झारखंडः आखिरी चरण में मंत्री लुइस मरांडी, रणधीर और राज पालिवार की भी अग्नि परीक्षा

झारखंडः आखिरी चरण में मंत्री लुइस मरांडी, रणधीर और राज पालिवार की भी अग्नि परीक्षा
Publicbol (सबसे बाएं मंत्री राज पालिवार फिर लुइस मरांडी सीएम के साथ)
पीबी ब्यूरो ,   May 15, 2019

सातवें और आखिरी चरण में संताल परगना की तीन सीटों पर होने वाले चुनाव में बीजेपी सरकार के मंत्री रणधीर सिंह, डॉ लुइस मरांडी और राज पालिवार की भी अग्नि परीक्षा है. लोकसभा चुनाव के कुछ ही महीनों बाद झारखंड में विधानसभा का चुनाव है. जाहिर है यह विधानसभा चुनाव से पहले यह परखा जाना है कि सरकार में मंत्री रहते इन विधायकों की जमीनी पैठ कैसी है. 

वैसे भी मुख्यमंत्री की मोके पर बीजेपी के विधायक और मंत्रियों को आगाह कराते रहे हैं कि उनके विधानसभा में ज्यादा वोटों से पिछड़ने पर विधानसभा चुनाव में दावेदारी पर दिक्कत हो सकती है. 

इन तीनों मंत्रियों के सामने एंटी इनकंबैसी का खतरा है. लिहाजा वे संभालना चाहते हैं. 

लुइस मरांडी दुमका से विधायक हैं. और 2014 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने हेंमत सोरेन को हराया था. जाहिर है उन्हें जेएमएम की चुनौती का सामना करना है. रणधीर सिंह सारठ से जेवीएम के टिकट पर चुनाव जीते थे. चुनाव जीतने के बाद बीजेपी में शामिल हुए और मंत्री बने. सारठ भी दुमका लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा है. 

राज पालिवार ने मधुपुर में जेएमएम के हाजी हुसैन अंसारी को हराया था. राज पालिवार मधुपुर से पहले भी चुनाव जीते हैं. मधुपुर राजमहल संसदीय सीट का हिस्सा है. दुमका और राजमहल दोनों सीट पर जेएमएम को हराने के लिए बीजेपी ने कोई कसर नहीं छोड़ रखी है. अलबत्ता मुख्यमंत्री इस जिद पर कायम हैं कि जेएमएम को हराना है. वे खुद चुनावी मुहिम की कमान संभाल रहे हैं. सीएम की इस मुहिम में तीनों मंत्री भी भागीदार बने हैं. 

मुख्यमंत्री के साथ एक चुनावी सभा में मंत्री राज पालिवार (फोटो ट्विटर- रघुवर दास) 

इसे भी पढ़ें: 'गुरुजी' कभी कोयला घोटाला में नहीं फंसे, अनर्गल प्रचार कर रहे सीएम रघुवर दासः संजीव कुमार

सारठ में रणधीर सिंह ने जेएमएम के शशांक शेखर भोक्ता को चुनाव हराया था. शशांक झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष भी रहे हैं. लोकसभा चुनाव में ही उनके सामने मंत्री को पीछे छोड़ने की चुनौती है. हेमंत सोरेन ने हाजीर हुसैन अंसारी और शशांक शेखर भोक्ता से कहा भी है कि किसी हाल में पीछे नहीं छूटना है. 

कई मौके पर मंत्री रणधीर सिंह की कथित दबंगई को भी विपक्ष ने मुद्दा बनाकर उछाल दिया है. हाल ही में उन्होंने जिला परिषद की एक महिला प्रतिनिधि को सरेआम पीट दिया था. इसका असर भी देखा जा सकता है. 

सारठ और मधुपुर देवघर जिले में आता है. पंद्रह मई को देवघर में प्रधानमंत्री की चुनावी रैली से बीजेपी के इन दोनों मंत्रियों की उम्मीदें जगी है. वहीं नरेंद्र मोदी की रैली से चलने वाली हवा को रोकने के लिए जेवीएम और जेएमएम ने रणनीति तेज की है. दोनों दलों को बखूबी पता है कि मोदी की रैली के असर को समय रहते संभाला जाना चाहिए. 

