सत्ता और सिस्टम से लातेहार के बुजुर्गों, गरीबों का सवाल- महीनों से पेंशन कहां और क्यों रूकी पड़ी है

सत्ता और सिस्टम से लातेहार के बुजुर्गों, गरीबों का सवाल- महीनों से पेंशन कहां और क्यों रूकी पड़ी है
पीबी ब्यूरो ,   Jan 30, 2021

झारखंड के कई  जिलों में सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रम के तहत बुजुर्गों, गरीबों और दिव्यागों को महीनों से पेंशन नहीं मिल रही.

लाखों गरीबों की जिंदगी मुश्किलों में पड़ी है. इन्हीं मुश्किलों के बीच लातेहार में बुजुर्ग, गरीब एकजुट होकर सरकारी दफ्तर घेरने निकल पड़े. 

सत्ता और सिस्टम से सवाल पूछे गए. शुक्रवार को जिले के बरवाडीह प्रखंड में संयुक्त ग्राम सभा मंच के बैनर तले पेंशन आक्रोश रैली निकाली गई. 

इसके बाद बरवाडीह प्रखंड कार्यालय के सामने सभा की गई. कन्हाई सिंह की अगुवाई में निकले इस जुलूस में गांव- गिराव के सैकड़ों लोग शामिल हुए. लोगों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. 

जाने-माने अर्थशास्त्री और भोजन, रोजगार के अधिकार से जुड़े ज्यां द्रेज एनसीडीआर के प्रदेश संयोजक मिथिलेश कुमार समेत कई सामाजिक कार्यकर्ता भी बरवाडीह पहुंचे थे.

इसे भी पढ़ें: गिरिडीह और खूंटी में मेडिकल कॉलेज खुलेंगेः स्वास्थ्य सचिव

धरना- प्रदर्शन के बाद प्रशासन को एक ज्ञापन सौंपा गया. 

प्रो ज्यां द्रेंज का कहना है कि राज्य के सभी जिलों में पेंशन का भुगतान नहीं किये जाने की लगातार शिकायतें मिल रही है. जबकि सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकारों को पहले ही कहा है कि महीने की सात तारीख तक पेंशन जरूर दिए जाएं. 

बावजूद महीनों तक पेंशन भुगतान नहीं होना काफी खेदजनक है. इससे यह भी मालूम पड़ता है कि सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रमों की सरकार अनदेखी कर रही है. 

चुनाव से पहले सत्तारूढ़ दलों ने पेंशन की राशि बढ़ाकर ढाई हजार करने का वादा किया था. वादे पर सरकार चुप बैठी है. 

मिथिलेश कुमार कहते है ''सरकार पेंशन का भुगतान नहीं कर गरीबों के साथ अन्याय कर रही है. पेंशन इनके जीवनयापन का सहारा है.'' 

नवाडीह की बूढ़ी महिला अंती देवी को पांच साल से पेंशन नसीब नहीं है. देह अब साथ नहीं देता. गरीबी की चादर ओढ़ें या बिछाएं, उन्हें समझ में नहीं आता. वे कहती हैं कि बहुत दिक्कत है. पता नहीं पांच साल से पेंशन काहे और कहां रूका पड़ा है. 

कन्हाई सिंह की सीधी शिकायत हेमंत सोरेन सरकार से है. वे कहते हैं, ''गरीबों का हमदर्द होने का दावा करने वाली इस सरकार में सबसे ज्यादा मुश्किलें गरीबों, मजदूरों और बुजुर्गों के सामने है. असहाय और जरूरतमंदों को पिछले 6 माह से पेंशन नहीं मिल रही है. गरीब बुजुर्ग, प्रज्ञा केंद्र, बैंक और सरकारी दफ्तरों का चक्कर लगाकर परेशान हैं.'' 

इधर अंचलाधिकारी राकेश सहाय ने पीड़ित लोगों को शीघ्र ही लंबित पेंशन की राशि का भुगतान कराने का भरोसा दिया है. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

भाजपा मेरे फोन कॉल की रिकॉर्डिंग करवा रही है, नहीं छोड़ूंगी: ममता बनर्जी
भाजपा मेरे फोन कॉल की रिकॉर्डिंग करवा रही है, नहीं छोड़ूंगी: ममता बनर्जी
टीकाकरण के लिए आयुसीमा घटाकर 25 साल करे सरकार: सोनिया गांधी
टीकाकरण के लिए आयुसीमा घटाकर 25 साल करे सरकार: सोनिया गांधी
हमारे पास किसी चीज की कोई कमी नहीं, पहले से ज्यादा अनुभव भी हैं- केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री
हमारे पास किसी चीज की कोई कमी नहीं, पहले से ज्यादा अनुभव भी हैं- केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री
नागपुरी के विद्वान, जाने-माने संस्कृतिकर्मी डॉ गिरिधारी राम गौंझू का निधन, अस्पताल में बेड नहीं मिला
नागपुरी के विद्वान, जाने-माने संस्कृतिकर्मी डॉ गिरिधारी राम गौंझू का निधन, अस्पताल में बेड नहीं मिला
हेमंत सोरेन ने सिरमटोली रांची में सरहुल की पूजा की
हेमंत सोरेन ने सिरमटोली रांची में सरहुल की पूजा की
सरकार का टीका उत्सव बस ढोंग है : राहुल
सरकार का टीका उत्सव बस ढोंग है : राहुल
कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने बाबा मंदिर देवघर में की पूजा, भाजपा सांसद निशिकांत बोले, रासुका लगे
कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने बाबा मंदिर देवघर में की पूजा, भाजपा सांसद निशिकांत बोले, रासुका लगे
सीबीएसई बोर्डः 10वीं की परीक्षा रद्द, 12वीं की परीक्षा स्थगित
सीबीएसई बोर्डः 10वीं की परीक्षा रद्द, 12वीं की परीक्षा स्थगित
सपा नेता अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव, योगी भी आइसोलेशन में
सपा नेता अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव, योगी भी आइसोलेशन में
रांचीः स्वास्थ्य मंत्री पर नजर पड़ते ही फूट पड़ी युवती-' डॉक्टर झांकने नहीं आए, पापा तड़प- तड़प कर मर गए'
रांचीः स्वास्थ्य मंत्री पर नजर पड़ते ही फूट पड़ी युवती-' डॉक्टर झांकने नहीं आए, पापा तड़प- तड़प कर मर गए'

Stay Connected

Facebook Google twitter