दिल्ली चुनाव में अमित शाह के साथ नीतीश ने साझा किया मंच, बोले, केजरीवाल ने कुछ नहीं किया

दिल्ली चुनाव में अमित शाह के साथ नीतीश ने साझा किया मंच, बोले, केजरीवाल ने कुछ नहीं किया
पीबी ब्यूरो ,   Feb 03, 2020

जेडीयू प्रमुख और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिल्ली चुनाव में बीजेपी के वरिष्ठ नेता और देश के गृह मंत्री अमित शाह के साथ मंच साझा करते हुए दिल्ली में आप की सरकार पर निशाना साधा.

रविवार को दिल्ली के बुराड़ी में बीजेपी के समर्थन में चुनाव प्रचार करते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोई काम नहीं किया है.

हालांकि एक वक़्त था जब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एक दूसरे की खूब तारीफ करते थे.

अलबत्ता 2015 में तो अरविंद केजरीवाल ने नीतीश के समर्थन में बिहार विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी से कोई उम्मीदवार नहीं उतारने का फ़ैसला किया था.

पिछले हफ़्ते ही नीतीश कुमार ने मोदी सरकार की आलोचना करने पर अपने दो नेता पवन वर्मा और प्रशांत किशोर को पार्टी से बाहर निकाल दिया था.

इसे भी पढ़ें: 1932 के खतियान पर स्थानीयता को लेकर कांग्रेस और राजद अपनी स्थिति स्पष्ट करेः झारखंड बीजेपी

नीतीश कुमार ने जब चुनावी रैली को संबोधित करना शुरू किया तो सबसे पहले आम बजट की तारीफ़ की और कहा कि पीएम मोदी के साथ गृह मंत्री अमित शाह जनवादी बजट के लिए बधाई के पात्र हैं.

नीतीश कुमार ने कहा, ''दिल्ली की सरकार ने क्या किया है? 2005 में बिहार में एनडीए को काम करने का मौका मिला. तब सड़क-बिजली की स्थिति बहुत खराब थी. यहां कौन सी सड़क है? कहां निर्माण हो रहा है? यहां पानी ठीक नहीं है. न सड़क का काम किया, न बिजली की स्थिति ठीक की.''

उन्होंने कहा, ''दिल्ली राजधानी है. यहां सभी का अधिकार है. मैंने पिछले दिनों मुख्यमंत्री (अरविंद केजरीवाल) का बयान देखा जिसमें वे कह रहे हैं कि 500 रुपये का टिकट लेकर लोग यहां आ जाते हैं और यहां लाखों का इलाज कराते हैं. मुझे यह जानकार हैरानी हुई. क्या इलाज कराते हैं?''

 

नीतीश कुमार ने कहा, ''यहां बिहार के बहुत लोग रहते हैं. हमने बस सेवा की शुरूआत की और यहां की सरकार से अनुमति मांगी लेकिन अनुमति नहीं मिली. पटना से जो बस चलाते हैं, गाजियाबाद तक ही आती है. मैं अपील करूंगा कि आप एक भी वोट बर्बाद नहीं करें.''

नीतीश ने केजरीवाल पर हमला करते हुए कहा, ''दिल्ली की सरकार ने आख़िर क्या किया है? देश भर में राजनीति और काम होते हैं, उसके बारे में थोड़ी जानकारी तो रहती ही है. इसके आधार पर तो यही लगता है कि यहां कुछ काम नहीं हुआ है. हम लोगों को तो बिहार याद आता है जब वहां की जनता ने 2005 में एनडीए को मौक़ा दिया. तब बिहार की जो हालत थी, उसे आप सभी जानते ही होंगे. न सड़क थी न बिजली थी.''

नीतीश कुमार ने कहा, ''बिहार के हर घर में हमने बिजली पहुंचाई. सारे पुराने तार बदल दिए. दिल्ली मे क्या हालत है? आप ही देखिए. सिर्फ़ अंतिम समय में कहने से काम नहीं चलेगा. इतना समय मिला लेकिन कोई काम नहीं हुआ. मैं तो केंद्र सरकार को धन्यवाद देना चाहता हूं कि इन्होंने अनाधिकृत कॉलोनियों को अधिकृत कर दिया. 15 साल आपने कांग्रेस को मौक़ा दिया. पाँच साल आम आदमी पार्टी को दिया. अब तो एनडीए को मौक़ा दीजिए.''


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

भारत ने नहीं दी मलेरिया की दवाई तो ट्रंप करेंगे जवाबी कार्रवाई?
भारत ने नहीं दी मलेरिया की दवाई तो ट्रंप करेंगे जवाबी कार्रवाई?
विश्व स्वास्थ्य दिवस पर बोले पीएम मोदी, 'फिर मुस्कुराएगा इंडिया'
विश्व स्वास्थ्य दिवस पर बोले पीएम मोदी, 'फिर मुस्कुराएगा इंडिया'
तबलीगी जमात से जुड़े 25 हजार लोग भेजे गए हैं क्वारंटाइन में, 1750 ब्लैक लिस्टेड
तबलीगी जमात से जुड़े 25 हजार लोग भेजे गए हैं क्वारंटाइन में, 1750 ब्लैक लिस्टेड
24 घंटे में 32 मौतों का नया रिकॉर्ड, संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा
24 घंटे में 32 मौतों का नया रिकॉर्ड, संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा
चीन ने दुनिया को घोर संकट में डाला, उसके बहिष्कार के लिए भारत कूटनीतिक पहल करे: रामदेव
चीन ने दुनिया को घोर संकट में डाला, उसके बहिष्कार के लिए भारत कूटनीतिक पहल करे: रामदेव
देश में मरने वालों का आंकड़ा 77 पर पहुंचा, अब तक 266 लोग ठीक हुए हैं कोरोना से
देश में मरने वालों का आंकड़ा 77 पर पहुंचा, अब तक 266 लोग ठीक हुए हैं कोरोना से
इस समय घर में रहना, देश के लिये युद्ध लड़ना, क्रिकेट इंतजार करेगा : चेतेश्वर पुजारा
इस समय घर में रहना, देश के लिये युद्ध लड़ना, क्रिकेट इंतजार करेगा : चेतेश्वर पुजारा
चाईबासाः नैहर में थी आदिवासी महिला, पति बीमार पड़े, तो साइकिल से नाप ली 50 किमी दूरी
चाईबासाः नैहर में थी आदिवासी महिला, पति बीमार पड़े, तो साइकिल से नाप ली 50 किमी दूरी
अच्छी पहलः ओडिशा ने 500 एमबीबीएस छात्रों को कोरोना मरीजों के इलाज के लिए प्रशिक्षित किया
अच्छी पहलः ओडिशा ने 500 एमबीबीएस छात्रों को कोरोना मरीजों के इलाज के लिए प्रशिक्षित किया
कोरोना रोका जा सके, इसके लिए छत्तीसगढ़ के जेलों से छोड़े गए 584 कैदी
कोरोना रोका जा सके, इसके लिए छत्तीसगढ़ के जेलों से छोड़े गए 584 कैदी

Stay Connected

Facebook Google twitter