चतरा में दखल और पलामू की अनदेखी से राजद में खदबदाहट, बीजेपी में जाएंगे जनार्दन पासवान

चतरा में दखल और पलामू की अनदेखी से राजद में खदबदाहट, बीजेपी में जाएंगे जनार्दन पासवान
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Mar 23, 2019

चतरा में दखल और पलामू की अनदेखी से झारखंड राजद में खदबहादट है. चतरा से पूर्व विधायक जनार्दन पासवान पार्टी छोड़ रहे हैं. वे जल्दी ही बीजेपी में शामिल हो सकते हैं.  

जनार्दन पासवान चतरा से दो बार विधायक रहे हैं. 2009 के चुनाव में उन्होंने झारखंड में सबसे अधिक वोटों से चुनाव जीता था. उनका कहना है कि पार्टी में पुराने और वफादार नेताओं- कार्यकर्ताओं का कोई सम्मान नहीं बचा है. 

इस बीच राजद की प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी के बीजेपी में शामिल होने की संभावना को लेकर अटकलों का दौर एक बार फिर तेज है.

हालांकि हाल ही में उन्होंने इन अटकलों को सिरे से खारिज किया था. उन्होंने बताया था कि वे अस्वस्थ चल रही हैं. और इस वजह से घर पर ही रह रही हैं. 

इस बीच शनिवार को सियासत और मीडिया के गलियारे में देर शाम तक यह चर्चा होती रही कि अन्नपूर्णा देवी और राजद के कई नेता दिल्ली रवाना हुए हैं. यह भी ठीक है कि उनका मोबाइल लगातार स्वीच ऑफ चल रहा है. 

इसे भी पढ़ें: कड़िया मुंडा की जगह अर्जुन मुंडा लड़ेंगे, जयंत, सुदर्शन को भी टिकट, रांची पर फैसला बाकी

लेकिन शाम में उनके घर पहुंचे एक निजी टीवी चैनल से अन्नपूर्णा देवी के पुत्र ने बातचीत की और कहा, ''मम्मी की तबीयत खराब है. अभी वो दवा खाकर आराम कर रही हैं. अस्वस्थ होने की वजह से ही उनका फोन स्वीच ऑफ रखा जा रहा है''. 

चर्चा को लेकर राजद नेता के पुत्र ने यह भी कहा कि चुनावों के साथ यह शब्द (चर्चा) तो जुड़ा ही रहता है. लेकिन मम्मी ने पहले ही इन चर्चा को सिरे से खारिज किया है. 

लेकिन राजद के अंदरखाने से जो खबरें मिल रही है उस मुताबिक पलामू, चतरा के कई नेता इस बात को लेकर भारी नाराज हैं कि गठबंधन के तहत पलामू की सीट कांग्रेस को दी जा रही है तथा चतरा में सुभाष यादव खुद को राजद के बड़े नेता के साथ चुनाव लड़ने के लिए फाइनल उम्मीदवार के तौर पर पेश कर रहे हैं. 

वैसे राजनीतिक गलियारे में सुभाष यादव को लालू प्रसाद का बहेदर करीबी माना जाता है. और चतरा में राजद से उनका चुनाव लड़ना भी तय माना जा रहा है. 

जनार्दन पासवान ने साफ संकेत दिए हैं कि चुनाव लड़ने वाला दावेदार दो टर्म के विधायक और जमीनी नेता की तौहीनी करे, तो पार्टी में रहकर क्या होगा. मान- सम्मान भी तो कुछ चीज है.

वे बीजेपी में कब शामिल होंगे, इस सवाल पर कहते हैं कि कोई जल्दीबाजी नहीं है.  

चतरा से राजद में एक नेता बलवंत कुमार जो स्थानीय हैं, चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं. बलवंत का टिकट कटने के बाद चतरा राजद में अलग ही गुस्सा फूट सकता है. इसलिए कि इस बार हर दल में चतरा से किसी स्थानीय उम्मीदवार को टिकट देने की बातें उछलती रही है. 

वैसे भी चतरा संसदीय क्षेत्र में राजद की पैठ अब गुजरे जमाने की बात हो गई है. सुभाष यादव अगर चुनाव लड़ें, तो उन्हें एक साथ कई मोर्चे पर चुनौतियों का सामना करना होगा. 

