जेजेएमपी ने 50 हजार की सुपारी देकर कराई लातेहार में बीजेपी नेता जयवर्द्धन सिंह की हत्या, 4 गिरफ्तार

जेजेएमपी ने 50 हजार की सुपारी देकर कराई लातेहार में बीजेपी नेता जयवर्द्धन सिंह की हत्या, 4 गिरफ्तार
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Jul 13, 2020

झारखंड में लातेहार पुलिस ने बीजेपी नेता जयवर्द्धन सिंह हत्याकांड से पर्दा हटा लेने का दावा किया है. पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है. लातेहार के एसपी प्रशांत आनंद ने आज प्रेस कांफ्रेस कर यह जानकारी दी. 

उन्होंने बताया है कि उग्रवादी संगठन झारखंड जनमुक्ति परिषद (जेजेएमपी) के मनोहर परहिया का नाम आया है.

उसने ही 50 हजार रुपए की सुपारी देकर हत्या कराई है. जबकि हत्या की घटना में शामिल चार लोगों को गिरफ्तार किया है. 

पुलिस अधिकारी के मुताबिक हत्या के मुख्य षड़यंत्रकारी मनोहर की तलाश जारी है. उसे पकड़े जाने के बाद और खुलासा  हो सकेगा. 

जिन चार लोगों को गिरप्तार किया गया है उनमें राहुल कुमार ठाकुर (संगराहा पलामू) सत्यम कुमार गुप्ता (विश्रामपुर पलामू) अंशू प्रसाद (बरवाडीह) सुरेश परहिया (हेंदेखास बरवाडीह) शामिल हैं. 

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस का संकट अभी बद से बदतर होने वाला है : डब्ल्यूएचओ

क्षेत्र में लेवी नहीं मिलने की राह आसान हो, वर्चस्व कायम कर सकें, साथ ही बीजेपी नेता लेवी की राह में बाधक नहीं बनें, इस मकसद से ही मनोहर परहिया ने सुरेश परहिया के मार्फत अंशु गुप्ता को हत्या के लिए 50 हजार दिेए थे. 

पुलिस अधिकारी ने इस घटना में बरवाडीह थाना की किसी लापवरवाही से इनकार किया है, 

पांच जुलाई की घटना

गौरतलब है कि लातेहार जिले के बरवाडीह में बीजेपी नेता जयवर्द्धन सिंह की पिछले पांच जुलाई को गोली मार कर हत्या कर दी गई थी.

जयवर्द्धन सिंह लातेहार के जिला महामंत्री के अलावा चतरा से पार्टी के सांसद सुनील सिंह के प्रतिनिधि भी थे. 

यह घटना शाम करीब साढ़े सात बजा हुई, जब वे बस स्टैंड के सामने एक ग्राहक सेवा केंद्र के सामने बैठे थे.

घटना से कुछ ही देर पहले वे अपनी स्कॉर्पियों से वहां पहुंचे थे. यह जगह बरवाडीह थाना से महज कुछ फर्लांग की दूरी पर है.  

हत्या के खिलाफ बरवाडीह के लोगों और बीजेपी में आक्रोश है. इस घटना के खिलाफ छह जुलाई को बरवाडीह बाजार स्वतः स्फूर्त बंद रहा. लोगों ने धरना प्रदर्शन भी किया.

जबकि रांची में बीजेपी नेताओं का एक प्रतनिधिमंडल ने छह जुलाई को पुलिस महानिदेशक के नाम एक ज्ञापन सौंपते हुए इस घटना की निष्पक्ष जांच कराने के साथ अपराधियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की थी.

उसी दिन घटना का जायजा लेने बीजेपी सांसद समीर उरांव, प्रदेश महामंत्री आदित्य साहू और प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव बरवाडीह पहुंचे थे. 

इसे भी पढ़ें: नामधारी ने हेमंत को लिखा पत्र, बीजेपी नेता जयवर्द्धन सिंह हत्याकांड की सीबीआई जांच जरूरी

इससे पहले लातेहार के एसपी प्रशांत आनंद ने घटना स्थल का जायजा लेने के बाद जांच के लिए एसआईटी बैठाई थी. बरवाडीह एसडीपीओ अमरनाथ के नेतृत्व में गठित एसआईटी में आधा दर्जन पुलिस अधिकारी को शामिल किया गया था. 

