नरेंद्र मोदी ने खुद को बनाया है और उनके आगे राहुल गांधी कहीं नहीं ठहरते : रामचंद्र गुहा

नरेंद्र मोदी ने खुद को बनाया है और उनके आगे राहुल गांधी कहीं नहीं ठहरते : रामचंद्र गुहा
You Tube
पीबी ब्यूरो ,   Jan 18, 2020

चर्चित इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने कहा है कि परिश्रम और खुद के बूते आगे आए नरेंद्र मोदी के सामने वंशवादी राजनीति वाले राहुल गांधी कहीं नहीं टिकते.

उन्होंने यह बात कोच्चि में आयोजित केरल साहित्य महोत्सव के दौरान ‘राष्ट्र भक्ति बनाम अंधराष्ट्रीयता’ विषय पर आयोजित एक सत्रमें कही. 

रामचंद्र गुहा का यह भी कहना था कि केरल ने राहुल गांधी को संसद भेजकर बड़ी गलती की है. उन्होंने कहा कि आजादी के दिनों वाली महान पार्टी कांग्रेस आज एक परिवार की ऐसी कंपनी के रूप में तब्दील हो चुकी है जिसकी हालत दयनीय है. उनके मुताबिक भारत हिंदुत्व और अंधराष्ट्रवाद के इस उभार के पीछे की एक वजह यह भी है.

गुहा ने कहा कि ‘मैं निजी तौर पर राहुल गांधी के खिलाफ नहीं हूं. वे सौम्य और सुसभ्य व्यक्ति हैं, लेकिन युवा भारत एक खानदान की पांचवी पीढ़ी को नहीं चाहता.

उन्होंने कहा, ''नरेंद्र मोदी की असली बढ़त यह है कि वे राहुल गांधी नहीं हैं. उन्होंने खुद यह मुकाम हासिल किया है. उन्होंने 15 साल तक राज्य को चलाया है और उनमें प्रशासनिक अनुभव है. वे उल्लेखनीय रूप से कठिन परिश्रम करते हैं और कभी यूरोप जाने के लिए छुट्टी नहीं लेते. मेरा विश्वास कीजिए, मैं यह सब गंभीरता से कह रहा हूं''

इसे भी पढ़ें: एनआरसी, 370, राम मंदिर बीजेपी का एजेंडा, वह इसे पूरा कर रही तो विरोध क्यों- बाबूलाल मरांडी

उनका आगे कहना था, ‘हालांकि अगर राहुल गांधी इससे कहीं ज्यादा बुद्धिमान और मेहनती होते और यूरोप जाने के लिए छुट्टी नहीं भी लेते तो भी वे खुद के बूते आगे आए एक शख्स के आगे नहीं ठहर पाते.’


उन्होंने कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी पर भी निशाना साधा और ‘मुगल वंश के आखिरी’ दौर से उनकी स्थिति की तुलना की. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष उन्हें मुगल सल्तनत के आखिरी दिनों की याद दिलाती हैं जो अपने साम्राज्य की बदहाली से बेखबर थी.

रामचंद्र गुहा ने कहा, ‘भारत की प्रकृति में लोकतांत्रिकता बढ़ रही है और सामंतवाद घट रहा है और गांधी परिवार को यह बात समझ में ही नहीं आ रही. आप (सोनिया गांधी) दिल्ली में हैं. आपका राज्य लगातार सिकुड़ रहा है. लेकिन आपके चमचे आपको बता रहे हैं कि आप अब भी बादशाह हैं.’

रामचंद्र गुहा के मुताबिक, टटभारतीय वामपंथियों के पाखंड की वजह से आज देश में राष्ट्रवाद की बयार है. वाम दलों ने हमेशा भारत से ज्यादा दूसरे देशों को प्यार किया. दुनियाभर में राष्ट्रवाद और पड़ोसी देशों में इस्लामिक कट्टरपंथ को बढ़ावा मिलने की वजह से ही भारत में हिंदुत्व को हालिया समय में बढ़ावा मिला है. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

दिल्ली हिंसाः कांग्रेस ने राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा, कहा, सरकार नाकाम रही, निर्णायक कदम उठाएं
दिल्ली हिंसाः कांग्रेस ने राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा, कहा, सरकार नाकाम रही, निर्णायक कदम उठाएं
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 32 तक पहुंची, अमरीका और रूस ने जारी की एडवायजरी
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 32 तक पहुंची, अमरीका और रूस ने जारी की एडवायजरी
कांग्रेस के हाथ खून से सने हैं, सोनिया गांधी का गृह मंत्री से इस्तीफा मांगना हास्यास्पद: बीजेपी
कांग्रेस के हाथ खून से सने हैं, सोनिया गांधी का गृह मंत्री से इस्तीफा मांगना हास्यास्पद: बीजेपी
पीएम मोदी ने दिल्ली में शांति की अपील की, सोनिया ने अमित शाह से मांगा इस्तीफा
पीएम मोदी ने दिल्ली में शांति की अपील की, सोनिया ने अमित शाह से मांगा इस्तीफा
राज्य सभा चुनाव एक मौका होगा, जब झारखंड में बीजेपी-आजसू नए सिरे से करीब आ सकती है
राज्य सभा चुनाव एक मौका होगा, जब झारखंड में बीजेपी-आजसू नए सिरे से करीब आ सकती है
सिल्ली की बेटी बबीता चमकी 'खेलो इंडिया' में, तीरंदाजी में कांस्य पदक
सिल्ली की बेटी बबीता चमकी 'खेलो इंडिया' में, तीरंदाजी में कांस्य पदक
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 20 हुई, एनएसए ने संभाली कमान
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 20 हुई, एनएसए ने संभाली कमान
एनोस फिर 'सलाखों' के पीछे और अर्श से फर्श पर राजनीति का 'इक्का'
एनोस फिर 'सलाखों' के पीछे और अर्श से फर्श पर राजनीति का 'इक्का'
पूर्वोत्तर दिल्ली में फिर हिंसा, अब तक सात की मौत, गृह मंत्रालय में बैठक
पूर्वोत्तर दिल्ली में फिर हिंसा, अब तक सात की मौत, गृह मंत्रालय में बैठक
 हाइकोर्ट का बड़ा फैसलाः झारखंड में बिहार और दूसरे राज्य के एससी, एसटी, ओबीसी को आरक्षण नहीं
हाइकोर्ट का बड़ा फैसलाः झारखंड में बिहार और दूसरे राज्य के एससी, एसटी, ओबीसी को आरक्षण नहीं

Stay Connected

Facebook Google twitter