लालू-नीतीश की दोस्ती कराने में लगे थे पीके, दाल नहीं गली, तो निशाना बनाने लगेः सुशील मोदी

लालू-नीतीश की दोस्ती कराने में लगे थे पीके, दाल नहीं गली, तो निशाना बनाने लगेः सुशील मोदी
Facebook (File Photo)
पीबी ब्यूरो ,   Feb 20, 2020

बिहार में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और नीतीश कुमार की सरकार में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने एक बार फिर प्रशांत किशोर पर निशाना साधा है. 

उन्होंने कहा है कि  बिहार में एनडीए सरकार की वापसी प्रशांत किशोर को फूटी आंखों नहीं सुहाई, इसलिए वे लालू प्रसाद से नीतीश कुमार की फिर दोस्ती कराने में लगे रहे. जब उनकी दाल नहीं गली, तो नागरिकता कानून को बहाना बनाकर नीतीश कुमार को निशाना बनाने लगे. 

सुशील मोदी ने ट्वीट करके कहा, 'वे (प्रशांत किशोर) लालटेन पार्टी के लिए काम करने लगे हैं, इसलिए उन्हें न राजद राज के भ्रष्टाचार दिखते हैं, न एनडीए सरकार में हर गांव-घर तक पहुंची बिजली दिखाई पड़ती है. 2005 से बिजली की खपत में पांच गुना वृद्धि हुई है, लेकिन पीके बिहार को लालटेन युग में लौटाने के मुहिम चलाने का ठेका ले चुके हैं.'

बिहार में एनडीए सरकार की वापसी प्रशांत किशोर को फूटी आँखों भी नहीं सुहायी, इसलिए वे लालू प्रसाद से नीतीश कुमार की फिर दोस्ती कराने में लगे रहे।

जब उनकी दाल नहीं गली, तो नागरिकता कानून को बहाना बना कर नीतीश कुमार को निशाना बनाने लगे।

वे लालटेन पार्टी के लिए काम करने लगे...... pic.twitter.com/wytIS247uK

— Sushil Kumar Modi (@SushilModi) February 19, 2020

सुशील मोदी ने अपने अगले ट्वीट में लिखा, ''जेडीयू से राजद का गठबंधन बेनामी सम्पत्ति और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर टूटा था. तत्कालीन महागठबंधन सरकार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव आज तक अपने खिलाफ लगे आरोपों का बिंदुवार जवाब नहीं दे पाए. भाजपा ने गरीब बिहार को मध्यावधि चुनाव के बोझ से बचाने के लिए बिना शर्त जेडीयू का समर्थन किया,  जिससे भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस रखने वाली एनडीए सरकार बनी और विकास को गति मिली''.

गौरतलब है कि जदयू में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रहते हुए प्रशांत किशोर दल के निर्णयों से इतर जाकर एनआरसी और सीएए के विरोध में मुहिम चला रखी थी. दिल्ली में जदयू और भाजपा की दोस्ती और गृहमंत्री अमित शाह को लेकर बयान दिए थे. इसकी वजह से जदयू ने पवन वर्मा और उन्हें 29 जनवरी को पार्टी से निष्कासित कर दिया था. 

इसे भी पढ़ें: राम मंदिर ट्रस्ट ने पीएम मोदी को अयोध्या आने का दिया निमंत्रण, अप्रैल में रामोत्सव

तब पीके ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा था कि दिल्ली चुनाव बाद पटना आने पर इसका जवाब दूंगा. 

मंगलवार, 18 फरवरी को प्रशांत किशोर पटना पहुंचे और प्रेस कांफ्रेस कर नीतीश कुमार के विकास मॉडल पर हमला बोला. साथ ही कहा कि नीतीश जी का कहना है वे गांधी, जेपी और लोहिया को और उनकी बातों को नहीं छोड़ सकते. लेकिन मेरे मन में यह दुविधा रही कि कोई अगर ऐसा सोचता है तो वह उस समय गोडसे के साथ खड़े होने वाले और उनकी विचारधारा के लोगों के साथ कैसे खड़े हो सकते हैं. 

इसके बाद सुशील कुमार मोदी नीतीश के बचाव में उतरे. उन्होंने कहा, ''इंवेट मैनेजमेंट करने वालों की अपनी कोई विचारधारा नहीं होती, लेकिन वे अपने प्रायोजक की विचारधारा और भाषा तुरंत अपनाने में माहिर होते हैं. जनता देख रही है कि चुनाव करीब आने पर किसको अचानक किसमें गोडसे के विचारों की छाया दिखने लगी और कौन 'दूध का धुला' सेक्युलर गांधीवादी लगने लगा. अजीब पाखंड है कि कोई किसी को पितातुल्य बताये और पिता के लिए 'पिछलग्गू' जैसा घटिया शब्द चुने''.

 इससे पहले भी सुशील मोदी और प्रशांत किशोर सियासत को लेकर आमने- सामने हो चुके हैं.  


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
उत्तर प्रदेश में 25 साल के युवक की मौत, देश भर में मरने वालों का आंकड़ा 35 तक पहुंचा
उत्तर प्रदेश में 25 साल के युवक की मौत, देश भर में मरने वालों का आंकड़ा 35 तक पहुंचा
बीजेपी बोली, झारखंड के धार्मिक स्थलों में ठहरे विदेशियों ने संक्रमण लाया और सरकार देखती रही
बीजेपी बोली, झारखंड के धार्मिक स्थलों में ठहरे विदेशियों ने संक्रमण लाया और सरकार देखती रही
निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन के बाद मेरठ और मुज्जफरनगर अलर्ट पर
निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन के बाद मेरठ और मुज्जफरनगर अलर्ट पर
कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री
कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री
प्रशांत किशोर ने कहा, नीतीश कुमार गद्दी छोड़ दें, जदयू का पलटवार, ट्वीट पर घटिया राजनीति मत करें
प्रशांत किशोर ने कहा, नीतीश कुमार गद्दी छोड़ दें, जदयू का पलटवार, ट्वीट पर घटिया राजनीति मत करें
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
 नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 32 हुई
नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 32 हुई
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था

Stay Connected

Facebook Google twitter