मैनहर्ट कंसल्टेंसी की नियुक्ति में गड़बड़ी के आरोप: हेमंत ने दिए एसीबी जांच के आदेश, घेरे में रघुवर

मैनहर्ट कंसल्टेंसी की नियुक्ति में गड़बड़ी के आरोप: हेमंत ने दिए एसीबी जांच के आदेश, घेरे में रघुवर
पीबी ब्यूरो ,   Oct 01, 2020

झारखंड की राजधानी रांची में सीवरेज- ड्रेनेज निर्माण को लेकर मैनहर्पट कंपनी को परामर्शी कंपनी बनाने में कथित तौर पर में अनिमियतता, भ्रष्टाचार तथा षड़यंत्र के आरोपों की जांच एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) करेगा.

एसीबी ने मंत्रिमंडल निगरानी और सचिवालय विभाग से जांच की स्वीकृति मांगी थी. 

इससे पहले जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय ने इस मामले में एसीबी में परिवाद दर्ज कराते हुए तत्कालीन नगर विकास मंत्री रघुवर दास और अन्राय के खिलाफ जांच की मांग की थी.  

हेमंत सोरेन ने इसी परिवाद के आलोक में गुरुवार की देर शाम एंटी करप्शन ब्यूरो को यह आदेश दिया है. अब एसीबी पीई दर्ज कर जांच शुरू करेगा. 

जाहिर है यह मामला रघुवर दास का पीछी नहीं छोड़ रहा.

इसे भी पढ़ें: बेरमो और दुमका उपचुनावः सुदेश से मिले बीजेपी के दीपक प्रकाश और धर्मपाल, साथ लड़ने पर हुई बात

क्या कहा था परिवाद में 

राजधानी रांची में सीवरेज- ड्रेनेज को लेकर परामर्शी कंपनी मैनहर्ट के चयन में गड़बड़ियों से जुड़े आरोपों को लेकर पूर्व मंत्री और जमशेदपुर पूर्वी से निर्दलीय विधायक सरयू राय ने पिछले 31 जुलाई को पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ एंटी करप्शन ब्यूरो में औपचारिक परिवाद दिया था.

एसीबी में पुलिस महानिदेशक नीरज सिन्हा से मिलकर उनहोने परिवद सौंपा और जांच कराने की मांग की थी.

इसके बाद मीडिया से बातचीत में सरयू राय ने कहा था, 27 जुलाई को उनकी लिखी हुई पुस्तक ‘मेनहर्ट नियुक्ति घोटाला लम्हों की खता में’ कई अनिमियतताओं को उजागर किया गया है. मामले की जांच होनी चाहिए. 

इस पुस्तक के प्रकाशन के बाद रघुवर दास ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि इस मामले की जांच में क्लीन चीट मिल चुकी है. 

सरयू राय का कहना था कि अगर क्लीन चिट मिल चुकी है, तो वह साफ होना चाहिए. इसलिए इस मामले को लेकर वे एसीबी के पास पहुंचे हैं. सरयू राय ने कहा, ''एसीबी से आग्रह करते हुए एक औपचारिक प्रतिवाद सौंपा हूं. इसमें एसीबी से आग्रह किया हूं कि मैनहर्ट मामले में अगर कोई जांच हुई हो तो उसकी रिपोर्ट दी जाए. अगर जांच नहीं हुई है तो इस मामले पर जांच होनी चाहिए.''

रघुवर दास का पलटवार

इससे पहले रघुवर दास ने सरयू राय द्वारा किताब लिखे जाने और लगातार इस मामले को उठाए जाने पर सवालिया लहजे में कहा था, ''क्या सरयू राय जी इस मामले को विगत 10 वर्षों से भ्रष्टाचार का मामला बताकर आम जनता को गुमराह करने एवं उनकी आंखों में धूल झोंकने का काम करते रहे हैं.जिस शासन तथा पार्टी का वे हिस्सा रहे, उसके विरूद्ध अनर्गल बातें करना उनका स्वभाव रहा है. सरकार की बातों को बाहर करना हो या पार्टी, माननीय प्रधानमंत्री जी व भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को कोसना हो, उन्होंने कोई मौका नहीं छोड़ा।. मैंने अपने कार्यकाल में राज्य के विकास के लिए दिन रात मेहनत की और राज्य को विकास के पथ पर ला खड़ा किया है. अफसोस है कि राय जी ने सिर्फ इसलिए मेरा प्रतिकार करते रहे हैं कि संभवत: भगवान उन्हें सुबुद्धि प्रदान करें, इससे अधिक मैं क्या ही कह सकता हूं.'' 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

 राबड़ी देवी का नीतीश पर पलटवार, 'लालू जी ने राजनीतिक जीवनदान दिया, उनका शुक्रगुजार रहें'
राबड़ी देवी का नीतीश पर पलटवार, 'लालू जी ने राजनीतिक जीवनदान दिया, उनका शुक्रगुजार रहें'
बिहार विधानसभा में तेजस्वी के आरोपों पर बिफर पड़े सीएम नीतीश कुमार
बिहार विधानसभा में तेजस्वी के आरोपों पर बिफर पड़े सीएम नीतीश कुमार
गढ़वाः रिश्वतखोरी में मुखिया गिरफ्तार, बिना पैसा लिए योजना देने को तैयार नहीं थे
गढ़वाः रिश्वतखोरी में मुखिया गिरफ्तार, बिना पैसा लिए योजना देने को तैयार नहीं थे
 कंगना की जीत, बंगला ढहाने के मामले में हाई कोर्ट ने रद्द किया बीएमसी का आदेश
कंगना की जीत, बंगला ढहाने के मामले में हाई कोर्ट ने रद्द किया बीएमसी का आदेश
महबूबा मुफ्ती और उनकी बेटी कथित तौर पर नजरबंद
महबूबा मुफ्ती और उनकी बेटी कथित तौर पर नजरबंद
लालू के खिलाफ झारखंड हाईकोर्ट में याचिका दायर, जेल में रहकर फोन इस्तेमाल का आरोप
लालू के खिलाफ झारखंड हाईकोर्ट में याचिका दायर, जेल में रहकर फोन इस्तेमाल का आरोप
सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव पर हेमंत सरकार इतनी मेहरबान क्यों, कोर्ट संज्ञान लेः बाबूलाल मरांडी
सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव पर हेमंत सरकार इतनी मेहरबान क्यों, कोर्ट संज्ञान लेः बाबूलाल मरांडी
बीजेपी विधायक विजय सिन्हा बिहार विधानसभा के स्पीकर चुने गए, गठबंधन का जोर काम नहीं आया
बीजेपी विधायक विजय सिन्हा बिहार विधानसभा के स्पीकर चुने गए, गठबंधन का जोर काम नहीं आया
कांग्रेस के कद्दावर नेता अहमद पटेल का निधन
कांग्रेस के कद्दावर नेता अहमद पटेल का निधन
 ट्वीट कर सुशील मोदी ने बताया, किस नंबर से लालू जेल से फोन पर एनडीए विधायकों को प्रलोभन दे रहे
ट्वीट कर सुशील मोदी ने बताया, किस नंबर से लालू जेल से फोन पर एनडीए विधायकों को प्रलोभन दे रहे

Stay Connected

Facebook Google twitter