सोनिया गांधी, राहुल और प्रियंका की एसपीजी सुरक्षा वापस

सोनिया गांधी, राहुल और प्रियंका की एसपीजी सुरक्षा वापस
पीबी ब्यूरो ,   Nov 09, 2019

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उनके बेटे राहुल और बेटी प्रियंका से 28 साल बाद एसपीजी सुरक्षा वापस ली जाएगी और इसके बजाय उन्हें सीआरपीएफ की ‘जेड प्लस’ सुरक्षा दी जाएगी. गांधी परिवार को जेड-प्लस सुरक्षा मिलती रहेगी. 

नियमों के तहत एसपीजी सुरक्षा प्राप्त लोगों को सुरक्षाकर्मी, उच्च तकनीक से लैस वाहन, जैमर और उनके कारों के काफिले में एक एम्बुलेंस मिलती है.

भाषा के मुताबिक गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के परिवार को दी गयी एसपीजी सुरक्षा वापस लेने का फैसला एक विस्तृत सुरक्षा आकलन के बाद लिया गया. लिट्टे के आतंकवादियों ने 21 मई 1991 को राजीव गांधी की हत्या कर दी थी.

इस फैसले के साथ करीब 3,000 बल वाला एसजीपी अब केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में तैनात रहेगा.

एक अधिकारी ने बताया कि सभी वीआईपी की सुरक्षा की समय-समय पर समीक्षा की जाती है और देश में विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों द्वारा खतरे के आकलन के आधार पर सिफारिशें की जाती हैं.

इसे भी पढ़ें: अयोध्या फैसले के बाद सप्ताह भर अलर्ट पर झारखंड, राजधानी रांची में 11 की सुबह तक धारा 144

फैसले के पीछे की वजह बताते हुए एक अन्य अधिकारी ने कहा कि उन पर पहले के मुकाबले कम खतरा है और गांधी परिवार के समक्ष सुरक्षा का कोई गंभीर खतरा नहीं है.

गांधी परिवार 28 साल बाद बिना एसजीपी सुरक्षा के रहेगा. उन्हें सितंबर 1991 में 1988 के एसजीपी कानून के संशोधन के बाद वीवीआईपी सुरक्षा सूची में शामिल किया गया था.

अधिकारी ने बताया कि गांधी परिवार की सुरक्षा सीआरपीएफ जवान करेंगे. जेड प्लस सुरक्षा में उन्हें अपने घर और देशभर में जहां भी वे यात्रा करेंगे, वहां के अलावा उनके नजदीक अर्द्धसैन्य बल के कमांडो की सुरक्षा मिलेगी.

सरकार ने इस साल अगस्त में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की एसपीजी सुरक्षा हटायी थी.

संसद द्वारा 1988 में लागू एसपीजी कानून को शुरुआत में केवल देश के प्रधानमंत्री और 10 वर्षों के लिए पूर्व प्रधानमंत्रियों को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए बनाया गया था. 2003 में कानून में संशोधन किया गया और 10 साल की अवधि घटाकर एक साल कर दी गई.


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी का निधन, पार्टी स्तब्ध
कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी का निधन, पार्टी स्तब्ध
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?
फेसबुक पोस्ट को लेकर बेंगलुरु में भड़की हिंसा, पुलिस फायरिंग में तीन की मौत
फेसबुक पोस्ट को लेकर बेंगलुरु में भड़की हिंसा, पुलिस फायरिंग में तीन की मौत
मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन, कोरोना वायरस से संक्रमित थे
मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन, कोरोना वायरस से संक्रमित थे
कितना भी मैं किसी का विरोध करूं, भाषा की मर्यादा कभी नहीं तोड़ताः सचिन
कितना भी मैं किसी का विरोध करूं, भाषा की मर्यादा कभी नहीं तोड़ताः सचिन
रांची के निकट ओरमांझी में ट्रक पर जा रहे 35 लाख रुपए की अफीम और डोडा बरामद
रांची के निकट ओरमांझी में ट्रक पर जा रहे 35 लाख रुपए की अफीम और डोडा बरामद
दस राज्यों में कोरोना को हरा देते हैं, तो देश भी जीत जाएगाः पीएम मोदी
दस राज्यों में कोरोना को हरा देते हैं, तो देश भी जीत जाएगाः पीएम मोदी
राजस्थानः कांग्रेस में बंवडर थमने की उम्मीद, सचिन की बात सुनने के लिए तीन सदस्यीय कमेटी
राजस्थानः कांग्रेस में बंवडर थमने की उम्मीद, सचिन की बात सुनने के लिए तीन सदस्यीय कमेटी
झारखंड में बेरोजगारी बड़ी चुनौती, हम इससे निपटेंगेः हेमंत सोरेन
झारखंड में बेरोजगारी बड़ी चुनौती, हम इससे निपटेंगेः हेमंत सोरेन

Stay Connected

Facebook Google twitter