किस पार्टी से जुड़ने जा रहा हूं, इसकी घोषणा 22 मार्च को करूंगाः शत्रुघ्न सिन्हा

किस पार्टी से जुड़ने जा रहा हूं, इसकी घोषणा 22 मार्च को करूंगाः शत्रुघ्न सिन्हा
पीबी ब्यूरो ,   Mar 13, 2019

बीजेपी के बागी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा है कि आगामी 22 मार्च को वह बताएंगे कि किस दल से जुड़ने जा रहे हैं. इस बारे में कोई और अटकलें आवश्यक नहीं हैं.  

द हिन्दुस्तान टाइम्स के मुताबिकउनका यह भी कहना है, ''मैं इस बारे में 22 मार्च को घोषणा करूंगा. मैं अपने भाई-बहनों और शुभचिंतकों के बीच रहना चाहता हूं इसलिए मैंने यह भी तय किया है कि पार्टी कोई भी हो लेकिन चुनाव पटना साहिब संसदीय सीट से ही लड़ूंगा.''

पटना साहिब में 19 मई को वोट डाले जाएंगे. 

शत्रुघ्न सिन्हा ने जोर देकर कहा है कि वह किसी भी परिस्थिति में अपने निर्वाचन क्षेत्र को नहीं बदलेंगे. पटना साहिब लोगों के साथ लंबे समय तक जुड़े रहने के कारण वे उनके दिल के करीब हैं. 

2014 का चुनाव अभिनेता से नेता बने शत्रुग्न  सिन्हा ने 2014 में पटना साहिब सीट पर जेडी (यू) के उम्मीदवार गोपाल प्रसाद सिन्हा को वोटों के बड़े अंतर से हराया था. जबकि 2009 में भी कांग्रेस के शेखर सुमन को करारी शिकस्त दी थी. वे पूर्केंव में केंद्र सरकार में मंत्री भी रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: चुनाव आयोग की नजरः फेसबुक से कहा, बीजेपी विधायक के अभिनंदन की तस्वीर वाले पोस्टर हटाएं

लेकिन पिछले कुछ साल से बीजेपी के साथ उनके संबधों में खटास आई है. 

इसके अलावा विपक्षी दलों के नेताओं के कार्यक्रम तथा सभा में मंच साझा करते रहे हैं. नरेंद्र मोदी सरकार के कई फैसले और नीतियों पर भी वे अक्सर सवाल खड़े करते रहे हैं. कई मौके पर उनका रुख आक्रामक होता है. इसी महीने तीन फरवरी को पटना में एनडीए की रैली में शत्रुघ्न सिन्हा को नहीं बुलाया गया था. 

तब उन्होंने कहा था कि मुझे बुलाया नहीं गया और न ही मेरी कोई रूची थी. हाल के दिनों में शत्रुघ्न सिन्हा लालू प्रसाद और उनकी पत्नी राबड़ी देवी पुत्र तेजस्वी यादव से भी मुलाकात की है. हालांकि इन मुलाकातों को वे निहायत पारिवारिक संबंधों से जोड़ते रहे हैं. लेकिन कई मौके पर वे तेजस्वी यादव और राहुल गांधी की तारीफ करते रहे हैं. 

अब वे कांग्रेस में जाएंगे या राजद में इसका सभी को इंतजार है. लेकिन शत्रुघ्न सिन्हा सभी समीकरणों और दलों को साधते हुए ही कोई कदम उठाना चाहते हैं. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
कोरोना तेरे कारणः 124 वर्षों में पहली बार रद्द की गई बोस्टन मैराथन
कोरोना तेरे कारणः 124 वर्षों में पहली बार रद्द की गई बोस्टन मैराथन
मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: देश के नाम चिट्ठी में पीएम बोले- हमें अपने पैरों पर खड़ा होना होगा
मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: देश के नाम चिट्ठी में पीएम बोले- हमें अपने पैरों पर खड़ा होना होगा
झारखंडः 3 लाख 58 हजार लोग अब तक वापस लौटे, प्रवासी मजदूरों का डेटाबेस तैयार करा रही सरकार
झारखंडः 3 लाख 58 हजार लोग अब तक वापस लौटे, प्रवासी मजदूरों का डेटाबेस तैयार करा रही सरकार
ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दी मंदिर-मस्जिद खोलने की इजाजत
ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दी मंदिर-मस्जिद खोलने की इजाजत
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी का निधन
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी का निधन
चीन के साथ ताजा सीमा विवाद को लेकर नरेंद्र मोदी का मूड अच्छा नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप
चीन के साथ ताजा सीमा विवाद को लेकर नरेंद्र मोदी का मूड अच्छा नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप
लॉकडाउन के बाद गेंदबाजों के लिए लय हासिल करना मुश्किल होगा : ब्रेट ली
लॉकडाउन के बाद गेंदबाजों के लिए लय हासिल करना मुश्किल होगा : ब्रेट ली
शिक्षा मंत्री पहले अपने काम और कद को समझें, बाहर कुछ कहते हैं अंदर कुछः चंद्रप्रकाश चौधरी
शिक्षा मंत्री पहले अपने काम और कद को समझें, बाहर कुछ कहते हैं अंदर कुछः चंद्रप्रकाश चौधरी
रांचीः क्वारंटाइन में रहने के बाद गांधीनगर अस्पताल के डॉक्टर, नर्स ने फिर संभाला मोर्चा
रांचीः क्वारंटाइन में रहने के बाद गांधीनगर अस्पताल के डॉक्टर, नर्स ने फिर संभाला मोर्चा

Stay Connected

Facebook Google twitter