चतरा के अलावा लातेहार तथा पांकी में भी राजद की जमीन लगातार खिसकती चली गई है. सुभाष यादव कांग्रेस , झामुमो, झाविमो के साथ कितना तालमेल बैठा सकेंगे, यह परखा जाना भी बाकी है. फिर पलामू के नेता भी चतुराई के साथ उनसे मुंह मोड़ सकते हैं. 

उधर पलामू की सीट राजद के खाते में नहीं आने को लेकर प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी बेहद नाराज है. भले ही इसे वे जाहिर होने नहीं दे रहीं. दरअसल झारखंड में राजद की जो जमीन बची खुची है वह पलामू और कोडरमा में ही.

इसे भी पढ़ें: बीजेपी की पहली सूची का इशाराः क्या रामटहल और कड़िया मुंडा का टिकट भी खतरे में?

पलामू से राजद के दो पूर्व सांसद मनोज कुमार भुइंया और घुरन राम राम चुनाव लड़ने की तैयारी में जुटे हैं. जबकि गिरिनाथ सिंह, संजय कुमार सिंह यादव सरीखे नेता चुनाव चुनाव लड़ाने के लिए तैयार बैठे हैं. इन नेताओं का मानना है कि संसदीय चुनाव लड़ने से ही पलामू में पार्टी गियरअप हो जाती. 

लिहाजा विपक्षी खेमा से सीटों के औपचारिक एलान के बाद झारखंड राजद में कोई बड़ा विस्फोट हो जाए इससे इनकार भी नहीं किया जा रहा. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

रांची में राष्ट्रपति ने कहा, बेटियों की सफलता काबिले तारीफ, शिक्षा का उद्देश्य हो अच्छा इंसान बनाना
रांची में राष्ट्रपति ने कहा, बेटियों की सफलता काबिले तारीफ, शिक्षा का उद्देश्य हो अच्छा इंसान बनाना
दिल्ली हिंसाः चौकसी जारी, जाफराबाद में हालात सुधर रहे, एसएन श्रीवास्तव बने नए पुलिस कमिश्नर
दिल्ली हिंसाः चौकसी जारी, जाफराबाद में हालात सुधर रहे, एसएन श्रीवास्तव बने नए पुलिस कमिश्नर
दिल्ली हिंसाः कांग्रेस ने राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा, कहा, सरकार नाकाम रही, निर्णायक कदम उठाएं
दिल्ली हिंसाः कांग्रेस ने राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा, कहा, सरकार नाकाम रही, निर्णायक कदम उठाएं
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 32 तक पहुंची, अमरीका और रूस ने जारी की एडवायजरी
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 32 तक पहुंची, अमरीका और रूस ने जारी की एडवायजरी
पिछली सरकार ने झारखंड को लूट का चारागाह बनाया, सब जांच कराएंगेः मंत्री बन्ना गुप्ता
पिछली सरकार ने झारखंड को लूट का चारागाह बनाया, सब जांच कराएंगेः मंत्री बन्ना गुप्ता
कांग्रेस के हाथ खून से सने हैं, सोनिया गांधी का गृह मंत्री से इस्तीफा मांगना हास्यास्पद: बीजेपी
कांग्रेस के हाथ खून से सने हैं, सोनिया गांधी का गृह मंत्री से इस्तीफा मांगना हास्यास्पद: बीजेपी
पीएम मोदी ने दिल्ली में शांति की अपील की, सोनिया ने अमित शाह से मांगा इस्तीफा
पीएम मोदी ने दिल्ली में शांति की अपील की, सोनिया ने अमित शाह से मांगा इस्तीफा
राज्य सभा चुनाव एक मौका होगा, जब झारखंड में बीजेपी-आजसू नए सिरे से करीब आ सकती है
राज्य सभा चुनाव एक मौका होगा, जब झारखंड में बीजेपी-आजसू नए सिरे से करीब आ सकती है
सिल्ली की बेटी बबीता चमकी 'खेलो इंडिया' में, तीरंदाजी में कांस्य पदक
सिल्ली की बेटी बबीता चमकी 'खेलो इंडिया' में, तीरंदाजी में कांस्य पदक
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 20 हुई, एनएसए ने संभाली कमान
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 20 हुई, एनएसए ने संभाली कमान

Stay Connected

Facebook Google twitter