जमीन का काम अंचल से जिलाधिकारी ऑफिस तक बिना पैसे का नहीं होता, कर्मचारी-दलाल हावीः बंधु तिर्की

जमीन का काम अंचल से जिलाधिकारी ऑफिस तक बिना पैसे का नहीं होता, कर्मचारी-दलाल हावीः बंधु तिर्की
पीबी ब्यूरो ,   Nov 23, 2020

झारखंड में मांडर से विधायक बंधु तिर्की ने एक बार फिर जमीन में हेराफेरी और गरीब रैयतों की परेशानी को लेकर सिस्टम के साथ सरकार पर निशाना साधा है.

उन्होंने कहा है कि जमीन का काम अंचल से जिलाधिकारी ऑफिस तक बिना पैसे का नहीं होता. बड़े पैमाने पर दस्तावेज में हेराफेरी और छेड़छाड़ हो रही है. हल्का कर्मचारी और दलालों का सांठगांठ सरकारी कामकाज पर हावी है. 

बंधु चिर्की ने आज प्रेस कांफ्रेस कर आरोप लगाया कि अंचल कार्यालय और रिकॉर्ड रूम (अभिलेखागार) में कागजात की हेराफेरी और छेड़छाड़ हो रही है. यही हाल रहा, तो कमजोर रैयतों की जमीन हाथ से निकल जाएगी. फर्जी कागज तैयार कर जमीन की जमाबंदी की जा रही है. 

उन्होंने कहा, ''रिकॉर्ड रूम में भू-माफियाओं की जबरदस्त पकड़ है. रजिस्ट्री ऑफिस में भी दस्तावेज में बड़े पैमाने पर दस्तावेज के साथ छेड़छाड़ हो रही है. रजिस्टर टू 1956 में बना था, जो जमाबंदी का मूल आधार है. इसका वॉल्यूम वन फट कर चिथडा हो गया है. कई दफ्तरों में दलाल-कर्मचारी ने सजिशन फाड़ दिया  है. नया रजिस्टर टू में संधारण किया जा रहा है. इसमें भारी हेराफेरी है. एक व्यक्ति की जमीन का रसीद चार व्यक्ति के नाम पर काटा ज रहा है. कंटीन्यूस खतियान भी अंचल कार्यालय से गायब कर दिया गया है.'' 

खतियान का तत्काल प्रकाशन हो

इसे भी पढ़ें: विधानसभा के नोटिस को बाबूलाल ने दी है हाईकोर्ट में चुनौती, दलबदल पर अब 17 दिसंबर को सुनवाई

विधायक ने कहा, ''हम चाहेंगे कि सरकार तत्काल खतियान का प्रकाशन करे खतियान का. इसके नहीं होने से रैयत कोर्ट कचहरी के चक्कर में फंस गया है. फर्जी तरीके से डरा कर धमका कर कमजोर आदिवासी गैर आदिवासी की जमीन लूटी जा रही है. जल , जगंल, जमीन के मुद्दे पर वोट लेकर सत्ता में हेमंत सोरेन जमीन की रक्षा करें. सरकार गलती और गड़बड़ियां जान रही है. इसके बाद भी लूट का बोलबाला है. एक ही जमीन की तीन लोग के नाम रसीद कट जाता है. चार लोगों के नाम रजिस्ट्री हो जाती है''. 

बधु तिर्की ने यह भी कहा कि भूमि सुधार राजस्व विभाग के सचिव किसी काम के नहीं हैं. उन्होंने सारा काम उलझा कर रखा है. सरकार उन्हें तत्काल हटाए.

इसके साथ ही विधायक ने साल 2003 में तत्कालीन सचिव एसी रंजन द्वारा उपायुक्तों के नाम भेजी चिट्ठी की चर्चा की, जिसमें रसीद काटने, लगान निर्धारण और रजिस्टर टू के संधारण में गड़बड़ियों तथा हल्का कर्मचारी के कार्यों को जवाबदेह बनाने के निर्देश गए थे.

विधायक ने कहा कि यह पत्र जाहिर है कि अंचल कार्यालयों में कितनी गड़बड़ियां हैं. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

तांडव पर उठे विवादों के बीच निर्माताओं ने कहा, वेब सीरीज में बदलाव करेंगे
तांडव पर उठे विवादों के बीच निर्माताओं ने कहा, वेब सीरीज में बदलाव करेंगे
माओवादियों से ज्यादा खतरनाक है भाजपा, हम भगवा पार्टी के सामने सिर नहीं झुकाएंगे : ममता
माओवादियों से ज्यादा खतरनाक है भाजपा, हम भगवा पार्टी के सामने सिर नहीं झुकाएंगे : ममता
ऋषभ पंत के बल्ले से भारत चमका, ऑस्ट्रेलिया पर यादगार जीत से देश में खुशियों का कायनात
ऋषभ पंत के बल्ले से भारत चमका, ऑस्ट्रेलिया पर यादगार जीत से देश में खुशियों का कायनात
देश में 3 लाख 81 हजार लोगों को लगा टीका, प्रतिकूल असर के 580 मामले : स्वास्थ्य मंत्रालय
देश में 3 लाख 81 हजार लोगों को लगा टीका, प्रतिकूल असर के 580 मामले : स्वास्थ्य मंत्रालय
शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की सेहत में सुधार, ठंड कम होने पर अस्पताल से वापस झारखंड आएंगे
शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की सेहत में सुधार, ठंड कम होने पर अस्पताल से वापस झारखंड आएंगे
ममता बनर्जी का एलान, नंदीग्राम से लड़ेंगी चुनाव
ममता बनर्जी का एलान, नंदीग्राम से लड़ेंगी चुनाव
 ट्रैक्टर रैली पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, यह कानून व्यवस्था का मामला, इसे पुलिस देखे
ट्रैक्टर रैली पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, यह कानून व्यवस्था का मामला, इसे पुलिस देखे
ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन, हेमंत सोरेन 17 वें पायदान परः सर्वे
ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन, हेमंत सोरेन 17 वें पायदान परः सर्वे
 भारत मे टीकाकरण शुरूः पीएम मोदी बोले, 'मानव जब जोर लगाता है, पत्थर पानी बन जाता है'
भारत मे टीकाकरण शुरूः पीएम मोदी बोले, 'मानव जब जोर लगाता है, पत्थर पानी बन जाता है'
कानून व्यवस्था को लेकर पत्रकारों के पूछे सवाल पर जब नीतीश कुमार बमक गए
कानून व्यवस्था को लेकर पत्रकारों के पूछे सवाल पर जब नीतीश कुमार बमक गए

Stay Connected

Facebook Google twitter