12 साल पहले मैनहर्ट कंसल्टेंसी नियुक्ति में गड़बड़ीः रघुवर सहित अन्य पर एसीबी में मामला दर्ज, जांच जारी

 12 साल पहले मैनहर्ट कंसल्टेंसी नियुक्ति में गड़बड़ीः रघुवर सहित अन्य पर एसीबी में मामला दर्ज, जांच जारी
पीबी ब्यूरो ,   Nov 06, 2020

झारखंड की राजधानी रांची में सीवरेज- ड्रेनेज निर्माण को लेकर मैनहर्ट कंपनी को परामर्शी कंपनी बनाने में कथित तौर पर में अनिमियतता, भ्रष्टाचार तथा षड़यंत्र के आरोपों की जांच को लेकर एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने रघुवर दास समेत अन्य के खिलाफ पीई (प्रिलिमनरी इंक्वायरी) दर्ज कर लिया है. साथ ही जांच शुरू कर दी गई है. 

रघुवर दास तब (2008-2009) झारखंड सरकार में नगर विकास मंत्री थे.

इससे पहले इसी साल एक अक्तूबर को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इस मामले में एसीबी से जांच के आदेश दिए थे. 

एसीबी ने मंत्रिमंडल निगरानी और सचिवालय विभाग से जांच की स्वीकृति मांगी थी. 

दरअसल जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय ने इस मामले में एसीबी में परिवाद दर्ज कराते हुए तत्कालीन नगर विकास मंत्री रघुवर दास और अन्य के खिलाफ जांच की मांग की थी.  

इसे भी पढ़ें: क्या अमित अग्रवाल के यहां छापे और डायरी के डर से सीबीआई को रोक रही हेमंत सरकारः बाबूलाल मरांडी

हेमंत सोरेन ने इसी परिवाद के आलोक में एंटी करप्शन ब्यूरो को यह आदेश दिया है. जाहिर है यह मामला रघुवर दास का पीछी नहीं छोड़ रहा.

सरयू राय ने अपनी शिकायत में इसका उल्लेख किया था कि निविदा निष्पादन की प्रक्रिया में हर स्तर पर गड़बड़ी हुई है.

इस कारण सरकारी राजस्व में करोड़ों का नुकसान हुआ. निविदा अनावश्यक रूप से विश्व बैंक की क्यूबीएस पर आमंत्रित की गयी थी. ऐसा एक षड्यंत्र के तहत हुआ था.

क्या कहा था परिवाद में 

राजधानी रांची में सीवरेज- ड्रेनेज को लेकर परामर्शी कंपनी मैनहर्ट के चयन में गड़बड़ियों से जुड़े आरोपों को लेकर पूर्व मंत्री और जमशेदपुर पूर्वी से निर्दलीय विधायक सरयू राय ने पिछले 31 जुलाई को पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ एंटी करप्शन ब्यूरो में औपचारिक परिवाद दिया था.

इसके बाद मीडिया से बातचीत में सरयू राय ने कहा था, 27 जुलाई को उनकी लिखी हुई पुस्तक ‘मेनहर्ट नियुक्ति घोटाला लम्हों की खता में’ कई अनिमियतताओं को उजागर किया गया है. मामले की जांच होनी चाहिए. 

इस पुस्तक के प्रकाशन के बाद रघुवर दास ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि इस मामले की जांच में क्लीन चीट मिल चुकी है. 

सरयू राय का कहना था कि अगर क्लीन चिट मिल चुकी है, तो वह साफ होना चाहिए. इसलिए इस मामले को लेकर वे एसीबी के पास पहुंचे हैं.

lतब सरयू राय ने कहा था, ''एसीबी से आग्रह करते हुए एक औपचारिक प्रतिवाद सौंपा हूं. इसमें एसीबी से आग्रह किया हूं कि मैनहर्ट मामले में अगर कोई जांच हुई हो तो उसकी रिपोर्ट दी जाए. अगर जांच नहीं हुई है तो इस मामले पर जांच होनी चाहिए.''

