सत्ता पर काबिज जेएमएम हुआ 41 साल का, हेमंत बोले, पूरे करेंगे हर चुनावी वादे

सत्ता पर काबिज जेएमएम हुआ 41 साल का, हेमंत बोले, पूरे करेंगे हर चुनावी वादे
पीबी ब्यूरो ,   Feb 03, 2020

सत्ता पर काबिज होने के साथ झारखंड की उपराजधानी दुमका में दो फरवरी की रात झारखंड मु्क्ति मोर्चा का 41 वां स्थापना दिवस मनाया गया. हेमंत सोरेन की अगुवाई में सरकार बनने पर नेता, कार्यकर्ता उत्साह में लबरेज दिखे. समारोह में जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि चुनाव के वक्त हमने कई वादे किए हैं, जिन्हें पूरे करेंगे.  

हेमंत सोरेन ने कहा, ''युवाओं को रोजगार, महिलाओं-बेटियों को सुरक्षा, बुजुर्गों को पेंशन और कर्मियों को उनका अधिकार देने का काम शुरू हो गया है. अभी हमारा बजट भी नहीं आया है, बजट आयेगा. सभी समस्याओं पर आपकी सरकार बड़ी तेजी से काम करेगी''.
 
उन्होंने कहा कि इस राज्य में 19 साल के दौरान कई सरकार आई- गई. लेकिन राज्य का भला नहीं हुआ. समस्या के निदान के लिए बड़ी तादाद में लोग हमसे मिल रहे हैं. लोगों की आकांक्षाएं और आशाएं हैं. कई मौके पर सहम भी जाता हूं कि इतने लोगों की आकांक्षाओं पर खरा उतरना है. लेकिन हर झारखंडी विश्वास रखें, आपने हमारे कंधे पर जो जिम्मेदारी दी, वह पूरी होगी. 

हेमंत सोरेन ने कहा कि पूर्व की सरकार ने खजाना खाली कर दिया. पिछली सरकार किसी की सुनती नहीं थी, लेकिन हमें काम करना है, सबका सुनना है, पहाड़ की तरह समस्याएं हैं, उसे खत्म करने की चुनौती है. 

केंद्र सरकार का रवैया ठीक नहीं 

इसे भी पढ़ें: अनंत कुमार हेगड़े का बयान, महात्मा गांधी का स्वाधीनता आंदोलन ड्रामा था, नेतृत्व नाराज

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि केंद्र सरकार सीएए कानून बनाकर उसे लागू कराने के लिए बाध्य कर रही है. लोग सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं. लोगों को डरा-धमका कर केंद्र सरकार कानून मानने के लिए मजबूर कर रही है. 
 
वहीं आदिवासियों को बचाने के लिए केंद्र सरकार के पास कोई योजना नहीं है. उन्होंने कहा कि हमने केंद्र से जनजातीय विश्वविद्यालय मांगा और दिया गया म्यूजियम. आदिवासियों को केंद्र की सरकार म्यूजियम में देखना चाहती है.

प्राकृतिक संसाधनों पर कैसे अपना अधिकार मिले, कैसे रोजगार मिले, कैसे अधिकारी बनें, कैसे गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिले, इसके लिए सरकार ने काम करना शुरू कर दिया है. लेकिन इसके लिए एक और लड़ाई लड़नी होगी. 

हेमंत सोरेन ने कहा, ''जिन्होंने वर्षों से झारखंड को लूटा है, राज्य छोड़ कर ऐसे लोग भाग रहे हैं या भागने की तैयारी कर रहे हैं. चुनौती को हमें अवसर में बदलना होगा. राज्य के खजाने पर पहला अधिकार राज्यवासियों का होगा. योजनाएं आपके पैसे से चलती हैं. सड़क, बिजली, पानी सब आपके पैसे से मिलता है. अधिकारियों का वेतन भी आपके पैसे से मिलता है. हमने कहा है कि पहले गरीब को पेंशन मिले, तब अधिकारी को वेतन मिलेगा''.

खतियान हो स्थानीयता का आधार

दुमका के गांधी मैदान में देर रात चल चले समारोह में पार्टी ने पार्टी मंच से विभिन्न मुद्दों को प्रस्ताव के तौर पर पारित कर सरकार के समक्ष रखा. 
 
