बीजेपी में शामिल हुए सुचित्रा हत्याकांड के आरोपी शशिभूषण मेहता आरएसएस के गलियारे में

बीजेपी में शामिल हुए सुचित्रा हत्याकांड के आरोपी शशिभूषण मेहता आरएसएस के गलियारे में
Facebook- SS Mehta (संघ का एक कार्यकर्ता बुलेट पर मेहता को ले जाते हुए)
पीबी ब्यूरो ,   Oct 09, 2019

झारखंड में पांकी विधानसभा चुनाव से निर्दलीय और जेएमएम के टिकट पर चुनाव लड़ते रहे डॉ शशिभूषण मेहता के बीजेपी में शामिल होने के बाद राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ ने भी उन्हें हाथों हाथ लिया है.

रांची की बहुचर्चित सुचित्रा मिश्रा हत्याकांड के आरोपी शशि भूषण मेहता तीन अक्तूबर को बीजेपी में शामिल हुए हैं. इसके बाद विजयादशमी के मौके पर वे आरएसएस के पलामू में शस्त्र पूजन, झंडा वंदन, प्रार्थना और पथ संचलन में स्वयं सेवकों के साथ उपस्थित हुए. 

विजयादशमी को ही आरआरएस का स्थापना दिवस समरोह पूरे देश में मनाया गया है. झारखंड में भी अलग- अलग जगहों पर संघ के कार्यकर्ता और पदाधिकारियों ने झंडा वंदन और शस्त्र पूजन की. डॉ शशि भूषण मेहता ने अपने फेसबुक वाल पर आरएसएस के कार्यक्रम में मौजूदगी की तस्वीरें भी साझा की है. 

इसके साथ ही उन्होंने लिखा है, ''विजयदशमी के अवसर पर शस्त्र पूजन, झंडा वंदन, प्रार्थना और पथ संचलन में स्वयं सेवकों के साथ उपस्थित रहा. स्वयं सेवकों पर शहर में जगह-जगह लोगों ने पुष्प वर्षा भी की. इस अवसर पर देश की एकता व अखंड़ता बनाए रखने के लिए शस़्त्र पूजा भी की गई''.

जाहिर है संघ के कार्यक्रम में मेहता के शामिल होने के मायने निकाले जाने लगे हैं. वैसे भी मेहता के बीजेपी में शामिल होने के बाद इसके संकेत लगभग साफ हैं कि बीजेपी उन्हें इस बार पांकी से अपना उम्मीदवार बनाएगी.

इसे भी पढ़ें: अमिताभ बच्चन ने बिहार में बाढ़ से राहत के लिए भेजी 51 लाख रुपए की मदद

वैसे बीजेपी में शामिल होने से पहले तक मेहता जेेमएम के झंडा पर राजनीति कर रहे थे. जाहिर है संघ से उनका कोई वास्ता नहीं था, लेकिन लेकिन बीजेपी में शामिल होते ही संघ और मेहता करीब होते दिखाई पड़ रहे हैं. 

शशि भूषण मेहता रांची की बहुचर्चित सुचित्रा मिश्रा हत्याकांड के आरोपी हैं. तीन अक्तूबर को जब वे बीजेपी में शामिल हो रहे थे, तो सुचित्रा मिश्रा के दो बेटे और अन्य परिजनों ने झारखंड प्रदेश बीजेपी दफ्तर पहुंचकर विरोध प्रकट किया था. इससे पहले दो अक्तूबर को भी सुचित्रा मिश्रा के बेटों और भाभी ललिता पांडेय ने विरोध जताया था. 

अलबत्ता तीन अक्तूबर को विरोध के दौरान बीजेपी दफ्तर में विरोध और बवाल के बीच शशिभूषण मेहता और बीजेपी नेताओं को असहज स्थिति का सामना करना पड़ा था. मेहता के समर्थकों पर मारपीट करने के आरोप भी लगाए गए थे. सुचित्रा मिश्रा के दोनों बेटे अभिषेक मिश्र, आशुतोष मिश्र इसका विरोध कर रहे थे कि मेहता को बीजेपी में शामिल नहीं कराया जाए.

इस घटना के बाद सोशल साइट और चुनावी सियासत में प्रतिक्रिया का दौर जारी है. साथ ही बीजेपी को लगातार आलोचना का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ ने पहले ही कहा है कि मेहता पर आरोप लगे हैं. केस में फैसला नहीं आया है. राजनीति करने वाले पर आरोप लगते रहते हैं. 

