बागमुंडी में सुदेश की रैली, कहा, कोलाकाता से शासन करने वालों ने जंगल महल का दर्द नहीं जाना

बागमुंडी में सुदेश की रैली, कहा, कोलाकाता से शासन करने वालों ने जंगल महल का दर्द नहीं जाना
पीबी ब्यूरो ,   Jan 25, 2021

आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने कहा है कि कोलकाता से शासन करने वालों ने कभी पश्चिम बंगाल के पिछड़े इलाके जंगल महल का दर्द नहीं जाना. यहां के विषयों को नहीं समझा. लोगों की भावना की अनदेखी की. 

पुरूलिया के बागमुंडी में रविवार को आजसू पार्टी की रैली में सुदेश कुमार महतो ने फिर मानभूम - जंगलमहल क्षेत्रीय प्रशासन- (एमजीटीए) के अविलंब गठन पर जोर दिया. 

इसके  साथ ही उन्होंने कहा कि इस इलाके के राजनीतिक, सामाजिक, और आर्थिक पहचान तथा तरक्की के लिए आजसू एमजीटीए की वकालत करती है. और इसे पाने के लिए संघर्ष को मुकाम तक ले जाने के  लिए तैयार है. 

पिछले पांच जनवरी को पुरूलिया में पार्टी की सभा में भी सुदेश ने एमजीटीए गठन पर  जोर दिया था. 

बागमुंडी के लहरिया में सुदेश कुमार महतो ने कहा कि पश्चिम बंगाल का जंगल महल इलाका दशकों से सबसे उपेक्षित क्षेत्र रहा है. यहां सरकारें कई आई- गई, लेकिन जंगल महल का यह क्षेत्र-बांकुड़ा, झाड़ग्राम, मिदनापुर, पुरुलिया हाशिये पर रहा.

इसे भी पढ़ें: राहुल का बड़ा आरोप, प्रधानमंत्री के जरिए अर्नब को मिली थी बालाकोट एयर स्ट्राइक की जानकारी

यही वजह है कि कोलकाता में बैठे शासकों पर इस इलाके के लोगों का भरोसा खत्म हो गया है. 

उन्होंने कहा, ''वृहद झारखंड की लड़ाई में इस इलाके के लोगों की अहम भागदारी रही है. आजसू पार्टी सिर्फ चुनाव लड़ने की हिमायती नहीं रही है. हम चाहते हैं कि इस इलाके के लोगों का दर्द बांटा जाए. विकास की किरणें लोगों तक पहुंचे. यहां के विषयों को तवज्जो दिए जाएं. ''

गौरतलब है कि आजसू पार्टी बंगाल चुनाव लड़ने की तैयारी में है और पुरूलिया, बांकुड़ा की सीटों पर उसकी सीधी नजर है. 

बागमुंडी की सभा में झारखंड सरकार के पूर्व मंत्री रामचंद्र सहिस, उमाकांत रजक, पार्टी के बंगाल प्रभारी सुनील कुमार सिंह, मुकुंद मेहता, धीरेन रजक मुख्य तौर पर मौजूद थे. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल के साथ कांग्रेस विधायकों ने की हाथापाई, पांच विधायक निलंबित
हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल के साथ कांग्रेस विधायकों ने की हाथापाई, पांच विधायक निलंबित
पश्चिम बंगाल में 27 मार्च से आठ चरणों में होगा चुनाव, तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी में 6 अप्रैल को मतदान
पश्चिम बंगाल में 27 मार्च से आठ चरणों में होगा चुनाव, तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी में 6 अप्रैल को मतदान
पलामू में पुलिस के साथ मुठभेड़, जेजेएमपी का एरिया कमांडर मारा गया
पलामू में पुलिस के साथ मुठभेड़, जेजेएमपी का एरिया कमांडर मारा गया
पलामू में पुलिस के साथ मुठभेड़, जेजेएमपी का एरिया कमांडर मारा गया
पलामू में पुलिस के साथ मुठभेड़, जेजेएमपी का एरिया कमांडर मारा गया
केजरीवाल गुजरात में करेंगे रोड शो, निकाय चुनाव में आप की इंट्री से गदगद
केजरीवाल गुजरात में करेंगे रोड शो, निकाय चुनाव में आप की इंट्री से गदगद
टूलकिट केस: दिशा रवि को मिली जमानत, कोर्ट ने कहा- हानिरहित टूलकिट का संपादन गुनाह नहीं
टूलकिट केस: दिशा रवि को मिली जमानत, कोर्ट ने कहा- हानिरहित टूलकिट का संपादन गुनाह नहीं
 कोयला चोरी मामला: ममता बनर्जी की बहू रूजिरा से सीबीआई ने की लंबी पूछताछ
कोयला चोरी मामला: ममता बनर्जी की बहू रूजिरा से सीबीआई ने की लंबी पूछताछ
हजारीबाग में हाथियों का कहर, दो लोगों को पटक कर मार डाला
हजारीबाग में हाथियों का कहर, दो लोगों को पटक कर मार डाला
चीन ने पहली दफा माना, गलवान घाटी में हुए संघर्ष में उसके पांच सैनिक मारे गए थे
चीन ने पहली दफा माना, गलवान घाटी में हुए संघर्ष में उसके पांच सैनिक मारे गए थे
झारखंड: कोल कंपनी को बड़कागांव के रैयतों की 57 एकड़ जमीन वापस‌ करने का आदेश
झारखंड: कोल कंपनी को बड़कागांव के रैयतों की 57 एकड़ जमीन वापस‌ करने का आदेश

Stay Connected

Facebook Google twitter