जेवीएम ने हेमंत सरकार से समर्थन वापस लिया, प्रदीप यादव को विधायक दल के नेता पद से हटाया

जेवीएम ने हेमंत सरकार से समर्थन वापस लिया, प्रदीप यादव को विधायक दल के नेता पद से हटाया
Publicbol (File Photo)
पीबी ब्यूरो ,   Jan 24, 2020

झारखंड विकास मोर्चा ने हेमंत सरकार से समर्थव वापस ले लिया है. इसके साथ ही प्रदीप यादव को विधायक दल के नेता पद से हटा दिया गया है.

पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने हेमंत सोरेन को इस बारे में एक पत्र भेजा है. इसके साथ ही विधानसभा अध्यक्ष को भी पत्र भेजा गया है. 

हेमंत सोरेन को लिखे पत्र में समर्थव वापस लेने की वजह भी बताई है. जेवीएम प्रमुख ने कहा है कि यूपीए गठबंधन की कांग्रेस पार्टी दल के विधायकों को तोड़ कर अपने दल में शामिल करने की कोशिश कर रही है.

गौरतलब है कि गुरुवार की शाम प्रदीप यादव और बंधु तिर्की ने दिल्ली में कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाकात की थी. 

इससे पहले पार्टी ने प्रदीप यादव को विधायक दल का नेता बनाया था. तब प्रदीप यादव ने कहा था कि पार्टी ने उन्हें अहम जिम्मेदारी दी है. 

इसे भी पढ़ें: दुमकाः तीन इनामी नक्सली का सरेंडर, हथियार भी सौंपे

इस मुलाकात के बाद अटकलें तेज है कि दोनों विधायक कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं. इससे पहले 21 जनवरी को जेवीएम ने विधायक बंधु तिर्की को दल से निकाल दिया है. बंधु तिर्की पर आरोप है कि विधानसभा चुनाव में हटिया से पार्टी उम्मीदवार शोभा यादव के पक्ष में चुनाव प्रचार करने के बदले उन्होंने कांग्रेस के उम्मीदवार अजय शाहदेव के समर्थन में प्रचार किया. 

पार्टी ने बंधु तिर्की से जवाब तलब किया था. साथ ही 48 घंटे में जवाब मांगा था. समय पर जवाब नहीं दिए जाने की वजह से यह कार्रवाई की गई. हेमंत सरकार को जेवीएम ने बिना शर्त समर्थन दिया था. 

जेवीएम की इस कार्रवाई के साथ ही बेजीपे में विलय की संभावनाओं को और बल मिलने लगा है. अगर प्रदीप यादव और बंधु तिर्की कांग्रेस में शामिल होते हैं, तो बाबूलाल के लिए राह आसान हो जाएगी. उधर भी दोनों की सदस्यता को खतरा नहीं है. बाबूलाल की भी सदस्यता खतरे से बाहर जाती रहेगी. 

हालांकि प्रदीप यादव और बंधु तिर्की का कहना है कि हेमंत सरकार को उनका समर्थन जारी रहेगा. वैसे समर्थन वापस लेने के बाद भी अंकगमणित के लिहाज से सरकार की सेहत पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है.

जेएमएम- कांग्रेस- राजद ने 47 सीटों पर जीत दर्ज की है. 81 सदस्यीय विधानसभा में सरकार बनाने के लिए 41 विधायकों की जरूरत है. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

रांची में राष्ट्रपति ने कहा, बेटियों की सफलता काबिले तारीफ, शिक्षा का उद्देश्य हो अच्छा इंसान बनाना
रांची में राष्ट्रपति ने कहा, बेटियों की सफलता काबिले तारीफ, शिक्षा का उद्देश्य हो अच्छा इंसान बनाना
दिल्ली हिंसाः चौकसी जारी, जाफराबाद में हालात सुधर रहे, एसएन श्रीवास्तव बने नए पुलिस कमिश्नर
दिल्ली हिंसाः चौकसी जारी, जाफराबाद में हालात सुधर रहे, एसएन श्रीवास्तव बने नए पुलिस कमिश्नर
दिल्ली हिंसाः कांग्रेस ने राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा, कहा, सरकार नाकाम रही, निर्णायक कदम उठाएं
दिल्ली हिंसाः कांग्रेस ने राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा, कहा, सरकार नाकाम रही, निर्णायक कदम उठाएं
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 32 तक पहुंची, अमरीका और रूस ने जारी की एडवायजरी
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 32 तक पहुंची, अमरीका और रूस ने जारी की एडवायजरी
पिछली सरकार ने झारखंड को लूट का चारागाह बनाया, सब जांच कराएंगेः मंत्री बन्ना गुप्ता
पिछली सरकार ने झारखंड को लूट का चारागाह बनाया, सब जांच कराएंगेः मंत्री बन्ना गुप्ता
कांग्रेस के हाथ खून से सने हैं, सोनिया गांधी का गृह मंत्री से इस्तीफा मांगना हास्यास्पद: बीजेपी
कांग्रेस के हाथ खून से सने हैं, सोनिया गांधी का गृह मंत्री से इस्तीफा मांगना हास्यास्पद: बीजेपी
पीएम मोदी ने दिल्ली में शांति की अपील की, सोनिया ने अमित शाह से मांगा इस्तीफा
पीएम मोदी ने दिल्ली में शांति की अपील की, सोनिया ने अमित शाह से मांगा इस्तीफा
राज्य सभा चुनाव एक मौका होगा, जब झारखंड में बीजेपी-आजसू नए सिरे से करीब आ सकती है
राज्य सभा चुनाव एक मौका होगा, जब झारखंड में बीजेपी-आजसू नए सिरे से करीब आ सकती है
सिल्ली की बेटी बबीता चमकी 'खेलो इंडिया' में, तीरंदाजी में कांस्य पदक
सिल्ली की बेटी बबीता चमकी 'खेलो इंडिया' में, तीरंदाजी में कांस्य पदक
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 20 हुई, एनएसए ने संभाली कमान
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 20 हुई, एनएसए ने संभाली कमान

Stay Connected

Facebook Google twitter