संसद का मानसून सत्र 14 सितंबर से, पर न प्रश्न काल होगा न गैर सरकारी विधेयक आएंगे

संसद का मानसून सत्र 14 सितंबर से, पर न प्रश्न काल होगा न गैर सरकारी विधेयक आएंगे
पीबी ब्यूरो ,   Sep 02, 2020

संसद के आगामी मानसून सत्र में न तो प्रश्न काल होगा और न ही गैर सरकारी विधेयक लाए जा सकेंगे.

कोरोना महामारी के इस दौर में पैदा हुई असाधारण परिस्थितियों के बीच होने जा रहे इस सत्र में शून्य काल को भी सीमित कर दिया गया है.

लोकसभा और राज्यसभा सचिवालय की ओर से जारी अधिसूचना के मुताबिक दोनों सदनों की कार्यवाही अलग-अलग पालियों में सुबह नौ बजे से एक बजे तक और तीन बजे से सात बजे तक चलेगी.

शनिवार तथा रविवार को भी संसद की कार्यवाही जारी रहेगी. संसद सत्र की शुरुआत 14 सितम्बर को होगी और इसका समापन एक अक्टूबर को प्रस्तावित है.

सिर्फ पहले दिन को छोड़कर राज्यसभा की कार्यवाही सुबह की पाली में चलेगी जबकि लोकसभा शाम की पाली में बैठेगी.

इसे भी पढ़ें: पीएम मोदी की निजी वेबसाइट का ट्विटर एकाउंट हैक हुआ

लोकसभा सचिवालय की ओर से जारी अधिसूचना में कहा गया, ‘‘सत्र के दौरान प्रश्न काल नहीं होगा.

कोरोना महामारी के चलते पैदा हुई असाधारण परिस्थितयों को देखते हुए सरकार के आग्रह के मुताबिक लोकसभा अध्यक्ष ने निर्देश दिया है कि सत्र के दौरान गैर सरकारी विधेयकों के लिए कोई भी दिन तय न किया जाए.’’ ऐसी ही एक अधिसूचना राज्यसभा सचिवालय की ओर से जारी की गई है.

प्रश्नकाल की व्यवस्था को कार्यवाही से हटाए जाने का विरोध करते हुए तृणमूल कांग्रेस सांसद और राज्यसभा में पार्टी संसदीय दल के नेता डेरेक ओ’ब्रायन ने कहा कि इससे विपक्षी सांसद सरकार से सवाल पूछने के अपने हक को खो देंगे.

उन्होंने एक ट्वीट कर कहा, ‘‘महामारी लोकतंत्र की हत्या करने का बहाना बन गयी है.’’ उन्होंने कहा कि पूर्व में प्रश्नकाल तभी नहीं हुआ है जब सत्र विशेष उद्देश्यों के लिए बुलाए गए थे जबकि आगामी सत्र तो नियमित सत्र का हिस्सा है.

(भाषा से इनपुट)


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कृषि विधेयक किसानों के लिए मौत की सजा हैं: राहुल गांधी
कृषि विधेयक किसानों के लिए मौत की सजा हैं: राहुल गांधी
पप्पू यादव ने बनाया प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन, कहा, 30 साल के महापाप को खत्म करना है
पप्पू यादव ने बनाया प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन, कहा, 30 साल के महापाप को खत्म करना है
लवली आनंद ने राजद का दामन थामा, बोलीं, नीतीश सरकार ने धोखा दिया है
लवली आनंद ने राजद का दामन थामा, बोलीं, नीतीश सरकार ने धोखा दिया है
मत विभाजन की मांग के वक्त सांसद शिवा सीट पर थे, पर सदन का ऑर्डर में होना महत्वपूर्णः हरिवंश
मत विभाजन की मांग के वक्त सांसद शिवा सीट पर थे, पर सदन का ऑर्डर में होना महत्वपूर्णः हरिवंश
जेडीयू के दफ्तर में सीएम नीतीश से मिले गुप्तेश्वर पांडेय, 'सुशासन' की तारीफ की
जेडीयू के दफ्तर में सीएम नीतीश से मिले गुप्तेश्वर पांडेय, 'सुशासन' की तारीफ की
 मनमोहन सिंह की तरह गहराई वाले प्रधानमंत्री की कमी महसूस कर रहा है भारत: राहुल
मनमोहन सिंह की तरह गहराई वाले प्रधानमंत्री की कमी महसूस कर रहा है भारत: राहुल
झारखंडः सरना कोड की मांग पर गोलबंद होते आदिवासी संगठन, 15 अक्तूबर को राज्य व्यापी चक्का जाम करेंगे
झारखंडः सरना कोड की मांग पर गोलबंद होते आदिवासी संगठन, 15 अक्तूबर को राज्य व्यापी चक्का जाम करेंगे
पता नहीं, पीएम मोदी देश को किस दिशा में ले जाना चाहते हैं, कृषि विधेयक सबसे बड़ा प्रहारः हेमंत सोरेन
पता नहीं, पीएम मोदी देश को किस दिशा में ले जाना चाहते हैं, कृषि विधेयक सबसे बड़ा प्रहारः हेमंत सोरेन
गायक एस पी बालासुब्रमण्यम का निधन, मखमली आवाज से प्रशंसकों के दिलों पर दशकों तक राज किए
गायक एस पी बालासुब्रमण्यम का निधन, मखमली आवाज से प्रशंसकों के दिलों पर दशकों तक राज किए
बिहार विधानसभा चुनाव का बिगुल बजाः 28 अक्तूबर से तीन चरणों में मतदान, 10 नवंबर को नतीजे
बिहार विधानसभा चुनाव का बिगुल बजाः 28 अक्तूबर से तीन चरणों में मतदान, 10 नवंबर को नतीजे

Stay Connected

Facebook Google twitter