जेल में बंद कवि वरवर राव की तबीयत बिगड़ी, मुंबई के जेजे अस्पताल में भर्ती

 जेल में बंद कवि वरवर राव की तबीयत बिगड़ी, मुंबई के जेजे अस्पताल में भर्ती
पीबी ब्यूरो ,   Jul 14, 2020

एल्गार परिषद-माओवादी संबंधों के मामले में गिरफ्तार कवि एवं कार्यकर्ता वरवर राव को चक्कर आने की शिकायत के बाद मंगलवार को यहां सरकारी जे जे अस्पताल में भर्ती कराया गया.

राव (80) पिछले करीब दो साल से जेल में बंद हैं. उन्हें नवी मुंबई की तलोजा जेल में रखा गया है.

कार्यकर्ता और उनके परिवार के सदस्यों ने दावा किया है कि वह कुछ समय से अस्वस्थ हैं और उन्होंने जेल प्राधिकारियों से उन्हें तत्काल चिकित्सकीय सेवा मुहैया कराए जाने की मांग की थी.

कार्यकर्ता के वकील आर सत्यनारायण अय्यर ने कहा, ‘‘राव को चक्कर आने के बाद सोमवार रात जे जे अस्पताल ले जाया गया. अस्पताल उनकी कुछ जांचें कर रहा है.’’

राव ने अस्थायी जमानत का अनुरोध करते हुए सोमवार को बंबई उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था और इसके लिए उन्होंने अपने बिगड़ते स्वास्थ्य एवं वर्तमान कोविड-19 महामारी का हवाला दिया था.

इसे भी पढ़ें: बिहारः 16 से 31 जुलाई तक लॉकडाउन रहेगा

कार्यकर्ता ने अदालत से यह भी अनुरोध किया था कि वह जेल प्राधिकारियों को उनका मेडिकल रिकार्ड पेश करने और उन्हें किसी अस्पताल में भर्ती कराए जाने का निर्देश दे.

राव ने अपने वकील आर सत्यनारायण अय्यर के माध्यम से उच्च न्यायालय में दो याचिकाएं दायर की थीं. एक में विशेष एनआईए अदालत द्वारा 26 जून को उनकी जमानत याचिका खारिज किये जाने को चुनौती दी गयी थी, जबकि दूसरी याचिका में नवी मुम्बई की तलोजा जेल के अधिकारियों को उनका मेडिकल रिकार्ड पेश करने का निर्देश देने का अनुरोध किया गया.

राव और नौ अन्य कार्यकर्ताओं को एल्गार परिषद-माओवादी संपर्क मामले में गिरफ्तार किया गया है. इस मामले की प्रारंभ में पुणे पुलिस ने जांच की थी लेकिन इस साल जनवरी में इसे राष्ट्रीय जांच एजेंसी को सौंप दिया.

यह मामला 31 दिसंबर, 2017 में पुणे के एल्गार परिषद सम्मेलन में कथित उत्तेजक भाषण देने से जुड़ा है. पुलिस के अनुसार इसी के बाद अगले दिन कोरेगांव भीमा वार स्मारक के पास हिंसा हुई थी.

पुलिस ने यह भी दावा किया था कि इस सम्मेलन का जिन लोगों ने आयोजन किया था, उनका कथित रूप से माओवादियों से संबंध था.

(भाषा से इनपुट) 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कांग्रेस के 'दिशाहीन' होने की धारणा को दूर करने के लिए पूर्णकालिक अध्‍यक्ष चुनना ही होगा: शशि थरूर
कांग्रेस के 'दिशाहीन' होने की धारणा को दूर करने के लिए पूर्णकालिक अध्‍यक्ष चुनना ही होगा: शशि थरूर
कोविड-19 : देश में मरने वालों का आंकड़ा 43 हजार पार, 15 लाख लोग ठीक भी हुए
कोविड-19 : देश में मरने वालों का आंकड़ा 43 हजार पार, 15 लाख लोग ठीक भी हुए
झारखंड आंदोलनकारी और सोशल एक्टिविस्ट बशीर अहमद नहीं रहे, शोक की लहर
झारखंड आंदोलनकारी और सोशल एक्टिविस्ट बशीर अहमद नहीं रहे, शोक की लहर
बीजेपी के नेता पहुंचे राजभवन, बताया, स्पीकर सरकार के इशारे पर बाबूलाल को नेता प्रतिपक्ष नहीं बना रहे
बीजेपी के नेता पहुंचे राजभवन, बताया, स्पीकर सरकार के इशारे पर बाबूलाल को नेता प्रतिपक्ष नहीं बना रहे
नई शिक्षा नीति पूरी तरह से लागू होगी, अब 'क्या सोचना है' नहीं 'कैसे सोचना है ' पर जोरः पीएम मोदी
नई शिक्षा नीति पूरी तरह से लागू होगी, अब 'क्या सोचना है' नहीं 'कैसे सोचना है ' पर जोरः पीएम मोदी
कोरोनाः तोड़े सारे रिकॉर्ड, देश में 24 घंटों में मिले 62 हजार से अधिक मरीज
कोरोनाः तोड़े सारे रिकॉर्ड, देश में 24 घंटों में मिले 62 हजार से अधिक मरीज
सुशांत केसः सीबीआई ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ दर्ज की एफआईआर
सुशांत केसः सीबीआई ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ दर्ज की एफआईआर
जम्मू-कश्मीरः मनोज सिन्हा बने नए उपराज्यपाल, जीसी मुर्मू ने इस्तीफा दिया
जम्मू-कश्मीरः मनोज सिन्हा बने नए उपराज्यपाल, जीसी मुर्मू ने इस्तीफा दिया
झारखंड में भी गूंज, अवधपुरी आए रघुनंदन ...
झारखंड में भी गूंज, अवधपुरी आए रघुनंदन ...
राम न्याय हैं, वे कभी अन्याय में प्रकट नहीं हो सकतेः राहुल गांधी
राम न्याय हैं, वे कभी अन्याय में प्रकट नहीं हो सकतेः राहुल गांधी

Stay Connected

Facebook Google twitter