इस बार झारखंड नहीं आंध्र प्रदेश कोटा से राज्यसभा जाएंगे परिमल नाथवानी

इस बार झारखंड नहीं आंध्र प्रदेश कोटा से राज्यसभा जाएंगे परिमल नाथवानी
Publicbol (File Photo)
पीबी ब्यूरो ,   Mar 09, 2020

झारखंड से दो बार राज्य सभा का चुनाव जीतने वाले रिलायंस समूह के प्रेसीडेंट परिमल नाथवानी इस बार आंध्र प्रदेश कोटे से राज्यसभा जाएंगे. पिछले दो बार से वह झारखंड कोटे से राज्यसभा गए हैं. बीजेपी और आजसू के समर्थन से वे चुनाव जीतते रहे हैं. 

इस बार झारखंड में सत्ता- विपक्ष का अंक गणित बदलने के बाद नाथवानी आंध्र प्रदेश से चुनाव लड़ने का तानाबाना बुना है.. वो वाईएसआर कांग्रेस के समर्थन से राज्यसभा में बतौर निर्दलीय उम्मीदवार जाएंगे. झारखंड में उनका कार्यकाल 9 अप्रैल तक है. 

जबकि राज्य सभा के लिए 26 मार्च को चुनाव होना है. इनमें झारखंड से दो सीटों के लिए चुनाव होंगे. इधर सत्तारूढ़ जेएमएम ने पार्टी प्रमुख शिबू सोरेन को राज्य सभा चुनाव लड़ाने का निर्णय लिया है.

दूसरी सीट निकालने के लिए बीजेपी मगजमारी कर रही है. चुनाव जीतने के लिए उसे कम से कम एक वोट घट रहे हैं. जाहिर है बीजेपी आजसू की ओर हाथ बढ़ाना चाहती है. अगर आजसू ने बीजेपी के उम्मीदवार को समर्थन दिया, तो चुनाव जीतना तय है. 

परिमल नाथवानी ने ट्वीट कर खुद ही इस बात की जानकारी दी है कि वो आंध्र प्रदेश कोटे से राज्यसभा का चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, 'मैं मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी का दिल से शुक्रिया अदा करता हूं कि उन्होंने मुझे आंध्र प्रदेश से राज्यसभा सांसद उम्मीदवार के तौर पर चुना. मैं राज्य की जनता की सेवा करने के लिए प्रतिबद्ध हूं.'

इसे भी पढ़ें: ज्योतिरादित्य सिंधिया का कांग्रेस से इस्तीफा, मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल गहराए

गौरतलब है कि आंध्र प्रदेश की 175 सदस्यों की विधानसभा में वईएसआर कांग्रेस के 157 विधायक हैं. इसलिए राज्य में खाली हो रही सभी चारों सीटें वाईएसआर कांग्रेस को ही मिलेंगी.

खबरों के मुताबिक रिलांयस समूह के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने परिमल नाथवानी को आंध्र प्रदेश कोटे से राज्य सभा भेजने के लिए पहल की है. 

झारखंड में परिमल नाथवानी ने विकास के कई अहम काम भी किए हैं. साथ ही उन्होंने अपने फंड का भी बेहतर उपयोग किया है. आदर्श ग्राम योजना के तहत कई गांवों को उन्होंने विकास की मुख्य धारा में जोड़ा है. जबकि बीजेपी और आजसू से उनके रिश्ते भी अच्छे रहे हैं. 

राज्य सभा में वे झारखंड के विषयों तथा मुद्दे से जुड़े सवाल नियमित तौर पर उठाते रहे हैं. 

दुर्लभ शेरों की विशिष्ट प्रजाति एशियाटिक लॉयन पर राज्यसभा सदस्य परिमल नथवाणी ने एक कॉफी टेबल बुक लिखा है. इसमें शेरों के 6.5 करोड़ साल पुराने इतिहास को झांकने की कोशिश की गयी है. 

गीर लॉयन को प्राइड अब गुजरात भी कहा जाता है. इस पुस्तक में जिसे मृगाणां मृगेंद्र कहा गया है, उसमें जंगल के राजा शेर को शाही ठाटबाट से प्रस्तुत किया गया है. यह शेर पूरी दुनिया में केवल गीर प्रदेश में ही पाया जाता है.


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कोरोना, नोटबंदी और जीसटी को हार्वर्ड में असफलता पर केस स्टडीज की तरह पढ़ाया जाएगा : राहुल गांधी
कोरोना, नोटबंदी और जीसटी को हार्वर्ड में असफलता पर केस स्टडीज की तरह पढ़ाया जाएगा : राहुल गांधी
दिल्ली के 106 वर्षीय बुजुर्ग कोविड-19 संक्रमण से ठीक हुए, 102 साल पहले स्पेनिश फ्लू को भी दी थी मात
दिल्ली के 106 वर्षीय बुजुर्ग कोविड-19 संक्रमण से ठीक हुए, 102 साल पहले स्पेनिश फ्लू को भी दी थी मात
दुनिया में कोरोना से तीसरा सबसे ज्यादा प्रभावित देश बना भारत, रूस को पीछे छोड़ा
दुनिया में कोरोना से तीसरा सबसे ज्यादा प्रभावित देश बना भारत, रूस को पीछे छोड़ा
अब जेएमएम ने दिखाया कच्चा-चिट्ठाः रघुवर राज में 1450 एकड़ जमीन गलत तरीके से बेची गई
अब जेएमएम ने दिखाया कच्चा-चिट्ठाः रघुवर राज में 1450 एकड़ जमीन गलत तरीके से बेची गई
चुनौतियों का स्थायी समाधान भगवान बुद्ध के आदर्शों से मिल सकता है : पीएम मोदी
चुनौतियों का स्थायी समाधान भगवान बुद्ध के आदर्शों से मिल सकता है : पीएम मोदी
चीनी घुसपैठ पर लद्दाखवासियों की बात नजरअंदाज नहीं करे सरकार: राहुल गांधी
चीनी घुसपैठ पर लद्दाखवासियों की बात नजरअंदाज नहीं करे सरकार: राहुल गांधी
जब कोरोना से बचने के लिए बनवा लिए सोने का मास्क, पैसे लगे तीन लाख
जब कोरोना से बचने के लिए बनवा लिए सोने का मास्क, पैसे लगे तीन लाख
नीट और जेईई मेन परीक्षाएं स्थगित, मिली सितंबर में नई तारीख
नीट और जेईई मेन परीक्षाएं स्थगित, मिली सितंबर में नई तारीख
'15 साल में हमसे कोई भूल हुई थी तो उसके लिए माफी मांगते हैं'
'15 साल में हमसे कोई भूल हुई थी तो उसके लिए माफी मांगते हैं'
कानपुरः छापा मारने गई पुलिस पर अपराधियों की फायरिंग, डीएसपी सहित आठ पुलिसकर्मियों की मौत
कानपुरः छापा मारने गई पुलिस पर अपराधियों की फायरिंग, डीएसपी सहित आठ पुलिसकर्मियों की मौत

Stay Connected

Facebook Google twitter