राजस्थानः सत्तारूढ़ कांग्रेस में सब ठीक नहीं, सचिन पॉयलट समर्थकों संग दिल्ली में,गहलोत ने बैठक बुलाई

राजस्थानः सत्तारूढ़ कांग्रेस में सब ठीक नहीं, सचिन पॉयलट समर्थकों संग दिल्ली में,गहलोत ने बैठक बुलाई
twitter
पीबी ब्यूरो ,   Jul 12, 2020

मध्य प्रदेश के बाद अब राजस्थान में कांग्रेस पार्टी के दो दिग्गज नेताओं के बीच मनमुटाव की खबरें सामने आ रही हैं. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच सबकुछ ठीक नहीं है. 

डिप्टी सीएम सचिन पायलट दिल्ली पहुंच चुके हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सचिन पायलट का समर्थन करने वाले 15-17 विधायक भी उनके साथ दिल्ली आए हैं. ये सभी गुरग्राम के एक रिसोर्ट में टिके हैं. 

मुमकिन है कि कांग्रेस आलाकमान सोनिया गांधी से उनकी मुलाकात हो सकती है.

इस बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान में मचे सियासी संकट के बीच जयपुर में पार्टी विधायकों और मंत्रियों की आज रात बैठक बुलाई है. सचिन पायलट के साथ तनातनी के बीच इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है.

इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने पार्टी को लेकर चिंता जताई है. उन्होंने पार्टी से पूछा है कि क्या हम घोड़ों के अस्तबल से भाग जाने के बाद जागेंगे? 

इसे भी पढ़ें: सचिन पायलट बोले, बीजेपी में नहीं जा रहा हूं, निगाहें कांग्रेस विधायकों की बैठक पर

हालांकि, सिब्बल ने अपने ट्वीट में किसी मुद्दे का जिक्र नहीं किया है, लेकिन माना जा रहा है कि उन्होंने राजस्थान कांग्रेस में फूट के संदर्भ में ही यह बात की है. 

सिब्बल ने अंग्रेजी के एक मुहावरे के जरिए ट्विटर पर कहा, ''हमारी पार्टी को लेकर चिंता में हूं. क्या हम तब जागेंगे जब घोड़े हमारे अस्तबल से भाग चुके होंगे.''

इससे पहले अशोक गहलोत ने शनिवार को बीजेपी पर सरकार अस्थिर करने का आरोप लगया था. 

मुख्यमंत्री ने अपने विधायकों को समर्थन पत्र लिखने के लिए कहा है. शनिवार शाम को गहलोत ने अपने आवास पर कई मंत्रियों और विधायकों से मुलाकात की और उन्हें समर्थन पत्र पर हस्ताक्षर करने के लिए कहा. जबकि उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट अपने समर्थकों के साथ दिल्ली पहुंचे हुए हैं. 

राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो राजस्थान में कांग्रेस पार्टी के भीतर फूट बढ़ गई है कि क्योंकि सीएम और डिप्टी सीएम दोनों अपनी-अपनी ताकत दिखाने में लग हुए हैं. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
 जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?

Stay Connected

Facebook Google twitter