भारत की सात दवा कंपनियां कोरोना वैक्सीन बनाने की रेस में शामिल

भारत की सात दवा कंपनियां कोरोना वैक्सीन बनाने की रेस में शामिल
पीबी ब्यूरो ,   Jul 20, 2020

कोरोना वायरस का संक्रमण देश- दुनिया में तूफानी तौर पर बढ़ता जा रहा है. हर जगह इसकी दवा या टीका बनाने पर जोर-शोर से काम चल रहा है. विभिन्न स्तरों पर शोध जारी है. और तमाम दावे किए जा रहे है. 

इन सबके बीच सातभारतीय फार्मा कंपनियां इस समय कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में जुटी हैं. 

इन कंपनियों में भारत बायोटेक, सीरम इंस्टीट्यूट, जायडस कैडिला, पेनेसिया बायोटेक, इंडियन इम्यूनोलॉजिकल्स, मिनवैक्स और बायोलॉजिकल ई शामिल हैं.

आमतौर पर किसी बीमारी की दवा के वैक्सीन का परीक्षण करने और विकसित करने में कुछ साल का वक्त लगता है, लेकिन कोरोना की आपदा को देखते हुए वैज्ञानिक कोरोना वायरस के लिए कुछ महीने में ही वैक्सीन विकसित करने का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं.

भारत बायोटेक को कोवैक्सिन के नाम से विकसित टीके के क्लीनिकल ट्रायल की मंजूरी मिल चुकी है.

इसे भी पढ़ें: सचिन पायलट पर अशोक गहलोत का तीखा हमला, बोले, 'वो निकम्मा और नकारा था'

पिछले हफ्ते इसका क्लीनिकल ट्रायल शुरू किया गया. सेरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने भी इस साल के आखिर तक कोरोना का टीका विकसित कर लेने की उम्मीद जताई है.

सेरम इंस्टीट्यूट के सीईओ अडार पूनावाला ने कहा, "अभी हम एस्ट्राजेनेका ऑक्सफोर्ड वैक्सीन पर काम कर रहे हैं. इसके तीसरे चरण का क्लिनिकल ट्रायल चल रहा है." पूनावाला ने बताया कि सेरम इंस्टीट्यूट ने कोरोना का एक अरब टीका बनाने और उनकी आपूर्ति के लिए एस्ट्राजेनेका से साझेदारी की है.

इस टीके को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने विकसित किया है. सेरम इंस्टीट्यूट अमेरिका की बायोटेक फर्म कोडाजेनिक्स के साथ मिलकर भी एक टीके पर काम कर रही है.

यह टीका अपने प्री-क्लिनिकल ट्रायल के चरण में है, साथ ही दुनिया के कुछ और संस्थानों के साथ भी मिलकर कंपनी इस दिशा में काम कर रही है.

भारत की एक और दवा कंपनी जायडस कैडिला ने भी जायको वी-डी के नाम से तैयार टीके का क्लिनिकल ट्रायल शुरू कर दिया है.

जायडस ने सात महीने में क्लिनिकल ट्रायल पूरा होने की उम्मीद जताई है.

हैदराबाद की भारत बायोटेक ने रोहतक के पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में क्लिनिकल ट्रायल शुरू किया है.

कंपनी ने यह टीका इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के साथ मिलकर विकसित किया है.


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
 जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?

Stay Connected

Facebook Google twitter