'कुटुंब परिवार संगठन' सक्रिय, तमाड़ के परासी में थी पत्थलगड़ी की तैयारी, धारा 144 लागू

'कुटुंब परिवार संगठन' सक्रिय, तमाड़ के परासी में थी पत्थलगड़ी की तैयारी, धारा 144 लागू
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Feb 27, 2020

झारखंड के चाईबासा और खूंटी के बाद पत्थलगड़ी समर्थकों की सक्रिया दूसरे इलाके में बढ़ने के संकेत मिल रहे हैं. रांची जिले के तमाड़ प्रखंड अंतर्गत परासी पंचायत के बंदासरना में 'भारत सरकार कुटुंब परिवार' ने आज महाआरती को लेकर बैठक बुलाई थी.

प्रशासन और पुलिस के अधिकारी को इसकी जानकारी मिलते ही परासी पंचायत में निषेधाज्ञा लागू कर दी गई. 

बुंडू के एसडीओ उत्कर्ष गुप्ता, डीएसपी अजय कुमार और तमाड़ के अंचल अधिकारी ने परासी गांव पहुंचकर सुरक्षा स्थिति का जायजा लिया. अधिकारियों ने गांव के प्रमुख लोगों से बातचीत कर कहा कि वे सुनिश्चित करें कि पंचायत में विधि-व्यवस्था की स्थिति उत्पन्न न हो.

कानून व्यवस्था के मद्देनजर गांव में दिन भर पुलिस बलों की तैनाती बनी रही. हालांकि बुंडू की अनुमंडल दंडाधिकारी ने निषेधाज्ञा आदेश में कहीं भी पत्थलगड़ी का जिक्र नहीं किया है. 

परासी पंचायत में निषेधाज्ञा के बाबत उन्होंने बताया है कि अनुमंडल पुलिस अधिकारी बुंडू की एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है कि गुरुवार को तमाड़ प्रखंड के परासी गांव के बंदसरना में एक सम्मेलन सह आध्यातिमक आरती का आयोजन किया गया है.

इसे भी पढ़ें: झारखंडः बजट सत्र शुरू, बाबूलाल को नेता प्रतिपक्ष की मान्यता नहीं, गुस्से में बीजेपी, सदन में हंगामा

इस कार्यक्रम में काफी संख्या में खूंटी, रांची और चाईबासा से लोग भाग लेंगे. अत्यधिक भीड़ की वजह से विधि व्यवस्था भंग होने का खतरा है. इसलिए तमाड़ प्रखंड के परासी पंचायत में निषेधाज्ञा लागू की जाती है.

निषेधाज्ञा को लेकर प्रशासनिक आदेश में सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक पंचायत के किसी भी गांव में माइक बजाने पर पूरी तरह रोक रहेगी. इसके बाद भी यदि कोई इसका इस्तेमाल करना चाहे, तो उसके लिए सक्षम पदाधिकारी से इसकी अनुमति लेनी होगी. 

प्रशासन ने स्पष्ट कहा है कि पंचायत क्षेत्र में कोई भी व्यक्ति अथवा राजनीतिक दल या संगठन किसी प्रकार का पोस्टर, पर्चा, आलेख, फोटो आदि का प्रकाशन नहीं करेंगे. 

प्रशासन ने किसी व्यक्ति विशेष के विरुद्ध आपत्तिजनक पर्चा, आलेख, फोटो आदि के प्रकाशन पर भी रोक लगाते हुए कहा है कि इस संबंध में सोशल मीडिया या अन्य प्लेटफॉर्म) में कोई भी आपत्तिजनक पोस्ट, ऐसा संदेश, जो विधि-व्यवस्था को प्रभावित कर सकता है, कोई वायरल नहीं करेगा. 

इसके अलावा परासी पंचायत में किसी भी प्रकार की सार्वजनिक सभा, जुलूस, धरना-प्रदर्शन आदि के साथ-साथ सड़क अवरुद्ध करने जैसी गतिविधियों पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया है. राजनीतिक और धार्मिक आयोजनों पर भी रोक लगा दी गयी है. 

आदेश के जरिए कहा गया है कि सांप्रदायिक भावना को भड़काने का किसी ने प्रयास किया, तो उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जायेगी. इस दौरान कोई भी व्यक्ति या संगठन किसी को भी डराने-धमकाने का काम नहीं करेंगे, न ही किसी को प्रलोभन देकर प्रभावित करने की कोशिश नहीं करेंगे.


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
कोरोना के बीच क्यों सुर्खियों में हैं डॉक्टर सुधीर डेहरिया
उत्तर प्रदेश में 25 साल के युवक की मौत, देश भर में मरने वालों का आंकड़ा 35 तक पहुंचा
उत्तर प्रदेश में 25 साल के युवक की मौत, देश भर में मरने वालों का आंकड़ा 35 तक पहुंचा
बीजेपी बोली, झारखंड के धार्मिक स्थलों में ठहरे विदेशियों ने संक्रमण लाया और सरकार देखती रही
बीजेपी बोली, झारखंड के धार्मिक स्थलों में ठहरे विदेशियों ने संक्रमण लाया और सरकार देखती रही
निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन के बाद मेरठ और मुज्जफरनगर अलर्ट पर
निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन के बाद मेरठ और मुज्जफरनगर अलर्ट पर
कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री
कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात में अनुमानित 1700 लोग शामिल हुए थे,सख्त कार्रवाई होनी चाहिएः मंत्री
प्रशांत किशोर ने कहा, नीतीश कुमार गद्दी छोड़ दें, जदयू का पलटवार, ट्वीट पर घटिया राजनीति मत करें
प्रशांत किशोर ने कहा, नीतीश कुमार गद्दी छोड़ दें, जदयू का पलटवार, ट्वीट पर घटिया राजनीति मत करें
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
 नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 32 हुई
नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 32 हुई
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था

Stay Connected

Facebook Google twitter