झारखंड़ में विपक्ष ने खोला मोर्चा, 43 सीटों पर लड़ेगा जेेएमएम, कांग्रेस के हिस्से 31 और राजद को 7 सीटें

झारखंड़ में विपक्ष ने खोला मोर्चा, 43 सीटों पर लड़ेगा जेेएमएम, कांग्रेस के हिस्से 31 और राजद को 7 सीटें
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Nov 08, 2019

झारखंड विधानसभा चुनाव में जेएमएम 43 सीटों पर चुनाव लड़ेगा. गठबंधन के तहत कांग्रेस के हिस्से 31 सीटें आई है. जबकि राजद को सात सीटें दी गई है.

झारखंड विकास मोर्चा इस गठबंधन में शामिल नहीं है. जबकि लोकसभा चुनाव में जेवीएम ने भी साथ मिलकर चुनाव लड़ा था. 

आज झारखंड कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह, विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव और जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने साझा तौर पर प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी. 

हालांकि इस प्रेस कांफ्रेंस में राजद का कोई नेता मौजूद नहीं हुआ. जबकि कल रात गठबंधन के मसौदे पर बात करने के लिए तेजस्वी यादव हेमंत सोरेन से मिलने उनके आवास पर पहुंचे थे. माना जा रहा है कि राजद सात सीटें मिलने से नाराज है. लेकिन साथी दलों का दावा है कि राजद में कोई नाराजगी नहीं है. तीनों दलों का लक्ष्य बीजेपी को सत्ता से हटाना है. 

विपक्षी दलों के नेताओं ने बताया कि पहले चरण में सबसे ज्यादा 5 सीटों पर कांग्रेस चुनाव लड़ेगी. झारखंड मुक्ति मोर्चा 4 सीट पर और 4 सीट पर राष्ट्रीय जनता दल अपना प्रत्याशी देगा. बाकी सीटों पर फैसला जल्दी ही ले लिया जाएगा. पहले चरण में तीस नवंबर को 13 सीटों पर चुनाव होना है. इन तेरह सीटों के लिए बंटवारा कर लिया गया है. 

इसे भी पढ़ें: बीजेपी को सुदेश की रजामंदी का इंतजार, आजसू 16 से कम पर नहीं तैयार

पहले चरण में कौन कहां लड़ेगा

जेएमएमः गुमला, बिशुनपुर, लातेहार और गढ़वा

कांग्रेसः लोहरदगा, मनिका, पांकी, डालटंनगज, विश्रामपुर और भावनाथपुर

राजद – छत्तरपुर, हुसैनाबाद और चतरा. 

हेमंत के नेतृत्व में लड़ेगा विपक्ष

इससे पहले कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा है कि महागठबंधन हेमंत सोरेन के नेतृत्व में चुनाव लड़ेगा. महागठबंधन में सामिल दलों के बीच कोई भी दोस्ताना लड़ाई नहीं होगी. जो भी इस गठबंधन के खिलाफ चुनाव लड़ेगा, पार्टी उसके खिलाफ सीधी कार्रवाई करेगी.

झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि अभी हम तीन पार्टी मिल कर आपस में सीटों का बंटवारा कर रहे हैं, लेकिन अन्य दलों के भी गठबंधन में साथ आने के लिए  दरवाजे खुले हैं. ऐसे में हम तीनों पार्टियों को मिली सीटों की संख्या घट भी सकती हैं. राजद के मन में भी कुछ सवाल हैं, जो हम आपस में बैठ कर सुलझा लेंगे. अभी भी गठबंधन में बहुत सी बातें विचाराधीन हैं जो समय के साथ सुलझा ली जाएंगी, वहीं उन्होंने कहा कि राजद सुप्रीमो जेल में हैं और उनके साथ आतंकवादी जैसा व्यवहार किया जा रहा है.

राजद के हिस्से जो सात सीटें आई है उनमें देवघर, चतरा, छतरपुर, गोड्डा, हुसैनाबाद, कोडरमा, और बरकट्ठा शामिल है. जबकि जेएमएम को उसके कब्जे की 19 सीटें और कांग्रेस की आठ सीटें पर भी सहमति बन गई है. यानी जिस दल के पास जो सीटें हैं उस पर वही दल के उम्मीदवार होंगे. 

