जदयू ने झारखंड में संताल परगना की 5 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा की

जदयू ने झारखंड में संताल परगना की 5 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा की
Publicbol
पीबी ब्यूरो ,   Oct 06, 2019

बिहार में सत्तारूढ़ नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जदयू) झारखंड में अकेले चुनाव लड़ने की तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटा है. इसी सिलसिले में आज संतालपरगना की पांच सीटों पर उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की गई. पूर्व सांसद तथा जदयू के प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने दुमका में प्रेस कांफ्रेस कर इसकी जानकारी दी. सालखन सोरेन खुद शिकारापाड़ा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे. 

उन्होंने बताया कि प्रो सुजीत कुमार सोरेन को जामा से, प्रो ईश्वर मरांडी को महेशपुर से, लूकस हांसदा को बोरियो से, और मार्शल ऋषिराज टुडू को दुमका से जदयू का प्रत्याशी बनाया जाएगा. प्रेस कांफ्रेस में ये चारों लोग उपस्थित थे. 

सालखन मुर्मू ने कहा कि झारखंड में पार्टी सभी 81 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र है. लेकिन हम उन सीटों पर ही चुनाव लड़ेंगे, जहां मजबूत दावेदारी है और पार्टी की जमीनी पैठ रही है. 

प्रेस कांफ्रेस में सालखन मुर्मू ने झारखंड में सत्तारूढ़ बीजेपी और प्रमुख विपक्षी दल जेएमएम को भी आड़े हाथ लिया. उन्होंने कहा कि झारखंड की सरकार खुद को डबल इंजन वाली विकास की सरकार कहती है, जबकि असल में यह डबल इंजन वाली विनाश की पार्टी है. इसका काम है जल, जंगल, जमीन और जीवन को बर्बाद करना और झारखंड की खनिज संपदा को लूटकर उद्योगपतियों को सौंपना. आदिवासियों और मूलवासियों को उजाड़ना.

सालखन मुर्मू ने कहा कि शिबू सोरेन ने 40 साल तक आदिवासियों के सबसे ज्यादा वोट लिए. जबकि उन्होंने ही आदिवासियों के साथ सबसे ज्यादा धोखा किया है. उन्हें लोगों को बताना चाहिए कि आदिवासियों के लिए अब तक क्या काम किए. सोरेन परिवार ने सीएनटी-एसपीटी एक्ट का उल्लंघन किया. सरना कोड नहीं बनाया. झारखंड की अपनी स्थानीय नीति की बात करते थे. लेकिन, जब सत्ता में आये तो स्थानीय नीति नहीं बनायी. झामुमो ने सत्ता में आने के बाद पंचायतों को सशक्त नहीं बनाया.

इसे भी पढ़ें: 11 महीने बाद विधायक ढुल्लू महतो और पूर्व सांसद रवींद्र पांडेय पर दर्ज हुआ यौन शोषण का एफआईआर

गौरतलब है कि इससे पहले चार अक्तूबर को जदयू ने नौ उम्मीदवारों के नामों की सूची जारी की थी. इनमें कोल्हान में मझगांव से सलखान मुर्मू, जमशेदपुर पश्चिम से संजीव आचार्य, जमशेदपुर पूर्वी से संजय ठाकुर, घाटशिला में डॉ अमित कुमार सिंह, पोटका में विश्वनाथ सिंह सरदार, बहरागोड़ा में बबलू दास, खरसावां में कुमार सिंह बानरा, गुमला एजे एक्का व तमाड़ से मानकी सुनील सिंह मुंडा प्रत्याशी बनाए गए हैं.

हांलाकि इन नामों की घोषणा के साथ ही प्रदेश अध्यक्ष का पार्टी के अंदर ही विरोध हो चुका है. 


(आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोकप्रिय

राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
राहुल गांधी की बात कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी नहीं सुनतेः रविशंकर प्रसाद
कोरोना तेरे कारणः 124 वर्षों में पहली बार रद्द की गई बोस्टन मैराथन
कोरोना तेरे कारणः 124 वर्षों में पहली बार रद्द की गई बोस्टन मैराथन
मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: देश के नाम चिट्ठी में पीएम बोले- हमें अपने पैरों पर खड़ा होना होगा
मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे: देश के नाम चिट्ठी में पीएम बोले- हमें अपने पैरों पर खड़ा होना होगा
झारखंडः 3 लाख 58 हजार लोग अब तक वापस लौटे, प्रवासी मजदूरों का डेटाबेस तैयार करा रही सरकार
झारखंडः 3 लाख 58 हजार लोग अब तक वापस लौटे, प्रवासी मजदूरों का डेटाबेस तैयार करा रही सरकार
ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दी मंदिर-मस्जिद खोलने की इजाजत
ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दी मंदिर-मस्जिद खोलने की इजाजत
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी का निधन
छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी का निधन
चीन के साथ ताजा सीमा विवाद को लेकर नरेंद्र मोदी का मूड अच्छा नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप
चीन के साथ ताजा सीमा विवाद को लेकर नरेंद्र मोदी का मूड अच्छा नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप
लॉकडाउन के बाद गेंदबाजों के लिए लय हासिल करना मुश्किल होगा : ब्रेट ली
लॉकडाउन के बाद गेंदबाजों के लिए लय हासिल करना मुश्किल होगा : ब्रेट ली
शिक्षा मंत्री पहले अपने काम और कद को समझें, बाहर कुछ कहते हैं अंदर कुछः चंद्रप्रकाश चौधरी
शिक्षा मंत्री पहले अपने काम और कद को समझें, बाहर कुछ कहते हैं अंदर कुछः चंद्रप्रकाश चौधरी
रांचीः क्वारंटाइन में रहने के बाद गांधीनगर अस्पताल के डॉक्टर, नर्स ने फिर संभाला मोर्चा
रांचीः क्वारंटाइन में रहने के बाद गांधीनगर अस्पताल के डॉक्टर, नर्स ने फिर संभाला मोर्चा

Stay Connected

Facebook Google twitter