कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री

कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री
Facebook-Tablighi Jamat (सांकेतिक तस्वीर)
पीबी ब्यूरो ,   Mar 31, 2020

दिल्ली में निजामुद्दीन के मर्कज बिल्डिंग में तबलीगी जमात के धार्मिक आयोजन को लेकर मामला गर्म है. दरअसल इस आयोजन में कुछ ऐसे लोगों के शामिल होने की खबर है जो कोरोना वायरस से संक्रमित थे.

इन सबके बीच दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा है कि एक अनुमान के मुताबिक़ इस आयोजन में 1500 से 1700 लोग शामिल हुए थे.

सत्येंद्र जैन ने कहा, ''यहां से 1033 लोगों को निकाला गया है. 334 लोगों को हॉस्पिटल में भेजा गया है और 700 लोगों को क्वॉरन्टीन में भेजा गया है.'' सत्येंद्र जैन ने कहा, ''इस कार्यक्रम के आयोजकों ने बड़ी ग़लती की है. दिल्ली में डिजास्टर एक्ट एवं संक्रामक बीमारी एक्ट लागू है. इसके तहत पांच से ज़्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकते हैं. यह अब भी लागू है. मैंने लेफ्टिनेंट गवर्नर को लिखा है कि इनके खिलाफ सख़्त कार्रवाई होनी चाहिए. दिल्ली की सरकार ने एफ़आईआर दर्ज करने का निर्देश दिया है.''

खबरों के मुताबिक दिल्ली के निज़ामुद्दीन इलाके में बने मरकज में हुए धार्मिक कार्यक्रम से अब तक सात कोरोना वायरस मौतों का रिश्ता जुड़ा है, और 300 से ज़्यादा लोगों को कोविड 19 के लक्षणों के बाद टेस्ट किया जा रहा है. 

खबरों के मुताबिक इनमें से छह की मौत तेलंगाना में हुई जबकि एक मौत की खबर कश्मीर के श्रीनगर से आई है. आयोजन में हिस्सा लेने वाले अंडमान और निकोबार द्वीप के नौ लोगों में भी कोरोना वायरस का टेस्ट पॉजिटिव आया है.

इसे भी पढ़ें: झारखंड के रांची में कोरोना संक्रमण का पहला केस सामने आया, मलेशिया की रहने वाली है महिला

आयोजन के बाद तेलंगाना गए कम से कम 10 इंडोनेशियाई नागरिकों में भी इसकी पुष्टि हुई है.

इस बीच समाचार एजेंसी एएनआई ने जानकारी दी है कि दिल्ली के उपराज्यपाल अनिक बैजल इस मामले में उच्च स्तरीय बैठक कर रहे हैं. बैजल ने इस मामले को गंभीरता से लिया है. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
कोरोना तेरे कारणः 124 वर्षों में पहली बार रद्द की गई बोस्टन मैराथन
कोरोना तेरे कारणः 124 वर्षों में पहली बार रद्द की गई बोस्टन मैराथन
मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: देश के नाम चिट्ठी में पीएम बोले- हमें अपने पैरों पर खड़ा होना होगा
मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: देश के नाम चिट्ठी में पीएम बोले- हमें अपने पैरों पर खड़ा होना होगा
झारखंडः 3 लाख 58 हजार लोग अब तक वापस लौटे, प्रवासी मजदूरों का डेटाबेस तैयार करा रही सरकार
झारखंडः 3 लाख 58 हजार लोग अब तक वापस लौटे, प्रवासी मजदूरों का डेटाबेस तैयार करा रही सरकार
ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दी मंदिर-मस्जिद खोलने की इजाजत
ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दी मंदिर-मस्जिद खोलने की इजाजत
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी का निधन
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी का निधन
चीन के साथ ताजा सीमा विवाद को लेकर नरेंद्र मोदी का मूड अच्छा नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप
चीन के साथ ताजा सीमा विवाद को लेकर नरेंद्र मोदी का मूड अच्छा नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप
लॉकडाउन के बाद गेंदबाजों के लिए लय हासिल करना मुश्किल होगा : ब्रेट ली
लॉकडाउन के बाद गेंदबाजों के लिए लय हासिल करना मुश्किल होगा : ब्रेट ली
शिक्षा मंत्री पहले अपने काम और कद को समझें, बाहर कुछ कहते हैं अंदर कुछः चंद्रप्रकाश चौधरी
शिक्षा मंत्री पहले अपने काम और कद को समझें, बाहर कुछ कहते हैं अंदर कुछः चंद्रप्रकाश चौधरी
रांचीः क्वारंटाइन में रहने के बाद गांधीनगर अस्पताल के डॉक्टर, नर्स ने फिर संभाला मोर्चा
रांचीः क्वारंटाइन में रहने के बाद गांधीनगर अस्पताल के डॉक्टर, नर्स ने फिर संभाला मोर्चा

Stay Connected

Facebook Google twitter