लालू प्रसाद यादव जेल से निकले बाहर, बेल बॉंड भरने की प्रक्रिया पूरी

लालू प्रसाद यादव जेल से निकले बाहर, बेल बॉंड भरने की प्रक्रिया पूरी
Publicbol-File Photo
पीबी ब्यूरो ,   Apr 30, 2021

संयुक्त बिहार में हुए चारा घोटाले में फंसे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव जेल से रिहा हो गए हैं.

झारखंड हाईकोर्ट से जमानत मिलने के 12 दिन बाद वह जेल से बाहर निकले हैं.

फिलहाल उनका एम्स में इलाज चल रहा है. एम्स से छुट्टी मिलने के बाद वे अपने घर लौट सकेंगे. 

लालू के अधिवक्ता प्रभात कुमार ने जानकारी दी है कि रिलीज ऑर्डर जेल चला गया.

वहां से एम्स दिल्ली पहुंच जाएगा, जहां लालू प्रसाद वर्तमान में इलाजरत हैं. डॉक्टर जब उन्हें छुट्टी देंगे, तो वे घर चले जाएंगे. 

इसे भी पढ़ें: भाजपा पश्चिम बंगाल में आराम से और पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगीः भूपेंद्र यादव

दुमका ट्रेजरी मामले में झारखंड हाईकोर्ट ने बीते 17 अप्रैल को उन्हें जमानत की सुविधा प्रदान की थी.

लेकिन अधिवक्ताओं के कार्य नहीं किए जाने के कारण बेल बॉड नहीं भरा जा सका था.

इस बीच बार कौंसिल ऑफ इंडिया के आदेश के बाद गुरुवार को लालू प्रसाद के पैरवीकार अधिवक्ता ने दो निजी मुचलके दाखिल किए, जिसे कोर्ट ने सही पाकर बिरसा मुंडा केन्द्रीय कारा होटवार के जेल अधीक्षक को भेज दिया. साथ ही लालू प्रसाद को जेल से छोड़ने का आदेश जारी किया.  

कोरोना महामारी के कारण स्टेट बार कौंसिल के निर्देश पर अधिवक्तागण अपने-आप को न्यायिक कार्य से अलग रखे हुए थे.

बीते 28 अप्रैल को बार कौंसिल ऑफ इंडिया ने आदेश जारी किया कि वैसे मामले में जिनको ऊपरी अदालत ने जमानत की सुविधा दे दी है। निचली अदालत में बेल बॉंड भरने की अनुमित दी जाती है.

अधिवक्ता या अधिवक्ता लिपिक को बेल बॉड भरने की छूट दी जाती है. इसी निर्देश के आलोक में बेल बॉड भरा गया. 

चारा घोटाले के मामलों में सजायाफ्ता लालू यादव 23 दिसंबर 2017 से जेल में हैं.

लालू प्रसाद पर कुल पांच मामले झारखंड में चल रहे हैं. 

जिनमें  चाईबासा के दो, देवघर व दुमका के एक-एक मामले में जमानत मिल गई है. 

वहीं, डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी मामले में अभी निचली अदालत में वे ट्रायल फेस कर रहे हैं.

जेल जाने के बाद वे कई बीमारी की चपेट में हैं. लिहाजा जेल से इलाज के लिए उन्हें रिम्स में भेजा गया.

इसे भी पढ़ें: झारखंड में 18 से 44 उम्र वालों को 1 मई से टीका देना मुश्किल, केंद्र सरकार का सौतेला रवैयाः बन्ना गुप्ता

रिम्स में लंबे समय से भर्ती लालू यादव की तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर पिछले जनवरी महीने में बेहतर इलाज के लिए उन्हें एम्स भेजा गया है. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

निर्वाचन आयोग ने खुद को कलंकित किया, इसे भंग किया जाए, इसके सदस्यों की जांच हो: आनंद शर्मा
निर्वाचन आयोग ने खुद को कलंकित किया, इसे भंग किया जाए, इसके सदस्यों की जांच हो: आनंद शर्मा
ममता बनर्जी 5 मई को लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ, लगातार तीसरा मौका
ममता बनर्जी 5 मई को लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ, लगातार तीसरा मौका
हल्के लक्षण होने पर सीटी-स्कैन कराने का कोई लाभ नहीं- डॉ. रणदीप गुलेरिया
हल्के लक्षण होने पर सीटी-स्कैन कराने का कोई लाभ नहीं- डॉ. रणदीप गुलेरिया
शराब नहीं मिलने पर सैनिटाइजर पीने से दो की मौत, दो अन्य बीमार
शराब नहीं मिलने पर सैनिटाइजर पीने से दो की मौत, दो अन्य बीमार
अस्पतालों में बेड का इंतजार करना अधिक मौत की वजह हो सकती है-रणदीप गुलेरिया
अस्पतालों में बेड का इंतजार करना अधिक मौत की वजह हो सकती है-रणदीप गुलेरिया
गुजरात के भरूच में एक अस्पताल में आग लगने से 14 कोरोना मरीज समेत 16 की मौत
गुजरात के भरूच में एक अस्पताल में आग लगने से 14 कोरोना मरीज समेत 16 की मौत
भाजपा पश्चिम बंगाल में आराम से और पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगीः भूपेंद्र यादव
भाजपा पश्चिम बंगाल में आराम से और पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगीः भूपेंद्र यादव
वैक्सीन को लेकर हेमंत सरकार केंद्र पर दोष मत मढ़े,  राज्य के पास 6.44 लाख टीका उपलब्धः दीपक प्रकाश
वैक्सीन को लेकर हेमंत सरकार केंद्र पर दोष मत मढ़े, राज्य के पास 6.44 लाख टीका उपलब्धः दीपक प्रकाश
अमेरिका से चिकित्सा एवं राहत सामग्री की पहली खेप भारत पहुंची, कहा- कोविड से मिलकर लड़ेंगे
अमेरिका से चिकित्सा एवं राहत सामग्री की पहली खेप भारत पहुंची, कहा- कोविड से मिलकर लड़ेंगे
हेमंत सोरेन ने लगवाया कोरोना का टीका, बोले-अफवाहों पर ना दें ध्यान, वैक्सीन है जरूरी
हेमंत सोरेन ने लगवाया कोरोना का टीका, बोले-अफवाहों पर ना दें ध्यान, वैक्सीन है जरूरी

Stay Connected

Facebook Google twitter