कोराना संकटः बेबसी और बेचैनी के बीच अब तक बच कर निकलता जा रहा झारखंड

कोराना संकटः बेबसी और बेचैनी के बीच अब तक बच कर निकलता जा रहा झारखंड
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Mar 26, 2020

झारखंड के लिए फिलहाल राहत की खबर है कि तमाम बेचैनी और बेबसी के बीच राज्य कोरोना की गिरफ्त में आने से बचकर निकलता जा रहा है. आगे हालात इसी तरह रह सके, इसकी कोशिशें जारी है. बुधवार तक राज्य के किसी हिस्से से कोरोना संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है. 

खबरों के मुताबिक आईडीएसपी के राज्य प्रभारी डॉ राकेश दयाल ने बताया है कि राज्य के विभिन्न हिस्सों में बुधवार तक 110 संदिग्धों के सैंपल लिए गए हैं. इनमें 102 की रिपोर्ट निगेटिव आई है. बाकी रिपोर्ट का इंतजार है. 

बुधवार को 13 ने संदिग्ध मामले सामने आए हैं. कोरोना संक्रमण की पुष्टि को लेकर झारखंड के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल रिम्स और जमशेदपुर स्थित एमजीएम में जांच की मशीन बैठाई गई है. रांची स्थित रिम्स में अब तक 58 सैंपल लिए गए हैं. सभी सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आई है. 

कोरोना वार रूम

राजधानी रांची स्थित सूचना भवन में कोराना वार रूम स्थापित किया गया है. बुधवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इस वार रूम का जायजा लिया. तथा देश के अलग- अलग हिस्से में फंसे झारखंडियों की मदद की समीक्षा की. 

इसे भी पढ़ें: झारखंडः 137 सैंपल लिए गए, फिलहाल कोई पॉजिटिव नहीं, जिलों में भी खुला वार रूम

साथ ही कोरोना संकट से उपजे असाधारण स्थिति को लेकर जिलों में क्या तैयारियां की गई है और लोगों की सहायता के लिए क्या कदम उठाए गए हैं, इसकी भी मुख्यमंत्री ने समीक्षा की है. 

बुधवार तक राज्य भर में तैयार किए क्वारंटाइन सेंटरों में 1083 बेड की सुविधा उपलब्ध करा दी गई है. जबकि, राज्य सरकार के विभिन्न अस्पतालों में 557 बेड का आइसोलशन वार्ड और लगभग 270 आईसीयू बेड की सुविधा तैयार की जा चुकी है. 

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉ. नितिन मदन कुलकर्णी के अनुसार जमशेदपुर के बाद रांची में भी कोरोना की जांच जारी है. जबकि, सभी जिलों में सैंपल कलेक्शन की सुविधा उपलब्ध कराई जा चुकी है.

डॉ कुलकर्णी ने बताया कि सभी जिलों में आइसोलेशन वार्ड तैयार है. सभी जिलों को मास्क और किट समेत अन्य आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराए गए हैं.

गौरतलब है लॉक डाउन का पालन सुनिश्चित करने के लिए बुधवार से ही पुलिस ने शहर से लेकर गांवों तक में सख्ती शुरू कर दी है. जगह- जगह गाड़ियों के चालान काटे जा रहे हैं और लोगो की सरेराह पिटाई की तस्वीरें सामने आ रही है. 

इधर सारे काम बंद होने से दिहाड़ी मजदूरों तथा रेहड़ी लगाने वालों की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
सोशल मीडिया पर आपातकाल लगाने के संदेश फर्जी: सेना
 नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 29 हुई
नजाकत समझें और संभलें, भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 29 हुई
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
स्पाइसजेट का पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित, चालक दल हुए होम क्वारंटाइन
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था
'मन की बात' में बोले पीएम मोदी, असुविधा के लिए क्षमा, पर इसके बिना कोई रास्ता नहीं था
भारत में पांव पसारने लगा कोरोना वायरस, मरने वालों की संख्या 25, संक्रमितों की तादाद करीब 1000
भारत में पांव पसारने लगा कोरोना वायरस, मरने वालों की संख्या 25, संक्रमितों की तादाद करीब 1000
झारखंडः मदद में उतरी बीजेपी, गरीब और मजदूरों के बीच 'मोदी आहार' का वितरण शुरू
झारखंडः मदद में उतरी बीजेपी, गरीब और मजदूरों के बीच 'मोदी आहार' का वितरण शुरू
बचके रहिए, भारत में कोरोना वायरस के बढ़ने का सिलिसिला तेज, मरने वालों का आंकड़ा 19
बचके रहिए, भारत में कोरोना वायरस के बढ़ने का सिलिसिला तेज, मरने वालों का आंकड़ा 19
लॉक डाउन में नहीं आई बारात, दो सगी बहनों का ऑनलाइन निकाह
लॉक डाउन में नहीं आई बारात, दो सगी बहनों का ऑनलाइन निकाह
पहले देश, स्थिति सामान्य होने दें, फिर आईपीएल पर बात कर सकते हैं : रोहित
पहले देश, स्थिति सामान्य होने दें, फिर आईपीएल पर बात कर सकते हैं : रोहित
कोरोनाः नया टेस्ट विकसित, संक्रमण की पुष्टि सिर्फ ढाई घंटे में हो सकेगी
कोरोनाः नया टेस्ट विकसित, संक्रमण की पुष्टि सिर्फ ढाई घंटे में हो सकेगी

Stay Connected

Facebook Google twitter