नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी की सोच वामपंथ से प्रेरित है : पीयूष गोयल

नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी की सोच वामपंथ से प्रेरित है : पीयूष गोयल
Facebook
पीबी ब्यूरो ,   Oct 18, 2019

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी की सोच पूरी तरह वाम की ओर झुकाव वाली है.

पीटीआई के मुताबिक मीडिया ब्रीफिंग में उनका यह भी कहना था कि अभिजित बनर्जी ने कांग्रेस की ‘न्याय’ योजना का समर्थन भी किया था, लेकिन भारत की जनता ने उनकी सोच को खारिज कर दिया. 

पीयूष गोयल ने कहा, ‘अभिजीत बनर्जी जी को नोबेल पुरस्कार मिला मैं उनको बधाई देता हूं. लेकिन उनकी समझ के बारे में आप सब जानते हैं. उनकी जो सोच है वह वामपंथ से प्रेरित है. 

पीयूष गोयल का यह बयान 2019 के लिए अर्थशास्त्र का नोबेल जीतने वाले अभिजीत बनर्जी के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि भारतीय अर्थव्यवस्था की हालत अच्छी नहीं है. भारतीय अर्थव्यवस्था एक अस्थिर स्थिति में है, वर्तमान में उपलब्ध आंकड़ों को जोड़ने से देश के आर्थिक पुनरुत्थान के लिए कोई भरोसा जल्द नहीं मिलता है.

कलकत्ता विश्वविद्यालय के बाद जेएनयू से पढ़े अभिजीत बनर्जी का कहना था कि भारत में लोग खर्च में कटौती कर रहे हैं और यह गिरावट जिस तरह से जारी है उससे लगता है कि इस पर काबू नहीं पाया जा सकता.

इसे भी पढ़ें: जेएमएम का आरोप, पुलिस ने दागी जन प्रतिनिधियों के ब्योरे में सीएम और मंत्रियों के नाम छिपाए

उनका कहना था, ‘जहां तक मैं समझता हूं भारतीय अर्थव्यवस्था की हालत बहुत ही खराब है. एनएसएस का डेटा देखें तो पता चलता है कि 2014-15 और 2017-18 के बीच शहरी और ग्रामीण भारत के लोगों ने अपने उपभोग में भारी कटौती की है. सालों बाद ऐसा पहली बार हुआ है. यह संकट की शुरुआत है.’

अर्थशास्त्र का नोबेल इस बार अभिजीत बनर्जी को फ्रांस की इश्तर डुफ्लो और अमेरिका के माइकल क्रेमर के साथ संयुक्त रूप से दिया गया है.

इन्हें ये पुरस्कार वैश्विक स्तर पर गरीबी उन्मूलन के लिए किये गए इनके काम के लिये दिया गया है. समिति ने अपने बयान में कहा कि इन अर्थशास्त्रियों के प्रयोगधर्मी दृष्टिकोण ने मात्र दो दशक में विकास केंद्रित अर्थशास्त्र को पूरी तरह बदल दिया है.

अभिजीत बनर्जी फिलहाल अमेरिका के मशहूर संस्थान मैसाच्युसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में पढ़ाते हैं.


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

बीजेपी पीडीपी से हाथ मिला सकती है तो शिवसेना, एनसीपी-कांग्रेस के साथ क्यों नहीं : संजय राउत
बीजेपी पीडीपी से हाथ मिला सकती है तो शिवसेना, एनसीपी-कांग्रेस के साथ क्यों नहीं : संजय राउत
सोनिया गांधी, राहुल और प्रियंका की एसपीजी सुरक्षा वापस
सोनिया गांधी, राहुल और प्रियंका की एसपीजी सुरक्षा वापस
बीजेपी को सुदेश की रजामंदी का इंतजार, आजसू 16 से कम पर नहीं तैयार
बीजेपी को सुदेश की रजामंदी का इंतजार, आजसू 16 से कम पर नहीं तैयार
जनता के सामने बीजेपी का विकल्प है कांग्रेस-जेएमएम गठबंधनः आरपीएन सिंह
जनता के सामने बीजेपी का विकल्प है कांग्रेस-जेएमएम गठबंधनः आरपीएन सिंह
झारखंड़ में विपक्ष ने खोला मोर्चा, 43 सीटों पर लड़ेगा जेेएमएम, कांग्रेस के हिस्से 31 और राजद को 7 सीटें
झारखंड़ में विपक्ष ने खोला मोर्चा, 43 सीटों पर लड़ेगा जेेएमएम, कांग्रेस के हिस्से 31 और राजद को 7 सीटें
झारखंडः ये विधानसभा चुनाव है और नतीजे बताते हैं बीजेपी में शामिल होने से पसीने गुलाब नहीं होते
झारखंडः ये विधानसभा चुनाव है और नतीजे बताते हैं बीजेपी में शामिल होने से पसीने गुलाब नहीं होते
अयोध्या विवादः फैसले से पहले अलर्ट, 80 प्रमुख स्टेशनों पर सुरक्षा बढ़ाई गई
अयोध्या विवादः फैसले से पहले अलर्ट, 80 प्रमुख स्टेशनों पर सुरक्षा बढ़ाई गई
बेहतरीन अभिनेता संजीव कुमार पर लिखी जा रही जीवनी अगले साल प्रकाशित होगी
बेहतरीन अभिनेता संजीव कुमार पर लिखी जा रही जीवनी अगले साल प्रकाशित होगी
बीजेपी छोड़ जेएमएम में शामिल हुए समीर मोहंती, क्या बहरागोड़ा में कुणाल षाड़ंगी की नींद उड़ाएंगे
बीजेपी छोड़ जेएमएम में शामिल हुए समीर मोहंती, क्या बहरागोड़ा में कुणाल षाड़ंगी की नींद उड़ाएंगे
तमाम गतिरोध और अटकलों के बीच शिवसेना सांसद संजय राउत ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार से की मुलाकात
तमाम गतिरोध और अटकलों के बीच शिवसेना सांसद संजय राउत ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार से की मुलाकात

Stay Connected

Facebook Google twitter