इस बीच राजद नेता तेजस्वी यादव अपने पिता लालू प्रसाद से मिलने रिम्‍स पहुंचे. पिता लालू प्रसाद यादव से लगभग डेढ़ घंटे की मुलाकात के बाद तेजस्वी यादव ने रिम्स परिसर में मीडिया से संक्षिप्त बातचीत में कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष को सारी बातें बता दी है, फैसला वही लेंगे.

उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा को हराना और अधिक से अधिक सीटें जीतना हमारा मकसद है. सीटों के मामले में बड़े दल भी अपने कैडर को संतुष्ट नहीं कर सकते. महागठबंधन में शामिल विपक्षी दलों के संयुक्त प्रेस कांफ्रेस में नहीं जाने के सवाल पर उन्होंने कहा, प्रेस कॉन्फ्रेंस देर शाम में प्रस्तावित था. कल उनका जन्म दिन है, लिहाजा पिता का आशीर्वाद लेने चले आए. 

इसे भी पढ़ें: बीजेपी छोड़ जेएमएम में शामिल हुए समीर मोहंती, क्या बहरागोड़ा में कुणाल षाड़ंगी की नींद उड़ाएंगे


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

डीएसपी देविंदर सिंह को चुप कराने के लिए एनआईए के हवाले किए गया केसः राहुल गांधी
डीएसपी देविंदर सिंह को चुप कराने के लिए एनआईए के हवाले किए गया केसः राहुल गांधी
इसरो की एक और उपलब्धि, जीसैट 30 उपग्रह का सफल प्रक्षेपण
इसरो की एक और उपलब्धि, जीसैट 30 उपग्रह का सफल प्रक्षेपण
13 साल का सिलसिला, सिमडेगा के एक गांव में श्रमदान कर सड़क बना रहे ग्रामीण
13 साल का सिलसिला, सिमडेगा के एक गांव में श्रमदान कर सड़क बना रहे ग्रामीण
बीसीसीआई की केंद्रीय अनुबंध सूची से बाहर हुए धोनी, भविष्य को लेकर अटकलें तेज
बीसीसीआई की केंद्रीय अनुबंध सूची से बाहर हुए धोनी, भविष्य को लेकर अटकलें तेज
विवाद के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने इंदिरा गांधी की गैंगस्टर से मुलाकात वाली टिप्पणी वापस ली
विवाद के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने इंदिरा गांधी की गैंगस्टर से मुलाकात वाली टिप्पणी वापस ली
चंदे में चुनावी बॉन्ड से सबसे अधिक बीजेपी को मिले 1450 करोड़ रुपएः एडीआर रिपोर्ट
चंदे में चुनावी बॉन्ड से सबसे अधिक बीजेपी को मिले 1450 करोड़ रुपएः एडीआर रिपोर्ट
यादेंः खेत-खलिहान, संघर्ष के मैदान, जनता के अरमान में जिंदा हैं कॉमरेड महेंद्र
यादेंः खेत-खलिहान, संघर्ष के मैदान, जनता के अरमान में जिंदा हैं कॉमरेड महेंद्र
उत्कृष्ट प्रेम दर्शन, विनयशीलता, निश्छलता का प्रतीक 'टुसू' के रंगों में रचा-बसा मन
उत्कृष्ट प्रेम दर्शन, विनयशीलता, निश्छलता का प्रतीक 'टुसू' के रंगों में रचा-बसा मन
अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधान हटाना ‘ऐतिहासिक कदम’ : सेना प्रमुख
अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधान हटाना ‘ऐतिहासिक कदम’ : सेना प्रमुख
स्थानीयता को लेकर खतियान के चक्कर में ही कुर्सी गंवा चुके हैं बाबूलाल मरांडीः निशिकांत दुबे
स्थानीयता को लेकर खतियान के चक्कर में ही कुर्सी गंवा चुके हैं बाबूलाल मरांडीः निशिकांत दुबे

Stay Connected

Facebook Google twitter