रांचीः फिल्म छपाक देखने पहुंचे कांग्रेस के मंत्री और नेता, बीजेपी बोली, राजनीतिक स्टंट कर रहे

रांचीः फिल्म छपाक देखने पहुंचे कांग्रेस के मंत्री और नेता, बीजेपी बोली, राजनीतिक स्टंट कर रहे
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Jan 11, 2020

झारखंड में हेमंत सोरेन की सरकार में शामिल कांग्रेस के मंत्री डॉ रामेशवर उरांव और आलमगीर आलम ने रांची में फिल्म छपाक देखी. दोनों मंत्रियों के साथ कांग्रेस के कई नेता भी न्यूक्लियस मॉल में फिल्म देखने पहुंचे थे. इधर बीजेपी ने कांग्रेस के मंत्रियों और नेताओं पर तंज कसा है. 

इससे पहले झारखंड कांग्रेस ने ट्वीट के जरिए मुख्यमंत्री का ध्यान खींचा था कि झारखंड में भी इस फिल्म को टैक्स फ्री कर दिया जाता, तो अच्छा होता. हालांकि मुख्यमंत्री ने यह फैसला फिलहाल नहीं लिया है. 

कांग्रेस शासित मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ राज्य में इस फिल्म को सरकार ने टैक्स फ्री कर दिया है. 

गौरतलब है कि तेजाब हमले में जिंदा बची लक्ष्मी अग्रवाल की कहानी पर आधारित 10 जनवरी को रिलीज होने वाली फिल्म ‘छपाक’ को मध्य प्रदेश में टैक्स फ्री कर दिया गया है.

बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण अभिनीत यह फिल्म मेघना गुलज़ार द्वारा निर्देशित है. 

इसे भी पढ़ें: गिरिडीहः सीएए के समर्थन में निकली तिरंगा यात्रा पर पथराव, लाठीचार्ज के बाद भगदड़

दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हाल ही में हुई हिंसा के बाद दीपिका पादुकोण जेएनयू में आंदोलन का राह पर उतरे छात्र-छात्राओं से मिलने पहुंची थी. इसके बाद सियासत में भी बहस छिड़ी तथा सोशल साइट और बालीवुड में भी प्रतिक्रियों का दौर जारी है. 

इधर रांची में फिल्म देखने पहुंचे कांग्रेस के मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने मीडिया से कहा है कि वे पुलिस सेवा में भी रहे हैं. वे यह देखना-समझना चाहते हैं कि तेजाब पीड़िता ने कैसे संघर्ष किया और किस तरह की पटकथा और प्रयासों को लेकर फिल्म बनाई गई. यह फिल्म समाज को अपनी ओर खींचती है. साथ ही युवाओं के लिेए प्रेरणा वाली हो सकती है. 

वहीं, आलमगीर आलम ने कहा कि इस तरह की फिल्मों में खास संदेश होता है. तेजाब हमले में जिंदा बची लक्ष्मी अग्रवाल की कहानी पर आधारित इस फिल्म में भी संदेश है. 

बीजेपी ने हमला बोला

इधर झारखंड प्रदेश बीजेपी के प्रवक्ता प्रतिल शाहदेव ने कहा है कि अब कांग्रेसी 'मूवी टूरिज्म' करके मुख्य मुद्दों से ध्यान भटकाने का प्रयास कर रही है. जबकि एनडीए सरकार ने एसिट पीड़ितों के लिए कड़े कानून बनाए थे और सरकारी नौकरियों में आरक्षण भी दिया था.

साथ ही साथ एनडीए सरकार ने इस अपराध के दोषियों के लिए उम्र कैद तक की सजा का प्रावधान किया. एसिड की बिक्री को नियंत्रण करने से संबंधित कड़े कानून भी बनाए. 

प्रतुल शाहदेव ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के नेताओं ने इसे एक मीडिया इवेंट बनाकर दीपिका पादुकोण के पब्लिसिटी एजेंट की तरह काम करने का कार्य किया है. इस पूरे मुद्दे को सिर्फ एक पब्लिसिटी स्टंट बनाने वाले कांग्रेस के नेताओं को कभी एसिड अटैक पीड़िताओं के भीतर के संघर्ष को भी झांककर देखना चाहिए.

प्रतुल ने कहा, एसिड अटैक से पीड़ित युवतियों के लिए कांग्रेसियों के दिल में अगर सचमुच मर्म होता, तो वह राज्य में भी कुछ बड़ी घोषणा कर इस के खिलाफ जागरूकता पैदा करती. लेकिन जेएनयू प्रदर्शन की असलियत सामने आने पर और सीएए का विरोध कर जनता के आक्रोश का शिकार हो रही कांग्रेस देश मे पूरे तरीके से बैकफुट पर है.  


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

योगी सरकार की उल्टी गिनती शुरूः अखिलेश यादव
योगी सरकार की उल्टी गिनती शुरूः अखिलेश यादव
नरेंद्र मोदी ने खुद को बनाया है और उनके आगे राहुल गांधी कहीं नहीं ठहरते : रामचंद्र गुहा
नरेंद्र मोदी ने खुद को बनाया है और उनके आगे राहुल गांधी कहीं नहीं ठहरते : रामचंद्र गुहा
डीएसपी देविंदर सिंह को चुप कराने के लिए एनआईए के हवाले किए गया केसः राहुल गांधी
डीएसपी देविंदर सिंह को चुप कराने के लिए एनआईए के हवाले किए गया केसः राहुल गांधी
इसरो की एक और उपलब्धि, जीसैट 30 उपग्रह का सफल प्रक्षेपण
इसरो की एक और उपलब्धि, जीसैट 30 उपग्रह का सफल प्रक्षेपण
13 साल का सिलसिला, सिमडेगा के एक गांव में श्रमदान कर सड़क बना रहे ग्रामीण
13 साल का सिलसिला, सिमडेगा के एक गांव में श्रमदान कर सड़क बना रहे ग्रामीण
बीसीसीआई की केंद्रीय अनुबंध सूची से बाहर हुए धोनी, भविष्य को लेकर अटकलें तेज
बीसीसीआई की केंद्रीय अनुबंध सूची से बाहर हुए धोनी, भविष्य को लेकर अटकलें तेज
विवाद के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने इंदिरा गांधी की गैंगस्टर से मुलाकात वाली टिप्पणी वापस ली
विवाद के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने इंदिरा गांधी की गैंगस्टर से मुलाकात वाली टिप्पणी वापस ली
चंदे में चुनावी बॉन्ड से सबसे अधिक बीजेपी को मिले 1450 करोड़ रुपएः एडीआर रिपोर्ट
चंदे में चुनावी बॉन्ड से सबसे अधिक बीजेपी को मिले 1450 करोड़ रुपएः एडीआर रिपोर्ट
यादेंः खेत-खलिहान, संघर्ष के मैदान, जनता के अरमान में जिंदा हैं कॉमरेड महेंद्र
यादेंः खेत-खलिहान, संघर्ष के मैदान, जनता के अरमान में जिंदा हैं कॉमरेड महेंद्र
उत्कृष्ट प्रेम दर्शन, विनयशीलता, निश्छलता का प्रतीक 'टुसू' के रंगों में रचा-बसा मन
उत्कृष्ट प्रेम दर्शन, विनयशीलता, निश्छलता का प्रतीक 'टुसू' के रंगों में रचा-बसा मन

Stay Connected

Facebook Google twitter