उधर दुमका में शिबू सोरेन, हेमंत सोरेन और स्टीफन मरांडी की घेराबंदी को तोड़ने की चुनौती लुइस के सामने है. हालांकि जेएमएम के रणनीतिकार इससे इंकार नहीं करते कि दुमका विधानसभा क्षेत्र में शहरी वोटरों का एक अहम हिस्सा होने की वजह से बीजेपी लीड ले सकती है. इसके बाद भी जेएमएम के कार्यकर्ता मंत्री के प्रभाव को कम करने में जुटे हैं. 

दुमका के गावों में मंत्री लुइस के खिलाफ हवा चल सकती है. जबकि शहरी इलाके के वोटर भी परखने में जुटे हैं कि साढ़े चार सालों में मंत्री रहकर लुइस मरांडी ने कितना काम किया. और लोगों से कितने करीब रहीं. 

मंत्री रणधीर सिंह एक कार्यक्रम में 

राज पालिवार कहते हैं कि इस बार राजमहल और दुमका में बीजेपी की जीत होगी, इसमें संशय नहीं है. केंद्र और राज्य सरकार के कामकाज को लेकर वेलोग चुनाव में उतरे हैं. और विकास का मुद्दा ही असरदार सोबित होगा. 

जबकि हाजी हुसैन अंसारी कहते हैं कि बीजेपी वाले मुद्दों की बात चुनाव में करते नहीं. नरेंद्र मोदी का गुणगान और जेएमएम के खिलाफ अनर्गल प्रचार ही उनका सहारा है. हाजी हुसैन अंसारी का दावा है कि मंत्री हों या मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री इस बार संतल परगना में कोई प्रभाव काम करने वाला नहीं. आदिवासी, मुसलमान, किसान और मजदूर का अटूट समर्थन विपक्ष को मिलने जा रहा है. और बीजेपी को ये समीकरण ज्यादा परेशान कर रहे हैं. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

रांची में राष्ट्रपति ने कहा, बेटियों की सफलता काबिले तारीफ, शिक्षा का उद्देश्य हो अच्छा इंसान बनाना
रांची में राष्ट्रपति ने कहा, बेटियों की सफलता काबिले तारीफ, शिक्षा का उद्देश्य हो अच्छा इंसान बनाना
दिल्ली हिंसाः चौकसी जारी, जाफराबाद में हालात सुधर रहे, एसएन श्रीवास्तव बने नए पुलिस कमिश्नर
दिल्ली हिंसाः चौकसी जारी, जाफराबाद में हालात सुधर रहे, एसएन श्रीवास्तव बने नए पुलिस कमिश्नर
दिल्ली हिंसाः कांग्रेस ने राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा, कहा, सरकार नाकाम रही, निर्णायक कदम उठाएं
दिल्ली हिंसाः कांग्रेस ने राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा, कहा, सरकार नाकाम रही, निर्णायक कदम उठाएं
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 32 तक पहुंची, अमरीका और रूस ने जारी की एडवायजरी
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 32 तक पहुंची, अमरीका और रूस ने जारी की एडवायजरी
पिछली सरकार ने झारखंड को लूट का चारागाह बनाया, सब जांच कराएंगेः मंत्री बन्ना गुप्ता
पिछली सरकार ने झारखंड को लूट का चारागाह बनाया, सब जांच कराएंगेः मंत्री बन्ना गुप्ता
कांग्रेस के हाथ खून से सने हैं, सोनिया गांधी का गृह मंत्री से इस्तीफा मांगना हास्यास्पद: बीजेपी
कांग्रेस के हाथ खून से सने हैं, सोनिया गांधी का गृह मंत्री से इस्तीफा मांगना हास्यास्पद: बीजेपी
पीएम मोदी ने दिल्ली में शांति की अपील की, सोनिया ने अमित शाह से मांगा इस्तीफा
पीएम मोदी ने दिल्ली में शांति की अपील की, सोनिया ने अमित शाह से मांगा इस्तीफा
राज्य सभा चुनाव एक मौका होगा, जब झारखंड में बीजेपी-आजसू नए सिरे से करीब आ सकती है
राज्य सभा चुनाव एक मौका होगा, जब झारखंड में बीजेपी-आजसू नए सिरे से करीब आ सकती है
सिल्ली की बेटी बबीता चमकी 'खेलो इंडिया' में, तीरंदाजी में कांस्य पदक
सिल्ली की बेटी बबीता चमकी 'खेलो इंडिया' में, तीरंदाजी में कांस्य पदक
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 20 हुई, एनएसए ने संभाली कमान
दिल्ली हिंसाः मरने वालों की संख्या 20 हुई, एनएसए ने संभाली कमान

Stay Connected

Facebook Google twitter