कांग्रेस: सुबोधकांत और डॉ अजय के समर्थक भिड़े, पथराव में छायाकार घायल, पुलिस ने भांजी लाठियां

कांग्रेस: सुबोधकांत और डॉ अजय के समर्थक भिड़े, पथराव में छायाकार घायल, पुलिस ने भांजी लाठियां
Javed
पीबी ब्यूरो ,   Aug 01, 2019

अंतर्कलह और आरोप- प्रत्यारोप के दौर से गुजर रही झारखंड कांग्रेस में टकराहट नए मोड़ पर पहुंच गई है. आज रांची में पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय और प्रदेश अध्यक्ष के समर्थक एक दूसरे से भिड़ गए.

नारेबाजी, तू-तू मैं- मैं के बीच लात और घूसे चले. साथ ही पत्थरबाजी भी हुई. हंगामे की खबर पाकर कोतवाली पुलिस पहुंची. पुलिस ने स्थिति संभालने में लाठियां भी भांजी. कांग्रेस कार्यालय और इसके आसपास बड़ी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती कर दी गई है. 

पत्थरबाजी की इस घटना में एक अखबार के वरीय छायाकार जावेद घायल हो गए हैं. उन्होंने बताया है कि कांग्रेस दफ्तर के सामने वे तस्वीरें ले रहे थे. इस दौरान उनकी दाहिनी आंख के ठीक उपर पत्थर लगा. जावेद ने बताया है कि सुरेंद्र सिंह और राकेश सिन्हा की अगुवाई में समर्थक कांग्रेस दफ्तर की ओर बढ़ रहे थे. इधर दफ्तर में डॉ अजय कुमार के समर्थक जमा थे. इसी बीच हंगामा हुआ. 

इस बीच सुबोधकांत सहाय के समर्थक और पूर्व प्रदेश प्रवक्ता राकेश सिन्हा समेत कई कांग्रेसी कार्यकर्ताओं, समर्थकों को पुलिस ने हिरासत में लेकर रांची विश्वविद्लाय परिसर में रखा है. 

पथराव में घायल हो गए वरीय छायाकार जावेद

राकेश सिन्हा ने आरोप लगाया है कि प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार ने असामाजिक तत्वों को बुलवाकर उनलोगों पर हमला कराया है. वेलोग कांग्रेस कार्यालय जा रहे थे. दफ्तर पहुंचने से पहले उनलोगों पर हमला कर दिया. 

इसे भी पढ़ें: जमशेदपुरः वॉइस ऑफ इंडिया फेम श्रद्धा दास बीजेपी में शामिल, कहा, सुखद अनुभूति

गौरतलब है कि बुधवार, 31 जुलाई को महानगर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह और राकेश सिन्हा को अनुशासनहीनता के आरोप में डॉ अजय ने पार्टी से छह साल के लिए निष्काषित कर दिया है.

इससे पहले वर्तमान महानगर अध्यक्ष संजय पांडेय ने 29 जुलाई को भी छह लोगों को पार्टी से बाहर किया है. वे छह लोग सुरेंद्र सिंह और राकेश सिन्हा के समर्थक रहे हैं. 

खबरों के मुताबिक राकेश सिन्हा और सुरेंद्र सिंह इस कार्रवाई के विरोध में अपने समर्थकों के साथ कांग्रेस कार्यालय जा रहे थे. इसी दौरान डॉ अजय कुमार के समर्थकों से उनकी भिड़ंत हो गई. हालात संभालने में पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी. 

इसी दौरान सुरेंद्र सिंह और राकेश सिन्हा सड़क पर ही बैठ गए. उन्होंने मीडिया से बातें की और इस घटना के लिए डॉ अजय को जिम्मेदार ठहराया. 

चार दिन पहले

29 जुलाई को 29 जुलाई को प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार रांची स्थित प्रदेश कार्यालय में जिला अध्यक्षों और जोनल कोर्डिनेटर की बैठक करने पहुंचे थे, तो उनके खिलाफ गो बैक के नारे लगे. उन्हें सीढ़ियों पर चढ़ने सो रोका जाता रहा. दफ्तर के सामने पुतला जलाया गया. नारेबाजी की गई.

इससे पहले लोकसभा चुनाव नतीजे के बाद पहली बार 8 जून को झारखंड पहुंचे कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह को रांची में कार्यकर्ताओं के उबाल का सामना करना पड़ा था. कांग्रेस भवन में प्रभारी के पहुंचने के साथ ही सुबोधकांत सहाय के समर्थक सुरेंद्र सिंह, राकेश सिन्हा समेत कई लोगों ने हो- हल्ला और नारेबाजी की कमान संभाल रखी थी. उस दिन भी 'डॉ अजय कुमार गो बैक' के नारे लगाए गए थे. 

