सुशांत केस में अब तो बिहार सरकार और पुलिस सक्रियता दिखाएः चिराग पासवान

सुशांत केस में अब तो बिहार सरकार और पुलिस सक्रियता दिखाएः चिराग पासवान
पीबी ब्यूरो ,   Jul 29, 2020

लोजपा के अध्यक्ष और सांसद चिराग पासवान ने कहा है कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार सरकार और पुलिस को पहले से एक्शन लेना चाहिए था. लेकिन यह नहीं हुआ. लेकिन अब केस दर्ज हो गया है. इसलिए बिहार की सरकार और पुलिस सक्रियता दिखाए. 

सुशांत सिंह राजपूत के पिता केक सिंह के द्वारा अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के खिलाफ पटना के राजीव नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराए जाने के बाद अब इस मामले में नया मोड़ आता दिख रहा है. 

एनडीटीवी से बातचीत में चिराग पासवान ने कहा है, ''अब मुंबई पुलिस के साथ-साथ बिहार पुलिस भी इस केस में शामिल है. बीती रात मैंने महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे से बातचीत की और उनसे अनुपरोध किया कि यह केस सीबीआई को सौंप दिया जाए. क्योंकि अलग-अलग एजेंसी से जांच कराने से अच्छा है कि केंद्रीय एजेंसी को ये केस दिया जाए, ताकि सच्चाई सामने आए. उद्धव ठाकरे ने मुझे ये भरोसा दिलाया कि हर एंगल से इस पर जांच हो रही है. कोई भी नाम इस केस में सामने आ रहा है तो पुलिस उससे पूछताछ कर रही है. सीबीआई जांच के संबंध में उन्होंने कहा कि जब जरूरत होगी तो जरूर केस को सीबीआई के हाथ में दिया जाएगा. लेकिन फिलहाल मुंबई पुलिस इसकी जांच कर रही है."

चिराग पासवान ने आगे कहा: "बिहार के एक होनहार युवा की मौत दूसरे राज्य में हुई है. इसलिए मैं चाहता हूं कि हमारी राज्य इस केस में ज्यादा एक्टिव रहे. मुझे समझ नहीं आ रहा है कि हमारे मुख्यमंत्री उद्वव ठाकरे से बात क्यों नहीं करते. सुशांत सिंह राजपूत सिर्फ हमारे बिहार में ही नहीं बल्कि पूरे देश में मशहूर थे. पूरी दुनिया में उनकी बड़ी फैन फॉलोइंग है. जब मैं महाराष्ट्र के सीएम से बात कर सकता हूं कि हमारी राज्य सरकार इस पर ज्यादा एक्टिव क्यों नहीं है. सुशांत केस पर राजनीति करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमारी बिल्कुल भी यह मंशा नहीं है. हम बस चाहते हैं कि केस की सही से जांच हो."

एक सवाल के जवाब में चिराग पासवान ने कहा, "ईमानदारी से कहूं, तो 'नेपोटिज़्म' पर कुछ भी कहने अधिकारी नहीं हूं, क्योंकि मैं खुद भी 'नेपोटिज़्म' की वजह से ही यहां हूं... लेकिन मेरे विचार में 'नेपोटिज़्म' नहीं, इसके लिए 'ग्रुपिज़्म' का इस्तेमाल किया जाना चाहिए... मैंने खुद ऐसा कतई अनुभव नहीं किया, लेकिन मुझे दोस्तों-परिचितों से मिली जानकारी के मुताबिक, 'ग्रुपिज़्म' होता है, और उसे खत्म किया जाना चाहिए, जो स्वतंत्र जांच से ही मुमकिन है..."

इसे भी पढ़ें: जानिए सब कुछः नई शिक्षा नीति क्या है और एमएचआरडी अब होगा शिक्षा मंत्रालय

 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
 जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?

Stay Connected

Facebook Google twitter