लालू सेे मिले तेजस्वी, बोले फार्मूले पर महागठबंधन बेचैन नहीं, जनता हमारे साथ है

लालू सेे मिले तेजस्वी, बोले फार्मूले पर महागठबंधन बेचैन नहीं, जनता हमारे साथ है
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Dec 29, 2018

आरजेडी विधायक दल के नेता तेजस्वी यादव ने कहा है कि कोई भी कितना जोर लगा ले, बिहार मे महागठबंधन एकतरफा जीत हासिल करेगा. सीट शेयरिंग को लेकर किसी फार्मूले के सवाल पर उन्होने दो टूक कहा कि चुनावों में सिर्फ जनता का फार्मूला चलेगा. और जनता महागठबंधन के पक्ष में है. इसलिए किसी फार्मूले को लेकर हमलोग ( महागठबंधन) बेचैन नहीं है. जो जहां जीतने वाला होगा उसे वो सीट मिलेगी. 

रविवार को रांची में राजद प्रमुख और अपने पिता लालू प्रसाद से मिलने के बाद तेजस्वी यादव मीडियासे बात कर रहे थे. चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद रांची स्थित राजेंद्र आर्युविज्ञान संस्थान में भर्ती  हैं. तेजस्वी इसी अस्पताल में अपने पिता से मिले. तेजस्वी ने कहा कि पिता के स्वास्थ्य को लेकर हमेशा चिंता बनी रहती है. 

इससे पहले राष्ट्रीय लोक समानता पार्टी के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा और विकासशील इंसान पार्टी और निषाद संघ के नेता मुकेश सहनी ने भी लालू प्रसाद से मुलाकात की. 

तेजस्वी यादव ने यह भी कहा कि महागठबंधन सभी चालीस सीटों पर चुनाव लड़ेगा. महागठबंधन के लिए एनडीए को सत्ता से हटाना ही प्राथमिकता है.

तेजस्वी ने यह भी कहा कि महागठबंधन के नेताओं से किसी फार्मूले और सीट शेयरिंग को लेकर ही सवाल क्यों पूछे जाते हैं. महागठबंधन में शामिल सभी दलों की एक ही प्राथमिकता है कि बिहार और देश से एनडीए को सत्ता से हटाना. इसलिए कोई कितना जोर लगा ले बिहार और झारखंड में महागठबंधन क्लीन स्वीप करेगा. 

इसे भी पढ़ें: विपक्ष एकजुट होकर लड़ सका, तो बीजेपी हरदी- गुरदी बोल जाएगी

नहीं बताएंगे

तेजस्वी यादव ने कहा कि किसी रणनीति का खुलासा वे क्यों करें. वे बिल्कुुल नहीं बताएंगे कि फार्मूला क्या है. कोई हारने के लिए चुनाव नहीं लड़ता. उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि फार्मूले को लेकर उम्मीदवारों से ज्यादा उत्सकुता  न्यूज एंकरो को क्यों है. 

राजद नेता ने बीजेपी तथा नीतीश कुमार पर भी निशाने साधे. उन्होंने कहा कि बीजेपी से उनके साथी दलों का विश्वास लगातार टूट रहा है. जनता भी बीजेपी से किनारा लेने के लिए चुनाव की ओर देख रही है. 

उन्होंने कहा कि जेपी भारी दबाव में है. इसलिए तो बिहार में बीजेपी ने दो सांसदों वाले जदयू को 17 सीटें दे दी. कई दलों ने बीजेपी का साथ छोड़ दिया.

उन्होंने कहा कि बिहार में अपराधियों का जोर है और सरकार हर मोर्च पर फेल है. नीतीश कुमार ने जनादेश का अपनाम किया है. इसका खामियाजा उन्हें भगुतना ही पड़ेगा. 

तीसरे गठबंधन के सवाल को टालते हुए उन्होंने कहा कि वेलोग जनता के लिए पंद्रह लाख और दो करोड़ रोजगार मांग रहे हैं. उन्होंने कहा कि सत्ता में जो लोग काबिज हैं उन्हे हटाना ही हमाारा लक्ष्य है. अघोषित तौर पर लागू अपातकाल से देश को बचाना है.  

Publicbol

गौरतलब है कि राष्ट्रीय लोक समानता पार्टी के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा के महागठबंधन में शामिल होने और एनडीए के बीच सीट शेयरिंग के बाद बिहार में चुनावी गतिविधियां तेज हुई है. इसी सिलसिले में रविवार को आरजेडी विधायक दल के नेता तेजस्वी यादव ने अपने पिता लालू प्रसाद से रांची में मुलाकात की. हालांकि उन्होंने कहा कि पिता का हाल लेने आाए थे. 

