रांचीः स्वास्थ्य मंत्री पर नजर पड़ते ही फूट पड़ी युवती-' डॉक्टर झांकने नहीं आए, पापा तड़प- तड़प कर मर गए'

रांचीः स्वास्थ्य मंत्री पर नजर पड़ते ही फूट पड़ी युवती-' डॉक्टर झांकने नहीं आए, पापा तड़प- तड़प कर मर गए'
पीबी ब्यूरो ,   Apr 13, 2021

कई डॉक्टर झांकने तक नहीं आया. वो स्ट्रेचर पर पड़े कराहते रहे. हम दरियाफ्त करते रहे. किसी को कुछ फर्क नहीं पड़ता. आखिर उनकी जान चली गई. कहां है इलाज और कहां है सिस्टम. है कोई जो उनकी जान लौटा दे. नहीं ना.... आम आदमी की जान का कोई मोल नहीं.

हजारीबाग से रांची आई एक युवती की नजर राजधानी स्थित सदर अस्पताल में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता पर जैसे ही पड़ी, पीड़ा के इन शब्दों के साथ वह फूट पड़ी. 

दरअसल 100 किलोमीटर दूर से रांची आए इस पीड़ित परिवार को इसका अहसास नहीं था कि बेबसी की उस  इंतिहा से वास्ता पड़ेगा, जब अस्पताल में दाखिला कराने की जद्दोजहद में बीमार पिता की सांस ही टूट जाएगी. 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हजारीबाग से आई एक युवती अपने पिता लव कुमार गुप्ता का इलाज कराने रांची आई थी. उन्हें हजारीबाग से रेफर किया गया था. रांची में कई अस्पतालों में बेड नहीं मिलने के बाद वेलोग सदर अस्पताल पहुंचे. 

दाखिला लिए जाने से पहले ही कोराना संक्रमित शख्स लव गुप्ता ने अस्पताल की चौखट पर दम तोड़ दिया.

इसे भी पढ़ें: झारखंड आंदोलनकारी और सिमडेगा के पूर्व विधायक निएल तिर्की का निधन

पीड़ित परिवार के लोगों का कहना है कि भर्ती के लिए उनलोगों ने काफी गुहाई लगाई. 

इधर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता मंगलवार को सदर अस्पताल में कोरोना संक्रमितों के इलाज को लेकर व्यवस्था का जायजा लेने पहुंचे थे. 

यहां उन्होंने पीपीआई किट पहन कर कोविड वार्ड का जायजा लिया.

वार्ड का जायजा लेकर बाहर निकल रहे मंत्री पर पीड़ित परिवार की बेटी की नजर पड़ी, तो वह फूट पड़ी.

उन्होंने गुस्से में कहा, ''आपलोगों को सिर्फ वोट लेने से मतलब है.क्या मेरे पिता को लौटा सकते हैं?''. 

गौरतलब है कि सोमवार को भी राजधानी रांची में कई तस्वीरें सामने आई थी, जिसमें मरीज अस्पताल की चौखट पर जिंदगी और मौत से संघर्ष करते नजर आए. कई की जान चली गई. 

उधर वार्ड का जायजा लेने के बाद मंत्री ने डॉक्टरों और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए हैं. 

इधर सोशल मीडिया पर पीड़ित युवती का वीडियो वायरल है, जिसमें वो आंसुओं में डूबी अपनी बेबसी बता रही है. 

कई लोग इस वीडियो पर प्रतिक्रिया जाहिर करने के साथ सवाल पूछ रहे हैं. 

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और राज्य सभा के सांसद दीपक प्रकाश ने भी ट्वीट कर सरकार से सवाल पूछा है. इस बीच स्वास्थ्य मंत्री ने इस घटना पर रांची के सिविल सर्जन से 48 घंटे में जांच रिपोर्ट मांगी है.मंत्री ने कहा है कि किस स्तर पर लापरवाही ही है, यह भी बताएं.  


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

निर्वाचन आयोग ने खुद को कलंकित किया, इसे भंग किया जाए, इसके सदस्यों की जांच हो: आनंद शर्मा
निर्वाचन आयोग ने खुद को कलंकित किया, इसे भंग किया जाए, इसके सदस्यों की जांच हो: आनंद शर्मा
ममता बनर्जी 5 मई को लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ, लगातार तीसरा मौका
ममता बनर्जी 5 मई को लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ, लगातार तीसरा मौका
हल्के लक्षण होने पर सीटी-स्कैन कराने का कोई लाभ नहीं- डॉ. रणदीप गुलेरिया
हल्के लक्षण होने पर सीटी-स्कैन कराने का कोई लाभ नहीं- डॉ. रणदीप गुलेरिया
शराब नहीं मिलने पर सैनिटाइजर पीने से दो की मौत, दो अन्य बीमार
शराब नहीं मिलने पर सैनिटाइजर पीने से दो की मौत, दो अन्य बीमार
अस्पतालों में बेड का इंतजार करना अधिक मौत की वजह हो सकती है-रणदीप गुलेरिया
अस्पतालों में बेड का इंतजार करना अधिक मौत की वजह हो सकती है-रणदीप गुलेरिया
गुजरात के भरूच में एक अस्पताल में आग लगने से 14 कोरोना मरीज समेत 16 की मौत
गुजरात के भरूच में एक अस्पताल में आग लगने से 14 कोरोना मरीज समेत 16 की मौत
भाजपा पश्चिम बंगाल में आराम से और पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगीः भूपेंद्र यादव
भाजपा पश्चिम बंगाल में आराम से और पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगीः भूपेंद्र यादव
वैक्सीन को लेकर हेमंत सरकार केंद्र पर दोष मत मढ़े,  राज्य के पास 6.44 लाख टीका उपलब्धः दीपक प्रकाश
वैक्सीन को लेकर हेमंत सरकार केंद्र पर दोष मत मढ़े, राज्य के पास 6.44 लाख टीका उपलब्धः दीपक प्रकाश
अमेरिका से चिकित्सा एवं राहत सामग्री की पहली खेप भारत पहुंची, कहा- कोविड से मिलकर लड़ेंगे
अमेरिका से चिकित्सा एवं राहत सामग्री की पहली खेप भारत पहुंची, कहा- कोविड से मिलकर लड़ेंगे
हेमंत सोरेन ने लगवाया कोरोना का टीका, बोले-अफवाहों पर ना दें ध्यान, वैक्सीन है जरूरी
हेमंत सोरेन ने लगवाया कोरोना का टीका, बोले-अफवाहों पर ना दें ध्यान, वैक्सीन है जरूरी

Stay Connected

Facebook Google twitter