विपक्षी दलों ने भी सवाल खड़ा किया है. अब आरएसएस से मेहता की नजदीकी के बाद कांग्रेस के महासचिव आलोक कुमार दूबे ने कहा है कि यह तो होना ही था. मेहता की मौजूदगी ने यह भी जाहिर कर दिया है कि झारखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव की रणनीति संघ के जिम्मे है. 

गौरतलब है कि शशिभूषण मेहता रांची की बहुचर्चित सुचित्रा मिश्रा हत्या कांड के आरोपी हैं. रांची स्थित ऑक्सफोर्ड स्कूल की वार्डन रहीं सुचित्रा मिश्रा की हत्या साल 2012 में हुई थी. डॉ शशिभूषण मेहता इस स्कूल के निदेशक हैं. 

जांच के दौरान मोबाइल सर्विलांस और कॉल डिटेल्स के आधार पर शशिभूषण मेहता का नाम इस हत्याकांड में उछला था. उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई. इसके बाद उन्हें जेल भी जाना पड़ा था. अभी मेहता जमानत पर हैं. जबकि इस घटना के विरोध में कई संस्थाओं और संगठनों ने सड़कों पर उतर कर विरोध किया था.

गौरतलब है कि शशिभूषण मेहता 2009 में पांकी से निर्दलीय चुनाव लड़े थे. इसके बाद जेएमम के टिकट से चुनाव लड़े. 2009 में वे तीसरे नंबर पर थे, लेकिन 2014 में मामूली वोटों से हारे. अभी पांकी में मेहता को टक्कर का उम्मीदवार माना जाता है. जबकि इस सीट पर विदेश सिंह के बेटे बिट्टू सिंह अभी विधायक है. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

पीएम मोदी ने अभिजीत बनर्जी से मुलाकात की, बोले, भारत को उनकी उपलब्धियों पर गर्व है
पीएम मोदी ने अभिजीत बनर्जी से मुलाकात की, बोले, भारत को उनकी उपलब्धियों पर गर्व है
आईएनएक्स मीडिया मामले में पी चिदंबरम को मिली जमानत
आईएनएक्स मीडिया मामले में पी चिदंबरम को मिली जमानत
राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवादः कोर्ट ने मुस्लिम पक्षकारों को लिखित नोट दाखिल करने की अनुमति दी
राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवादः कोर्ट ने मुस्लिम पक्षकारों को लिखित नोट दाखिल करने की अनुमति दी
महाराष्ट्र और हरियाणा में डाले जा रहे वोट, जानें दस अहम बातें
महाराष्ट्र और हरियाणा में डाले जा रहे वोट, जानें दस अहम बातें
कुंडली देख लें, टाटा हॉस्पिटल में मेरा जन्म हुआ है, हेमंत से ज्यादा झारखंडी हूं- रघुवर दास
कुंडली देख लें, टाटा हॉस्पिटल में मेरा जन्म हुआ है, हेमंत से ज्यादा झारखंडी हूं- रघुवर दास
जेएमएम की बदलाव रैली मे गरजे हेमंत, घमंड में चूर रघुवर दास का खेल अब खत्म होगा
जेएमएम की बदलाव रैली मे गरजे हेमंत, घमंड में चूर रघुवर दास का खेल अब खत्म होगा
'करतारपुर साहिब' को 70 साल तक दूरबीन से देखना पड़ा, अब दूरी खत्म होने वाली हैः नरेंद्र मोदी
'करतारपुर साहिब' को 70 साल तक दूरबीन से देखना पड़ा, अब दूरी खत्म होने वाली हैः नरेंद्र मोदी
जेएमएम का आरोप, पुलिस ने दागी जन प्रतिनिधियों के ब्योरे में सीएम और मंत्रियों के नाम छिपाए
जेएमएम का आरोप, पुलिस ने दागी जन प्रतिनिधियों के ब्योरे में सीएम और मंत्रियों के नाम छिपाए
आर्थिक मंदी से निपटने के लिए सरकार को कांग्रेस के घोषणापत्र से विचार चुराना चाहिए : राहुल गांधी
आर्थिक मंदी से निपटने के लिए सरकार को कांग्रेस के घोषणापत्र से विचार चुराना चाहिए : राहुल गांधी
नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी की सोच वामपंथ से प्रेरित है : पीयूष गोयल
नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी की सोच वामपंथ से प्रेरित है : पीयूष गोयल

Stay Connected

Facebook Google twitter