भारत के ‘हिंदू राष्ट्र’ होने को लेकर संघ अडिगः मोहन भागवत

भारत के ‘हिंदू राष्ट्र’ होने को लेकर संघ अडिगः मोहन भागवत
Twitter - RSS
पीबी ब्यूरो ,   Oct 08, 2019

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने महाराष्ट्र के नागपुर शहर में मंगलवार को विजयादशमी के मौके पर ‘शस्त्र पूजा’ की. इस मौके पर स्वयंसेवकों के पथ संचलन के बाद संघ के बैंड ने प्रस्तुति दी. दशहरे का त्यौहार सरसंघचालकों के लिए काफी मायने रखता है क्योंकि इसी दिन 1925 में संघ की स्थापना हुई थी. 

इस वार्षिक समारोह में एचसीएल के संस्थापक शिव नादर मुख्य अतिथि हैं. कार्यक्रम के तहत सबसे पहले बजे संघ मुख्यालय से स्वयंसेवकों ने पथ संचालन किया.

इसके बाद संघ की परंपरा के मुताबिक शस्त्र पूजन किया गया और सरसंघचालक मोहन भागवत ने शस्त्र पूजन की विधि पूरी की. शस्त्र पूजन के बाद कार्यक्रम के प्रमुख अतिथि शिव नादर का स्वागत किया गया.

इस मौके पर मोहन भागवत ने  कहा कि संघ अपने इस नजरिये पर अडिग है कि “भारत एक हिंदू राष्ट्र” है.

नागपुर के रेशमीबाग में संघ के विजयदशमी उत्सव के दौरान अपने संबोधन में सरसंघचालक ने कहा कि राष्ट्र के वैभव और शांति के लिये काम कर रहे सभी भारतीय “हिंदू” हैं.

इसे भी पढ़ें: देश के कई हिस्सों में बाढ़ की वजह है अनियोजित विकास, स्मार्ट सिटी से दूर होगी समस्या : जावड़ेकर

उन्होंने कहा, “संघ की अपने राष्ट्र की पहचान के बारे में, हम सबकी सामूहिक पहचान के बारे में, हमारे देश के स्वभाव की पहचान के बारे में स्पष्ट दृष्टि व घोषणा है, वह सुविचारित व अडिग है, कि भारत हिंदुस्तान, हिंदू राष्ट्र है.”

भागवत ने कहा, “जो भारत के हैं, जो भारतीय पूर्वजों के वंशज हैं तथा सभी विविधताओं का स्वीकार, सम्मान व स्वागत करते हुए आपस में मिलजुल कर देश का वैभव तथा मानवता में शांति बढ़ाने का काम करने में जुट जाते हैं वे सभी भारतीय हिंदू हैं.”

इसके साथ ही मोहन भागवत ने आरएसएस के कार्यों की विस्तार से चर्चा की. साथ ही नरेंद्र मोदी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि बहुत दिनों बाद देश में कुछ अच्छा हो रहा है. देश की सुरक्षा पहले से ज्यादा बढ़ी है. 

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि बहुत दिनों बाद लगा कि देश में कुछ बदलने लगा है और पहली बार साहसी फैसले लेने वाली सरकार आई है. नई सरकार को बढ़ी हुई संख्या में फिर से चुनकर समाज ने उनके पिछले कार्यों की सम्मति व आने वाले समय के लिए बहुत सारी अपेक्षाओं को जाहिर किया था.

मोहन भागवत ने कहा कि पिछले कुछ सालों में भारत की सोच की दिशा में एक बदलाव आया है. उसको न चाहने वाले व्यक्ति दुनिया में भी हैं और भारत में भी मौजूद हैं. हालांकि भारत को बढ़ता हुआ देखना जिनके स्वार्थों के लिए डर पैदा करता है,ऐसी शक्तियां भी भारत को दृढ़ता व शक्ति से संपन्न होने नहीं देना चाहती हैं.

मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर मोहन भागवत ने कहा, 'मॉब लिंचिंग जैसी घटनाओं से संघ का कोई लेना-देना नहीं होता. पर इस सबको तरह-तरह से पेश करके, उसे मुद्दा बनाने का काम चल रहा है. ये एक साजिश है, जो सभी को समझना चाहिए.'  उन्होंने कहा, ''सारे देश और हिंदू समाज को सर्वत्र बदनाम करने का प्रयास शुरू किया जा रहा है. संघ के स्वयंसेवक किसी को मारने नहीं बल्कि बचाने जाएंगे''.

भागवत ने कहा, 'ऐसी घटनाओं को रोकना हर किसी की जिम्मेदारी है. कानून व्यवस्था की सीमा का उल्लंघन कर हिंसा की प्रवृत्ति समाज में परस्पर संबंधों को नष्ट कर अपना प्रताप दिखाती है. यह प्रवृत्ति हमारे देश की परंपरा नहीं है, न ही हमारे संविधान में यह है. कितना भी मतभेद हो, कानून और संविधान की मर्यादा में रहें. न्याय व्यवस्था में चलना पड़ेगा.'

समारोह के मुख्य अतिथि शिव नादर ने कार्यक्रम को संबोधित किया. शिव नादर ने सभी को विजयादशमी की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि वो इस उत्सव में शामिल होकर सम्मानित महसूस कर रहे हैं. उन्होंने ये भी कहा कि आरएसएस के कार्यकर्ताओं की ऊर्जा से रेशमीबाग जीवंत हो उठा.  

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, जनरल (सेवानिवृत्त) वी. के. सिंह और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस भी इस सामारोह में मौजूद रहे. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

पीएम मोदी ने अभिजीत बनर्जी से मुलाकात की, बोले, भारत को उनकी उपलब्धियों पर गर्व है
पीएम मोदी ने अभिजीत बनर्जी से मुलाकात की, बोले, भारत को उनकी उपलब्धियों पर गर्व है
आईएनएक्स मीडिया मामले में पी चिदंबरम को मिली जमानत
आईएनएक्स मीडिया मामले में पी चिदंबरम को मिली जमानत
राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवादः कोर्ट ने मुस्लिम पक्षकारों को लिखित नोट दाखिल करने की अनुमति दी
राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवादः कोर्ट ने मुस्लिम पक्षकारों को लिखित नोट दाखिल करने की अनुमति दी
महाराष्ट्र और हरियाणा में डाले जा रहे वोट, जानें दस अहम बातें
महाराष्ट्र और हरियाणा में डाले जा रहे वोट, जानें दस अहम बातें
कुंडली देख लें, टाटा हॉस्पिटल में मेरा जन्म हुआ है, हेमंत से ज्यादा झारखंडी हूं- रघुवर दास
कुंडली देख लें, टाटा हॉस्पिटल में मेरा जन्म हुआ है, हेमंत से ज्यादा झारखंडी हूं- रघुवर दास
जेएमएम की बदलाव रैली मे गरजे हेमंत, घमंड में चूर रघुवर दास का खेल अब खत्म होगा
जेएमएम की बदलाव रैली मे गरजे हेमंत, घमंड में चूर रघुवर दास का खेल अब खत्म होगा
'करतारपुर साहिब' को 70 साल तक दूरबीन से देखना पड़ा, अब दूरी खत्म होने वाली हैः नरेंद्र मोदी
'करतारपुर साहिब' को 70 साल तक दूरबीन से देखना पड़ा, अब दूरी खत्म होने वाली हैः नरेंद्र मोदी
जेएमएम का आरोप, पुलिस ने दागी जन प्रतिनिधियों के ब्योरे में सीएम और मंत्रियों के नाम छिपाए
जेएमएम का आरोप, पुलिस ने दागी जन प्रतिनिधियों के ब्योरे में सीएम और मंत्रियों के नाम छिपाए
आर्थिक मंदी से निपटने के लिए सरकार को कांग्रेस के घोषणापत्र से विचार चुराना चाहिए : राहुल गांधी
आर्थिक मंदी से निपटने के लिए सरकार को कांग्रेस के घोषणापत्र से विचार चुराना चाहिए : राहुल गांधी
नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी की सोच वामपंथ से प्रेरित है : पीयूष गोयल
नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी की सोच वामपंथ से प्रेरित है : पीयूष गोयल

Stay Connected

Facebook Google twitter