिहार में स्पीकर का चुनाव: भाजपा के विजय सिन्हा के मुकाबले राजद ने अवध बिहारी चौधरी को उतारा
कंगना की गिरफ्तारी पर मुंबई हाईकोर्ट ने लगाई रोक
कंगना की गिरफ्तारी पर मुंबई हाईकोर्ट ने लगाई रोक
विधानसभा के नोटिस को बाबूलाल ने दी है हाईकोर्ट में चुनौती, दलबदल पर अब 19 दिसंबर को सुनवाई
विधानसभा के नोटिस को बाबूलाल ने दी है हाईकोर्ट में चुनौती, दलबदल पर अब 19 दिसंबर को सुनवाई
बिहार: एआईएमआईएम के विधायक ने शपथ में हिन्दुस्तान शब्द नहीं पढ़ा, बीजेपी बोली, पाकिस्तान चले  जाएं
बिहार: एआईएमआईएम के विधायक ने शपथ में हिन्दुस्तान शब्द नहीं पढ़ा, बीजेपी बोली, पाकिस्तान चले जाएं
जमीन का काम अंचल से जिलाधिकारी ऑफिस तक बिना पैसे का नहीं होता, कर्मचारी-दलाल हावीः बंधु तिर्की
जमीन का काम अंचल से जिलाधिकारी ऑफिस तक बिना पैसे का नहीं होता, कर्मचारी-दलाल हावीः बंधु तिर्की
असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरूण गोगोई का निधन
असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरूण गोगोई का निधन
क्यों सुर्खियों में है कोडरमा के उपायुक्त रमेश घोलप का एक पोस्ट, 'जब मां मेरे ऑफिस में आई थी'
क्यों सुर्खियों में है कोडरमा के उपायुक्त रमेश घोलप का एक पोस्ट, 'जब मां मेरे ऑफिस में आई थी'

Stay Connected

Facebook Google twitter