पुलिस ने भांजी लाठियां, बीच-बचाव कर रहे पूर्व महानगर अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह

इन हालात में डॉ अजय कुमार और सुबोधकांत सहाय के समर्थकों मे तनातनी का माहौल बनता जा रहा था. 29 जुलाई को डॉ अजय कुमार ने कहा था कि अनुशासनहीनता के मामले में कार्रवाई करने के लिए जिला अध्यक्ष सक्षम हैं. 

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार के खिलाफ प्रदेश के कई शीर्ष नेताओं ने मोर्चा खोल रखा है. हाल ही में सुबोधकांत सहाय का सब्र भी टूटा और उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार के खिलाफ मीडिया में तल्ख टिप्पणी की.

फुरकान अंसारी, प्रदीप बलमुचू, इरफान अंसारी, चंद्रशेखर दूबे सरीखे नेता पहले ही प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ नाराजगी जाहिर कर चुके हैं. प्रदीप बलमुचू कहते हैं कि वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा जा सकता. 

इसे भी पढ़ें: स्टार खिलाड़ी सिंधू विश्व रैंकिंग में पांचवें, साइना आठवें स्थान पर बरकरार

जबकि डॉ अजय कुमार के समर्थन में कई जिला अध्यक्ष भी मोर्चा संभाले हुए हैं. और वे डॉ अजय को प्रदेश अध्यक्ष बनाए रखने की वकालत कर रहे हैं. 

बीच सड़क पर बैठ गए राकेश सिन्हा और सुरेंद्र सिंह

टकराहट का असर जमशेदपुर कांग्रेस में भी देखा जा रहा है. वहां प्रदीप कुमार बलमुचू और डॉ अजय कुमार के समर्थक आमने- सामने हो गए हैं. 

हाल ही में जमशेदपुर ंमें बलमुचू ने प्रेस कांफ्रेस करके कहा है कि वे हर हाल में घाटशिला से चुनाव लड़ेंगे. और डॉ अजय कुमार के नेतृत्व में झरखंड विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ा जा सकता. 

इस बीच कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर अजय कुमार ने मीडिया से कहा है, ''विरोध करने वालों से उनकी कोई व्यक्तिगत लड़ाई नहीं है. परिवारवाद को लेकर सिर्फ लड़ाई है. उन्‍होंने कहा कि परिवारवाद करने वाले लोगों को खुद भी टिकट चाहिए, बेटा को भी चाहिए और बेटी को भी टिकट चाहिए. कांग्रेस किसी की जागीर नहीं है. उन्‍होंने कहा कि मैं टूट सकता हूं, झुक नहीं सकता. उन्‍होंने कहा कि मैं ओछी राजनीति नहीं करता. सुबोधकांत सहाय ने भाड़े के लोगों से विरोध करवा रहे हैं. जो लोग विरोध कर रहे हैं सभी कही न कहीं लोभ के लिए विरोध कर रहे हैं. सभी काले कारनामे करते हैं, कोई कोयला का तो कोई और कुछ का''.

 

 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
उत्तर प्रदेश में 25 साल के युवक की मौत, देश भर में मरने वालों का आंकड़ा 35 तक पहुंचा
उत्तर प्रदेश में 25 साल के युवक की मौत, देश भर में मरने वालों का आंकड़ा 35 तक पहुंचा
बीजेपी बोली, झारखंड के धार्मिक स्थलों में ठहरे विदेशियों ने संक्रमण लाया और सरकार देखती रही
बीजेपी बोली, झारखंड के धार्मिक स्थलों में ठहरे विदेशियों ने संक्रमण लाया और सरकार देखती रही
निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन के बाद मेरठ और मुज्जफरनगर अलर्ट पर
निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन के बाद मेरठ और मुज्जफरनगर अलर्ट पर
कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री
कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री
प्रशांत किशोर ने कहा, नीतीश कुमार गद्दी छोड़ दें, जदयू का पलटवार, ट्वीट पर घटिया राजनीति मत करें
प्रशांत किशोर ने कहा, नीतीश कुमार गद्दी छोड़ दें, जदयू का पलटवार, ट्वीट पर घटिया राजनीति मत करें
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
 नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 32 हुई
नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 32 हुई
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था

Stay Connected

Facebook Google twitter