बीजेपी के नेता पहुंचे राजभवन, बताया, स्पीकर सरकार के इशारे पर बाबूलाल को नेता प्रतिपक्ष नहीं बना रहे

बीजेपी के नेता पहुंचे राजभवन, बताया, स्पीकर सरकार के इशारे पर बाबूलाल को नेता प्रतिपक्ष नहीं बना रहे
Twitter-Jharkhand Bjp
पीबी ब्यूरो ,   Aug 07, 2020

झारखंड में बीजेपी के नेताओं ने राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से मिलकर बाबूलाल मरांडी को अब तक झारखंड विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष का दर्जा नहीं दिए जाने के मामले में हस्तक्षेप करने का आग्रह किया है.

बीजेपी ने राज्यपाल को बताया है कि सरकार के इशारे पर विधानसभा के अध्यक्ष नेता प्रतिपक्ष के मामले को अब तक लटकाए रखे हैं. 

आज बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सह राज्यसभा के सांसद दीपक प्रकाश के साथ प्रदेश के महामंत्री आदित्य प्रसाद साहू और प्रदीव वर्मा ने राज्यपाल से मिलकर इस बाबत एक मांग पत्र सौपते हुए मौजूदा स्थिति की जानकारी दी.

दीपक प्रकाश ने राज्यपाल को बताया कि 24 फरवरी को बाबूलाल मरांडी बीजेपी में विधायक दल के नेता चुने गए थे. उसी दिन उसी दिन बीजेपी की तरफ से विधानसभा को विधायक दल का नेता चुने जाने संबंधी प्रक्रिया से अवगत कराया गया. साथ ही नेता प्रतिपक्ष के तौर पर मान्यता देने की मांग की गई थी. 

इस दौरान चुनाव आयोग ने जेवीएम के बीजेपी में विलय को मंजूरी दी और चुनाव आयोग के कहने पर ही बाबूलाल मरांडी को राज्यसभा में बीजेपी के वोटरों की सूची में शामिल किया गया.

इसे भी पढ़ें: हजारीबाग में छात्रा को एसिड पिलाने के मामले में जांच से हाईकोर्ट असंतुष्ट, एसपी और आईओ तलब

दीपक प्रकाश ने बताया कि हमने राज्यपाल से कहा है कि बीजेपी के 26 विधायक हैं. और विधायक दल की बैठक में बाबूलाल को नेता चुना गया है. नेता प्रतिपक्ष के लिए वे सबी अहर्ता पूरी करते हैं. इसके बाद भी स्पीकर ने इस मामले में अब तक कोई फैसला नहीं लिया है. 

विधानसभा का बजट सत्र भी बिना नेता प्रतिपक्ष के चलाया गया. दीपक प्रकाश कहते हैं कि चुनाव आयोग के बार- बार पत्र से जेवीएम का बीजेपी में विलय को लेकर कोई संशय बाकी नहीं है.

जाहिर है नैतिकता तथा लोकतांत्रिक मर्यादा के तहत स्पीकर को तत्काल बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष के तौर पर मान्यता दी जानी चाहिए. 

दीपक प्रकाश कहते हैं कि सरकार नहीं चाहती कि झारखंड में नेता प्रतिपक्ष रहें. मुख्यमत्री हेमंत सोरेन की इस बाबत पूर्व में आई प्रतिक्रिया भी सरकार की मंशा जाहिर करती है. 

इधर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और मंत्र रामेश्वर उरांव ने सरकार और स्पीकर का बचाव करते हुए कहा है कि बीजेपी को पिछले पन्ने को उलट कर देखना चाहिए. बीजेपी इतनी जल्दीबाजी में क्यों है.

मामला स्पीकर के पास है. और उन्होंने तो विधानसभा के अंदर बाहर कहा ही है कि वे इसे देखेंगे. समय पर स्पीकर फैसला लेंगे. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

सुप्रीम कोर्ट का सिविल सेवा परीक्षा 2020 स्थगित करने से इंकार
सुप्रीम कोर्ट का सिविल सेवा परीक्षा 2020 स्थगित करने से इंकार
हाथरस गैंग रेप और पीड़िता की मौतः पीएम मोदी ने की मुख्यमंत्री से बात, योगी ने एसआईटी बैठाई
हाथरस गैंग रेप और पीड़िता की मौतः पीएम मोदी ने की मुख्यमंत्री से बात, योगी ने एसआईटी बैठाई
तारीखों में जानिएः अयोध्या में बाबरी मस्जिद विध्वंस से संबंधित पूरा घटनाक्रम
तारीखों में जानिएः अयोध्या में बाबरी मस्जिद विध्वंस से संबंधित पूरा घटनाक्रम
हाथरस गैंगरेपः अक्षय कुमार बोले, इतनी क्रूरता, दोषियों को फांसी पर लटका देना चाहिए
हाथरस गैंगरेपः अक्षय कुमार बोले, इतनी क्रूरता, दोषियों को फांसी पर लटका देना चाहिए
विपक्ष का एक ही काम, जाने-समझे बिना किसी भी मसले पर विरोध करो: पीएम मोदी
विपक्ष का एक ही काम, जाने-समझे बिना किसी भी मसले पर विरोध करो: पीएम मोदी
कृषि विधेयक किसानों के लिए मौत की सजा हैं: राहुल गांधी
कृषि विधेयक किसानों के लिए मौत की सजा हैं: राहुल गांधी
पप्पू यादव ने बनाया प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन, कहा, 30 साल के महापाप को खत्म करना है
पप्पू यादव ने बनाया प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन, कहा, 30 साल के महापाप को खत्म करना है
लवली आनंद ने राजद का दामन थामा, बोलीं, नीतीश सरकार ने धोखा दिया है
लवली आनंद ने राजद का दामन थामा, बोलीं, नीतीश सरकार ने धोखा दिया है
मत विभाजन की मांग के वक्त सांसद शिवा सीट पर थे, पर सदन का ऑर्डर में होना महत्वपूर्णः हरिवंश
मत विभाजन की मांग के वक्त सांसद शिवा सीट पर थे, पर सदन का ऑर्डर में होना महत्वपूर्णः हरिवंश
क्या विधायक प्रदीप यादव की धार खत्म कर रही है कांग्रेस?
क्या विधायक प्रदीप यादव की धार खत्म कर रही है कांग्रेस?

Stay Connected

Facebook Google twitter