अंशु गुप्ता मास्टरमाइंड 

पुलिस ने घटना में प्रयुक्त हथियार, खोखा, अभियुक्तों के सात मोबाइल सेट, छर्रे और सुपारी के लिए लिए गए 50 हज़ार रुपयों में से बीस हज़ार नकद बरामद किये हैं. 

एसपी ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि घटना के पहले दोनों शूटरों राहुल और सत्या ने प्रज्ञा केंद्र पहुँच पैन कार्ड बनवाने की जानकारी ली ताकि वहां बैठे भाजपा नेता की नजदीक से पहचान कर सकें.

फिर राहुल ने सटा कर गोली मार दी. भागते समय राहुल तो पास ही बाइक लेकर मौजूद अंशु के साथ भाग निकला लेकिन सत्या को स्थानीय लोगों ने दौड़ा दिया.

उसने बचने के लिए हवा में गोली चलाई. इसके बाद सत्या पास की ही झाड़ी में छिप गया. 

फिर देर रात वहां से निकल कर उक्कामाढ़ पहुंचा जहाँ तीनों एक साथ मिल गए. 

उन्होंने आगे बताया कि फिर तीनों हंदेहास पहुंचे और सुरेश परहिया के घर में रात बिताई. अगले दिन दोनों शूटर डालटनगंज की तरफ निकल गए. सुरेश परहिया जेजेएमपी के मनोहर का साला है. 

एसपी ने बताया कि जेजेएमपी के मनोहर ने इस काम के लिए अंशु को 50 हज़ार रूपये दिए थे.

अंशु ने शूटरों को लालच दिया कि इस घटना को अंजाम देने के बाद फिर पैसे की कमी नहीं रहेगी. बहुत पैसा होगा. अंशु ने उन्हें एक बाइक खरीदकर देने का वादा किया था.

सीबीआई जांच

बीजेपी इस घटना की सीबीआई जांच की मांग करती रही है. जबकि तीन दिन पहले ही झारखंड विधानसभा के पहले स्पीकर रहे, पूर्व सांसद इंदर सिंह नामधारी ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को एक पत्र लिखकर जयवर्द्धन सिंह की हत्या की जांच सीबीआई से कराने का आग्रह किया है. 

नामधारी ने उम्मीद जताई है कि मुख्यमंत्री उनकी सलाह और आग्रह को स्वीकार करेंगे, ताकि इस घटना की हकीकत से पर्दा उठ सके. 

हेमंत सोरेन को लिखे पत्र में इंदर सिंह नामधारी ने कहा है कि चतरा का सांसद होने के चलते (2009-2014) मैंने जयवर्द्धन सिंह की कर्मठता और लगन को बहुत नजदीक से देखा था. 

जयवर्द्धन सिंह बीजेपी के एक समर्पित और जमीनी कार्यकर्ता रहे हैं. नामधारी ने यह भी कहा है कि लातेहार तथा बरवाडीह के आम लोगों की धारणा है कि इस हत्याकांड की सीबीआई जांच कराई जाए. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
आईपीएल 2020 के रंग में धौनी, साथियों के साथ चेन्नई पहुंचे
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
राजस्थान विधानसभा में बोले सचिन पायलट, मैं जब तक बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
वकील प्रशांत भूषण अवमानना के मामले में दोषी करार, सजा पर सुनवाई 20 अगस्त को
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
तेजस्वी ने नीतीश और उनके मंत्री को घेरा, कोरोना के आंकड़ों पर पूछा- कौन सच्चा कौन झूठा?
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
झारखंडः पीटीआई के ब्यूरो चीफ पीवी रामानुजम ने खुदकुशी कर ली
 जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
जानिए क्यों मिला खूंटी के दारोगा पुष्पराज को केंद्रीय गृह मंत्री पदक सम्मान
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?

Stay Connected

Facebook Google twitter