खुलासा समय पर 

इससे पहले लालू प्रसाद से मिलकर अस्पताल से बाहर निकले उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि सीट शेयरिंग को लेकर बातें चल रही है. इसका खुलासा अभी नहीं कर सकते. उन्होंने कहा कि बिहार में महागठबंधधन के पक्ष में लहर चल रही है और एनडीए का खाता खुलना भी मु्श्किल होगा. कुशवाहा ने कहा कि महागठबंधन मजबूती से चुनाव लड़ने की तैयारी में है. मुकेश सहनी ने कहा कि हम सभी की प्राथमिकता एनडीए को हराना है. इसलिए मिल बैठकर सीटें तय कर ली जाएगी. 

तेजस्वी की यह मुलाकात चुनावी लिहाज से महत्वपूर्ण है. इसलिए कि महागठबंधन में आरजेडी, कांग्रेस, आरएलएसपी, जीतन राम की हिन्दुस्तान अवाम मोर्चा, सहनी की इंसाफ पार्टी अब तक एक हैं. वाम दल और महागठबंधन एक दूसरे की तरफ किस तरीके से हाथ बढ़ायेंगे, इसे देखा जाना बाकी है. ऐसे में लालू प्रसाद की भूमिका बेहद अहम हो जाती है. 

दरअसल लालू प्रसाद विरोधियों को साधना जानते हैं और बिहार में चुनावी हवा का रुख भांपने में भी उन्हें माहिर माना जाता रहा है. बिहार के अलावा झारखंड में भी महागंठबन के गांठ को सुलझाने में लालू इन दिनों जुटे हैं. झारखंड से विपक्ष का कोई भी नेता लालू से मिलने जाता है, तो वे एक ही बात पर जोर देते हैं कि बीजेपी को शिकस्त देना है, तो एकजुट होना होगा.

Publicbol

इसे भी पढ़ें: बाबा रामदेव के बोलः राजनीतिक हालात कठिन, कह नहीं सकते अगला पीएम कौन बनेगा?

पिछले हफ्ते ही बीजेपी से नाराज चल रहे सांसद शत्रुध्न सिन्हा, कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, शकील अहमद, हेमंत सोरेन भी लालू से मिलने अस्पताल पहुंचे थे. 

अनंत कुमार 

इससे पहले पटना से रांची रवाना होने के पहले तेजस्वी यादव ने मीडिया से कहा था कि अनंत सिंह जैसे बैड एलीमेंट के लिए महागठबंधन में कोई जगह नहीं है. इससे पहले तेजप्रताप ने अनंत सिंह को लेकर कहा था कि महागठबंधन में कोई शामिल हना चाहे, तो स्वागत है. निर्दलीय विधायक अनंत सिंह मुंगेर से लोकसभा का चुनाव लड़ना चाहते हैं. एनडीए से मुख्यमंत्री के करीबी ललन सिंह की दावेदारी के संकेत मिलने के बाद वे महागठबंधन में ठौर लेना चाहते हैं. लेकिन तेजस्वी की सख्ती से फिलहाल उनकी राह आसान होती नहीं दिखती.


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी का निधन, पार्टी स्तब्ध
कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी का निधन, पार्टी स्तब्ध
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
अलीगढ़ः बीजेपी विधायक का आरोप, पुलिस ने पीटा, कार्यकर्ताओं ने थाना घेरा, तनाव
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?
रूस की कोरोना वैक्सीन के बारे जानकारों की अलग-अलग राय?
फेसबुक पोस्ट को लेकर बेंगलुरु में भड़की हिंसा, पुलिस फायरिंग में तीन की मौत
फेसबुक पोस्ट को लेकर बेंगलुरु में भड़की हिंसा, पुलिस फायरिंग में तीन की मौत
मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन, कोरोना वायरस से संक्रमित थे
मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन, कोरोना वायरस से संक्रमित थे
कितना भी मैं किसी का विरोध करूं, भाषा की मर्यादा कभी नहीं तोड़ताः सचिन
कितना भी मैं किसी का विरोध करूं, भाषा की मर्यादा कभी नहीं तोड़ताः सचिन
रांची के निकट ओरमांझी में ट्रक पर जा रहे 35 लाख रुपए की अफीम और डोडा बरामद
रांची के निकट ओरमांझी में ट्रक पर जा रहे 35 लाख रुपए की अफीम और डोडा बरामद
दस राज्यों में कोरोना को हरा देते हैं, तो देश भी जीत जाएगाः पीएम मोदी
दस राज्यों में कोरोना को हरा देते हैं, तो देश भी जीत जाएगाः पीएम मोदी
राजस्थानः कांग्रेस में बंवडर थमने की उम्मीद, सचिन की बात सुनने के लिए तीन सदस्यीय कमेटी
राजस्थानः कांग्रेस में बंवडर थमने की उम्मीद, सचिन की बात सुनने के लिए तीन सदस्यीय कमेटी
झारखंड में बेरोजगारी बड़ी चुनौती, हम इससे निपटेंगेः हेमंत सोरेन
झारखंड में बेरोजगारी बड़ी चुनौती, हम इससे निपटेंगेः हेमंत सोरेन

Stay Connected

Facebook Google twitter