चकाई से निर्दलीय जीते सुमित ने देवघर में जल चढ़ाया, बाराचट्टी की ज्योति पहुंचीं भद्रकाली इटखोरी

चकाई से निर्दलीय जीते सुमित ने देवघर में जल चढ़ाया, बाराचट्टी की ज्योति पहुंचीं भद्रकाली इटखोरी
पीबी ब्यूरो ,   Nov 11, 2020

बिहार में चकाई विधानसभा सीट से निर्दलीय चुनाव जीते सुमित कुमार सिंह ने आज देवघर स्थित बाबा बैद्यनाथ के मंदिर में जल चढ़ाया और पूजा अर्चना की. 

सुमति कुमार सिंह बिहार से निर्दलीय चुनाव जीतने वाले अकेले उम्मीदवार हैं. वे बिहार के पूर्व कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह के छोटे पुत्र हैं. उन्होंने इस बार चकाई में राजद की सावित्री देवी को कड़े मुकाबले में 518 वोटों से हराया है. 

205 में सावित्री देवी ने चकाई सीट पर कब्जा जमाया था. इससे पहले 2010 में सुमति कुमार सिंह झारखंड मुक्ति मोर्चा के टिकट से चुनाव जीते थे. बाद में उन्होंने जदयू को समर्थन दे दिया. 

बिहार में नतीजे आने के बाद एनडीए को पूर्ण बहुमत मिला है. जबकि 110 सीटों के साथ गठबंधन मजबूत विपक्ष के तौर पर सामने है. 

देवघर चकाई की बिल्कुल सीमा पर है. सुमित कुमार सिंह और उनके परिजनों का बाबा मंदिर आना- जाना लगा रहता है. 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस के कमजोर प्रदर्शन से गठबंधन की सरकार नहीं बनी, बिहार में ओवैसी की इंट्री ठीक नहीं- तारिक अनवर

उनका कहना है कि बाबा बैद्यनाथ का नाम लेकर ही वे चुनावी समर में निर्दलीय उतरे थे. हमने बाबा बैद्यनाथ से सोनो-चकाई, जमुई समेत प्रदेश की जनता के सुख, समृद्धि, शांति एवं खुशहाली के लिए प्रार्थना किया है. 

इससे पहले देवघर जाने के दौरान चकाई मोड़ पर बड़ी संख्या में उपस्थित समर्थकों ने उनका जोरदार स्वागत किया.

उधर गया जिले में बाराचट्टी विधानसभा सीट से चुनाव जीती हिंदुस्तानी अवामी मोर्चा (हम) की ज्योति मांझी अपने समर्थकों के साथ बुधवार को झारखंड में इटखोरी स्थित मां भद्रकाली मंदिर में पूजा अर्चना की. बाराचट्टी चतरा की सीमा से लगा है. 

अपनी जीत पर खुशी जाहिर करते हुए ज्योति मांझी ने क्षेत्र की जनता के प्रति आभार व्यक्त किया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि मां से यह मन्नत मांगने आई हूं कि मुझे अहंकारी मत बनने देना, ताकि एक सेवक की तरह जनता का काम करती रहूं.

उन्होंने यह भी कहा कि बिहार को नीतीश कुमार की जरूरत है. उनमें नेतृत्व की क्षमता है. एनडीए ही बिहार और झारखंड का विकास किया है और आगे भी करेगा.

ज्योति देवी ने बाराचट्टी विधानसभा क्षेत्र से दूसरी बार जीत हासिल की हैं. और वे जीतन राम मांझी की समधन भी हैं.

इससे पहले उन्होंने 2010 में जदयू के टिकट पर जीत दर्ज की थी. इस बार  हिंदुस्तानी अवामी मोर्चा से मैदान में उतरी. 

उन्होंने राजद की समता देवी को 6318 वोटों से हराया है. साथ ही 2015 में हुई हार का बदला चुकाया है. 

मंगलवार की शाम चुनाव जीतने के बाद ज्योति देवी मतगणना केंद्र से अपने समधी और हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी से आशीर्वाद लेने पहुंचीं थीं.

जीतनराम मांझी ने इस बार इमामगंज से जीत दर्ज की है.

इसे भी पढ़ें: बेरमो उपचुनावः कांग्रेस के जयमंगल का हुआ 'मंगल', बीजेपी को फिर हार का मुंह देखना पड़ा


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कांग्रेस के कद्दावर नेता अहमद पटेल का निधन
कांग्रेस के कद्दावर नेता अहमद पटेल का निधन
बिहार में स्पीकर का चुनाव: भाजपा के विजय सिन्हा के मुकाबले राजद ने अवध बिहारी चौधरी को उतारा
बिहार में स्पीकर का चुनाव: भाजपा के विजय सिन्हा के मुकाबले राजद ने अवध बिहारी चौधरी को उतारा
कंगना की गिरफ्तारी पर मुंबई हाईकोर्ट ने लगाई रोक
कंगना की गिरफ्तारी पर मुंबई हाईकोर्ट ने लगाई रोक
बिहार: एआईएमआईएम के विधायक ने शपथ में हिन्दुस्तान शब्द नहीं पढ़ा, बीजेपी बोली, पाकिस्तान चले  जाएं
बिहार: एआईएमआईएम के विधायक ने शपथ में हिन्दुस्तान शब्द नहीं पढ़ा, बीजेपी बोली, पाकिस्तान चले जाएं
असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरूण गोगोई का निधन
असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरूण गोगोई का निधन
क्यों सुर्खियों में है कोडरमा के उपायुक्त रमेश घोलप का एक पोस्ट, 'जब मां मेरे ऑफिस में आई थी'
क्यों सुर्खियों में है कोडरमा के उपायुक्त रमेश घोलप का एक पोस्ट, 'जब मां मेरे ऑफिस में आई थी'
राजद ने पूछा, सीएम नीतीश कुमार के नवरत्नों में भ्रष्टाचारी ही क्यों हैं?
राजद ने पूछा, सीएम नीतीश कुमार के नवरत्नों में भ्रष्टाचारी ही क्यों हैं?
कांग्रेस के सहयोग से गुपकार संगठन के लोग देश को अलगाव में झोंक रहे हैं : नित्यानंद राय
कांग्रेस के सहयोग से गुपकार संगठन के लोग देश को अलगाव में झोंक रहे हैं : नित्यानंद राय
ड्रग्स मामले में एनसीबी का शिकंजाः कॉमेडियन भारती सिंह के बाद पति हर्ष भी गिरफ्तार
ड्रग्स मामले में एनसीबी का शिकंजाः कॉमेडियन भारती सिंह के बाद पति हर्ष भी गिरफ्तार
प्यार में 'जिहाद' की कोई जगह नहीं, बांटने के लिए भाजपा ने गढ़ा 'लव जिहाद' शब्द : अशोक गहलोत
प्यार में 'जिहाद' की कोई जगह नहीं, बांटने के लिए भाजपा ने गढ़ा 'लव जिहाद' शब्द : अशोक गहलोत

Stay Connected

Facebook Google twitter