समाज/साहित्य

शहर जमशेदपुरः नामकरण के सौ साल, जानें खास बातें

शहर जमशेदपुरः नामकरण के सौ साल, जानें खास बातें

पीबी ब्यूरो Posted at: Jan 2 , 2019

जमशेदपुर शहर दो जनवरी को अपने नामकरण के सौ साल पूरे कर रहा है. इस मौके पर टाटा स्टील बुधवार को एक डाक टिकट भी जारी कर रही है.

Read More »

खरसावां गोलीकांडः क्यों काला दिवस मना रहे आदिवासी युवा?

खरसावां गोलीकांडः क्यों काला दिवस मना रहे आदिवासी युवा?

पीबी ब्यूरो Posted at: Jan 1 , 2019

खरसावां और कलिंगनगर गोलीकांड के विरोध में आदिवासी युवा एक और दो जनवरी को काला दिवस मना रहे हैं. सोमवार की शाम लौहनगरी जमशेदपुर में युवाओं ने आम बगान से…

Read More »

कोचांगः गैंगरेप और पत्थलगड़ी के बाद क्या छटने लगा है खौफ का साया?

कोचांगः गैंगरेप और पत्थलगड़ी के बाद क्या छटने लगा है खौफ का साया?

पीबी ब्यूरो Posted at: Dec 31 , 2018

खूंटी में कोचांग और इसके आसपास के गांवों के आदिवासी खौफ के साए से बाहर निकलने की कोशिशों में जुटे हैं. गांव के बड़े- बुजुर्ग भी चाहते हैं कि आदिवासियों…

Read More »

 मिर्जा गालिब की हवेली बारास्ता गली कासिमजान

मिर्जा गालिब की हवेली बारास्ता गली कासिमजान

उमेश कुमार राय Posted at: Dec 27 , 2018

मिर्ज़ा असद-उल्लाह बेग ख़ां उर्फ ग़ालिब का आज जन्म दिन है. वे उर्दू एवं फारसी भाषा के महान शायर थे। फारसी कविता के प्रवाह को हिन्दुस्तानी जुबान में बान में…

Read More »

सोशलः कोलेबिरा में संतोषी की जीत...

सोशलः कोलेबिरा में संतोषी की जीत...

पीबी ब्यूरो Posted at: Dec 24 , 2018

कोलेबिरा विधानसभा उपचुनाव में संतोषी की जीत हुई है, जो भात की आस में तड़प-तड़प कर मर गई. यह जीत उन गरीब आदिवासियों की है जिनकी जमीन छीनी जा रही…

Read More »

ये नवजात की लाश न लावारिस है, न अज्ञात...

ये नवजात की लाश न लावारिस है, न अज्ञात...

मोनिका आर्य Posted at: Dec 15 , 2018

देश हो या प्रदेश, नवजात की लाशों का मिलना बदस्तूर जारी है. नाजायज कहकर खारिज कर दिया जाता है. लेकिन न तो ये लावारिस होती हैं और न ही अज्ञात, क्योंकि…

Read More »

लगानः टाना भगतों के संघर्ष और सब्र का लंबा इम्तिहान

लगानः टाना भगतों के संघर्ष और सब्र का लंबा इम्तिहान

पीबी ब्यूरो Posted at: Dec 14 , 2018

दुख सहने की तो आदत सी बनी है, पर संघर्ष से मुंह मोड़ना गवारा नहीं. सवाल एक रुपये का नहीं है. ये उसूलों की लड़ाई है. हमारे पुरखों ने भी…

Read More »