कोरोनिल पर अब विवाद नहीं, पंतजलि के एक ट्रायल से मेडिकल साइंस में तूफान मचा हैः रामदेव

कोरोनिल पर अब विवाद नहीं, पंतजलि के एक ट्रायल से मेडिकल साइंस में तूफान मचा हैः रामदेव
Courtesy- ANI
पीबी ब्यूरो ,   Jul 01, 2020

योग गुरु बाबा रामदेव ने कोरोनिल दवा की हो रही आलोचना पर कहा है कि यह एक साम्राज्यवादी सोच है कि भगवा धारण करने वाला कोई व्यक्ति कैसे रिसर्च कर सकता है? पतंजलि के एक ट्रायल से ही मॉडर्न मेडिकल साइंस में तूफान आ गया है. बाबा ने कहा कि अभी हम इस रिसर्च को और आगे ले जाएंगे. 

योग गुरु स्वामी रामदेव ने कोरोना की दवा कोरोनिल से उपजे विवाद पर आज प्रेस कांफ्रेस कर सफाई दी है. बाबा रामदेव ने कहा है कि हमारे खिलाफ केस दर्ज कराए गए, मेरे धर्म, जाति और संन्यास पर सवाल उठाए गए.

बाबा रामदेव ने दावा किया है कि कोरोनिल पर अब कोई विवादनहीं है और बुधवार से कोरोनिल किट पूरे देश में भेजना शुरू कर दिया गया है. यह 1 जुलाई से पूरे देश में बिना किसी कानूनी अवरोध के उपलब्ध होगा.

बाबा रामदेव ने यह भी कहा कि मेरे खिलाफ दुष्प्रचार किया गया क्योंकि कोविड-19 के इलाज में सहायक दवा को आयुर्वेद में ढूंढ निकाला गया.

रामदेव ने कहा, "कुछ लोगों ने गंदा वातावरण बनाने की कोशिश की है." उन्होंने कहा कि सत्कार नहीं तो तिरस्कार मत कीजिए. इसके साथ ही स्वामी रामदेव ने कहा कि आयुष मंत्रालय ने कोरोना से निबटने के लिए किये गए हमारे प्रयासों को सराहा है.

इसे भी पढ़ें: चीनी एप्स पर बैन सरकार का डिजिटल स्ट्राइकः रविशंकर प्रसाद

स्वामी रामदेव ने बताया, "आयुष मंत्रालय ने कहा है कि पतंजलि ने कोविड19 के मैनेजमेंट के लिए पर्याप्त काम किया है. इसके मतलब वे हमारे प्रयास की तारीफ़ कर रहे हैं. पतंजलि आयुर्वेद ने सही दिशा में काम करना शुरू किया है.''

स्वामी रामदेव ने कोरोनिल के बारे में कहा पर बताया कि क्लीनिकल ट्रायल के जो भी मानक हैं, उनके तहत पतंजलि ने रिसर्च की है. अभी तक कोरोना के ऊपर क्लिनिकल ट्रायल हुआ है. 10 से ज्यादा बीमारियों पर हम ट्रायल कर रहे हैं और उसमें तीन लेवल पार कर चुके हैं. इसमें हाइपर टेंशन, अस्थमा, हर्ट, चिकुनगुनिया जैसे रोगों पर ट्रायल चल रहा है.

स्वामी रामदेव ने बताया कि कोरोना की दवा कोरोनिल तैयार करने में क्लिनिकल ट्रायल और रजिस्ट्रेशन दोनों प्रक्रिया में नियमों का पालन किया गया है.

स्वामी रामदेव ने कहा, "कोरोनिल में गिलोय,अश्वगंधा और तुलसी का संतुलित मात्रा में मिश्रण है. हमने कोरोनिल और श्वसारि का संयुक्त ट्रायल किया है, हमने इसे अलग-अलग ट्राई नहीं किया है."

बाबा रामदेव ने दावा किया है कि कोरोनिल पर अब कोई विवाद नहीं है और बुधवार से कोरोनिल किट पूरे देश में भेजना शुरू कर दिया गया है. यह 1 जुलाई से पूरे देश में बिना किसी कानूनी अवरोध के उपलब्ध होगा.

बाबा रामदेव ने कहा है कि कोरोनिल में गिलोय, अश्वगंधा, तुलसी हैं. इसमें औषधियों की तय मात्रा है. आयुष मंत्रालय ने हमारे काम की तारीफ की है. अब कोरोनिल को कोविड क्योर नहीं बल्कि कोविड मैनेजमेंट कहा जाएगा. इसे अब कोरोना का 100 फीसदी इलाज नहीं कहा जाएगा.


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
 जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?

Stay Connected

Facebook Google twitter