सरयू राय ने जब इस घोटाले पर किताब लिखी, तो रघुवर दास ने तीखी टिप्पणी की थी. दरअसल यह मामला 11 साल पुराना है.

और रघुवर दास ने सार्वजनिक तौर पर बयान जारी कर कहा है कि इस मामले में जांच के बाद क्लीन चिट दी गई है. 

इसे भी पढ़ें: पूर्व मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी झारखंड कर्मचारी चयन आयोग के नए अध्यक्ष

रघुवर दास ने सवालिया लहजे में कहा था, ''क्या सरयू राय जी इस मामले को विगत 10 वर्षों से भ्रष्टाचार का मामला बताकर आम जनता को गुमराह करने एवं उनकी आंखों में धूल झोंकने का काम करते रहे हैं.जिस शासन तथा पार्टी का वे हिस्सा रहे, उसके विरूद्ध अनर्गल बातें करना उनका स्वभाव रहा है. मैंने अपने कार्यकाल में राज्य के विकास के लिए दिन रात मेहनत की और राज्य को विकास के पथ पर ला खड़ा किया है. अफसोस है कि राय जी ने सिर्फ इसलिए मेरा प्रतिकार करते रहे हैं कि संभवत: भगवान उन्हें सुबुद्धि प्रदान करें, इससे अधिक मैं क्या ही कह सकता हूं.''


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कांग्रेस के कद्दावर नेता अहमद पटेल का निधन
कांग्रेस के कद्दावर नेता अहमद पटेल का निधन
बिहार में स्पीकर का चुनाव: भाजपा के विजय सिन्हा के मुकाबले राजद ने अवध बिहारी चौधरी को उतारा
बिहार में स्पीकर का चुनाव: भाजपा के विजय सिन्हा के मुकाबले राजद ने अवध बिहारी चौधरी को उतारा
कंगना की गिरफ्तारी पर मुंबई हाईकोर्ट ने लगाई रोक
कंगना की गिरफ्तारी पर मुंबई हाईकोर्ट ने लगाई रोक
बिहार: एआईएमआईएम के विधायक ने शपथ में हिन्दुस्तान शब्द नहीं पढ़ा, बीजेपी बोली, पाकिस्तान चले  जाएं
बिहार: एआईएमआईएम के विधायक ने शपथ में हिन्दुस्तान शब्द नहीं पढ़ा, बीजेपी बोली, पाकिस्तान चले जाएं
असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरूण गोगोई का निधन
असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरूण गोगोई का निधन
क्यों सुर्खियों में है कोडरमा के उपायुक्त रमेश घोलप का एक पोस्ट, 'जब मां मेरे ऑफिस में आई थी'
क्यों सुर्खियों में है कोडरमा के उपायुक्त रमेश घोलप का एक पोस्ट, 'जब मां मेरे ऑफिस में आई थी'
राजद ने पूछा, सीएम नीतीश कुमार के नवरत्नों में भ्रष्टाचारी ही क्यों हैं?
राजद ने पूछा, सीएम नीतीश कुमार के नवरत्नों में भ्रष्टाचारी ही क्यों हैं?
कांग्रेस के सहयोग से गुपकार संगठन के लोग देश को अलगाव में झोंक रहे हैं : नित्यानंद राय
कांग्रेस के सहयोग से गुपकार संगठन के लोग देश को अलगाव में झोंक रहे हैं : नित्यानंद राय
ड्रग्स मामले में एनसीबी का शिकंजाः कॉमेडियन भारती सिंह के बाद पति हर्ष भी गिरफ्तार
ड्रग्स मामले में एनसीबी का शिकंजाः कॉमेडियन भारती सिंह के बाद पति हर्ष भी गिरफ्तार
प्यार में 'जिहाद' की कोई जगह नहीं, बांटने के लिए भाजपा ने गढ़ा 'लव जिहाद' शब्द : अशोक गहलोत
प्यार में 'जिहाद' की कोई जगह नहीं, बांटने के लिए भाजपा ने गढ़ा 'लव जिहाद' शब्द : अशोक गहलोत

Stay Connected

Facebook Google twitter