इनमें एसपीटी व सीएनटी एक्ट को सख्ती से लागू करने, इसमें किये गये संशोधन को वापस लेने तथा रघुवर दास की सरकार में घोषित की गई स्थानीयता नीति को रद्द कर 1932 के खतियान के आधार पर नई स्थानीयता को परिभाषित करने की मांग की गई. 

इसके अलावा मदरसा बोर्ड के गठन तथा थर्ड और फोर्थ ग्रेड की नौकरियों में पूर्णतया स्थानीयों को देने का प्रस्ताव पारित किया गया. 

साथ गी नागरिकता संशोधन अधिनियम सीएए एवं एनआरसी को झारखंड में पूरी तरह खारिज करने का भी प्रस्ताव पास किया गया. वहीं झारखंड में पूर्णरूपेण नशाबंदी लागू करने की मांग की गई है.  

स्थापना दिवस समारोह में पार्टी प्रमुख शिबू सोरेन, सांसद विजय हांसदा, सरकार के मंत्री जगरनाथ महतो, हाजी हुुसैन अंसारी, विधायक स्टीफन मरांडी, नलिन सोरेन, विलियम मरांडी, लोबिन हेंब्रम के अलावा बसंत सोरेन, शशांक शेखर भोक्ता, विजय सिंह समेत कई नेता मौजूद थे. 

इससे पहले सुबह से ही अलग- अलग जिलों से गाजे-बाजे के साथ कार्यकर्ताओं का दुमका पहुंचना शुरू हो गया था. हेमंत सोरेन जब गांधी मैदान के लिए निकले, तो सड़कों पर कार्यकर्ताओं का हुजूम उमड़ पड़ा. 

इसे भी पढ़ें: झारखंड को मोदी सरकार की सौगात, रांची में बनेगा आदिवासी संग्रहालय


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

जामिया-न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी हिंसा: आरोप पत्र दाखिल, शरजील इमाम पर उकसाने का आरोप
जामिया-न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी हिंसा: आरोप पत्र दाखिल, शरजील इमाम पर उकसाने का आरोप
नीतीश कुमार ने बेटे की तरह रखा, लेकिन उनसे भारी वैचारिक मतभेद हैं- प्रशांत किशोर
नीतीश कुमार ने बेटे की तरह रखा, लेकिन उनसे भारी वैचारिक मतभेद हैं- प्रशांत किशोर
5 से 18 अप्रैल तक रांची में सेना भर्ती रैली का आयोजन
5 से 18 अप्रैल तक रांची में सेना भर्ती रैली का आयोजन
'साल 2014 से ही प्रयास कर रहा था, पर बाबूलाल ठहरे जिद्दी, अब जाकर माने'
'साल 2014 से ही प्रयास कर रहा था, पर बाबूलाल ठहरे जिद्दी, अब जाकर माने'
सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, महिलाओं को सेना में मिले स्थायी कमीशन और कमांड पोस्टिंग
सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, महिलाओं को सेना में मिले स्थायी कमीशन और कमांड पोस्टिंग
बेतला नेशनल पार्क : बाघिन को जंगली भैंसों ने घेर कर मार डाला, जांच-पड़ताल जारी
बेतला नेशनल पार्क : बाघिन को जंगली भैंसों ने घेर कर मार डाला, जांच-पड़ताल जारी
बाबूलाल मरांडी के कार्यकाल में 'मेनहर्ट' को लेकर हुई गड़बड़ी की भी जांच होगीः जेएमएम
बाबूलाल मरांडी के कार्यकाल में 'मेनहर्ट' को लेकर हुई गड़बड़ी की भी जांच होगीः जेएमएम
वाराणसी दौरे पर पीएम मोदी, कहा, देश सिर्फ सरकार से नहीं हर नागरिक के संस्कार से बनता है
वाराणसी दौरे पर पीएम मोदी, कहा, देश सिर्फ सरकार से नहीं हर नागरिक के संस्कार से बनता है
जामिया लाइब्रेरी में पुलिस की बर्बरता पर जारी वीडियो पर उठते सवाल
जामिया लाइब्रेरी में पुलिस की बर्बरता पर जारी वीडियो पर उठते सवाल
रांची में चमकीं राजस्थान की भावना जाट, राष्ट्रीय रिकॉर्ड के साथ ओलिंपिक का टिकट मिला
रांची में चमकीं राजस्थान की भावना जाट, राष्ट्रीय रिकॉर्ड के साथ ओलिंपिक का टिकट मिला

Stay Connected

Facebook Google twitter