ये झारखड हैः पेंशन की आस लिए 'साहेब के जनता दरबार' का चक्कर लगाते मौली भुइंया ने तोड़ा दम

ये झारखड हैः पेंशन की आस लिए 'साहेब के जनता दरबार' का चक्कर लगाते मौली भुइंया ने तोड़ा दम
पीबी ब्यूरो ,   Jan 19, 2020

झारखंड में पलामू के तरहसी में वृद्ध मौली भुइंया की मौत ने एक साथ कई सवाल खड़े कर दिए हैं. अदद पेंशन और आवास की आस लिए शनिवार को वृद्ध और बीमार मौला जनता दरबार में पहुंचे थे. साथ में पत्नी शनिचरी देवी भी थीं.

जनता दरबार में उन्होंने वृद्धापेंशन और प्रधानमंत्री आवास की दरख्वास्त की. सरकारी बाबुओं ने इसके लिए आधार कार्ड और राशन कार्ड की मांग की. मौली फिर अपने गांव लौटे. वहां से कागजात लेकर लौट रहे थे. लेकिन जनता दरबार पहुंचने से पहले वे गिर पड़े और उनकी मौत हो गई. 

मौला भुईयां का बेटा अरविंद राम पंजाब में दिहाड़ी खटता है. गांव में मौली अपनी पत्नी के साथ रहता था.  

हाल ही में हेमंत सोरेन की सरकार ने आदेश जारी किया है कि जिले के आला अधिकारी पंचायत और प्रखंड में जाकर हफ्ता में एक दिन जनता दरबार जरूर लगाएं और लोगों की समस्याओं का निदान करें. 

इसी आदेश के तहत पलामू के डीडीसी बिंदुमाधव सिंह तरसही प्रखंड के पाठक पगार पंचायत में जनता दरबार लगाने पहुंचे थे. इसी दरबार में दिन के बारह बजे मौला भुइंया भी पहुंचे थे. उन्होंने अपनी फरियाद लगाई और इसके बाद जो कुछ हुआ, उसने व्यवस्था को सिरे से उजागर कर रख दिया. 

इसे भी पढ़ें: संविधान को मानता है आरएसएस, उसका कोई एजेंडा नहीं : मोहन भागवत

वे बताती हैं कि कुछ दिन पहले जब प्रखंड कार्यालय में शिविर लगा था, तब उनके पति ने आवेदन दिया था. लेकिन आवेदन स्वीकृत नहीं हुआ.
 
बिचौलिए पेंशन स्वीकृति के नाम पर पैसे मांग रहे थे. आखिर वह गरीब कहां से पैसा देते. पेंशन की आस में उनके पति की जान चली गयी. वहीं सरकारी पदाधिकारियों के मुताबिक, 2011 की जनगणना में जो एससी डाटा बना था उसमें मौला भुईयां का नाम आवास पानेवाले लाभुकों के सूची  में नहीं था. 

नई सूची में मौली का नाम है. लेकिन यह सूची अभी  स्वीकृत नहीं हुई है. वहीं ग्रामीणों ने कहा कि कार्यक्रम शुरू होने से पहले भी मौली कई बार आयोजन स्थल का चक्कर लगा चुका था. उसे उम्मीद थी, कि आज उसके नाम पर वृद्दा पेंशन स्वीकृत हो जाएगी.  

पलामू के डीडीसी बिंदु माधव सिंह ने कहा है कि मौला भुईयां कार्यक्रम में शामिल होने आ रहे थे, इसी दौरान उनकी मौत हुई है. बीडीओ को निर्देश दिया गया है कि सरकारी प्रावधान के मुताबिक मौला के परिजनों को तत्काल सरकारी सहायता उपलब्ध कराई जाए.

अगर पूर्व में मौला भुइंया ने कोई आवेदन दिया था, तो उस पर अपेक्षित कार्रवाई क्यों नहीं हुई. इसके लिए जो भी जिम्मेवार होंगे उन पर  कार्रवाई होगी. 

इस बीच मौली भुइंया की पत्नी को प्रशासन ने दस हजार रुपए की सहायता दी है. 50 किलो अनाज दिया गया है. साथ ही भरोसा अंबेडकर आवास के लिए एक लाख तीस हजार रुपए की स्वीकृति दी गई है.  

उधर मौला के गांव में शोक है. कई परिजन उसके यहां पहुंचे हैं. पत्नी की आंखों में आंसू रूक नहीं रहे. कभी वे सिस्टम को नसीहत देती हैं और कभी कहती हैं गरीब का यही हाल होता है. 

 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कृषि सुधार 21 वीं सदी के भारत की जरूरत, किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास जारी रहेंगे: मोदी
कृषि सुधार 21 वीं सदी के भारत की जरूरत, किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास जारी रहेंगे: मोदी
कोडरमाः स्टेशन पर कंफर्म टिकट लेकर इंतजार करते रह गए यात्री, नही रुकी ट्रेन, खब हुआ हुज्जत
कोडरमाः स्टेशन पर कंफर्म टिकट लेकर इंतजार करते रह गए यात्री, नही रुकी ट्रेन, खब हुआ हुज्जत
राज्यसभा में विपक्ष ने जिस तरीके से हंगामा किया उससे संसदीय गरिमा को चोट पहुंची हैः राजनाथ सिंह
राज्यसभा में विपक्ष ने जिस तरीके से हंगामा किया उससे संसदीय गरिमा को चोट पहुंची हैः राजनाथ सिंह
बिहार चुनावः चिराग पासवान ने कार्यकर्ताओ को लिखा, एनडीए में अभी नही हुई है सीट बंटवारे पर बात
बिहार चुनावः चिराग पासवान ने कार्यकर्ताओ को लिखा, एनडीए में अभी नही हुई है सीट बंटवारे पर बात
विपक्ष के भारी हंगामे के बीच कृषि सुधार से जुड़े दो बिल राज्यसभा में ध्वनि मत से पारित
विपक्ष के भारी हंगामे के बीच कृषि सुधार से जुड़े दो बिल राज्यसभा में ध्वनि मत से पारित
नीतीश कुमार एक थाना या ब्लॉक का नाम बता दें, जहां बिना 'चढ़ावा' काम होता होः तेजस्वी यादव
नीतीश कुमार एक थाना या ब्लॉक का नाम बता दें, जहां बिना 'चढ़ावा' काम होता होः तेजस्वी यादव
अभिनेत्री पायल घोष ने फिल्मकार अनुराग कश्यप पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया
अभिनेत्री पायल घोष ने फिल्मकार अनुराग कश्यप पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया
कृषि विधेयक किसानों के रक्षा कवच, विरोध करने वाले दे रहे बिचौलियों का साथ: पीएम मोदी
कृषि विधेयक किसानों के रक्षा कवच, विरोध करने वाले दे रहे बिचौलियों का साथ: पीएम मोदी
नक्सलियों और अपराधियों के आगे पस्त हेमंत सरकार निहत्थे सहायक पुलिसकर्मियों पर लाठियां चला रहीः रघुवर दास
नक्सलियों और अपराधियों के आगे पस्त हेमंत सरकार निहत्थे सहायक पुलिसकर्मियों पर लाठियां चला रहीः रघुवर दास
गढ़वा: जलावन के लिए लकड़ी चुनने गए पति-पत्नी पर मधुमक्खियों का हमला, दोनों की मौत
गढ़वा: जलावन के लिए लकड़ी चुनने गए पति-पत्नी पर मधुमक्खियों का हमला, दोनों की मौत

Stay Connected

Facebook Google twitter